21 साल का यह प्लेयर बड़े स्टेज तक पहुंचने की अपनी क्षमता दिखा चुका है।

गोवा प्रो-लीग (जीपीएल) में एफसी गोवा के लिए कई बार हेडलाइन में आ चुके सेरि​नियो फर्नांडिस का नाम अब काफी पॉपुलर हो चुका है। इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में खेलने वाली टीम की डेवलेपमेंटल साइड के लिए खेलने वाले इस यंग लेफ्ट-बैक ने पिछले तीन सीजन में अपने बेहतरीन प्रदर्शन से सबको प्रभावित किया है।

क्लब के लिए शुरुआत से ही सेरि​नियो फर्नांडिस का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है, लेकिन पिछले साल बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर उन्होंने संतोष ट्रॉफी के लिए गोवा की टीम में जगह हासिल की थी।

स्काउटिंग रिपोर्ट

उम्र- 21 साल

डेट ऑफ बर्थ- 2 फरवरी 1999

पोजिशन- लेफ्ट बैक

हाइट- 168 सेंटीमीटर

बैकग्राउंड

सेरि​नियो फर्नांडिस ने 2013 में अंडर-14 डिवीजन में बेनौलिम के क्लब यंग स्ट्राइकर्स के साथ अपने फुटबॉल करियर की शुरुआत की और वह एक सीजन बाद ही सल्गाओकर और फिर स्पोर्टिंग क्लब डे गोवा से जुड़े। बेहतरीन प्रदर्शन के कारण उन्हें नई बने क्लब एफसी बार्देज जाने का मौका मिला। यहीं उन्होंने 2016 में गोवा प्रो-लीग में डेब्यू किया और फिर एक सीजन के बाद लोन पर डेंपो एससी जाकर अंडर-18 आई-लीग खेला।

इसके बाद, उन्हें एफसी गोवा ने पिक किया और उन्होंने 2017-18 सीजन में फतेह हैदराबाद एएफसी के खिलाफ आई-लीग सेकेंड डिवीजन डेब्यू किया। कुछ मुकाबलों में एक सब्स्टिट्यूट के तौर पर आने के बाद एएफसी केरला के खिलाफ उन्हें स्टार्टिंग-11 में शामिल किया गया और फिर उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। सेरि​नियो फर्नांडिस ने 2018-19 सीजन में क्लब को पहला जीपीएल खिताब जिताने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी।

वह पिछले साल हुए डुरंड कप में चेन्नई सिटी एफसी के खिलाफ मिली 2-1 की जीत में एफसी गोवा की स्टार्टिंग लाइनअप में शामिल हुए और रियल कश्मीर के खिलाफ भी खेले। साल के अंत में उन्होंने गोवा पुलिस कप में टीम को ​खिताब तक पहुंचाया।

सेरि​नियो फर्नांडिस ने आई-लीग के सेकेंड डिविजन में भी अपने इस शानदार प्रदर्शन को जारी रखा। उन्होंने मुंबई सिटी एफसी के खिलाफ गोल किया जबकि केरला ब्लास्टर्स और एफसी बेंगलुरू यूनाइटेड जैसी ​टीमों के खिलाफ असिस्ट भी दिए। वह पिछले सीजन जीपीएल में चर्चिल ब्रदर्स को 4-1 से मात देने वाली टीम का भी हिस्सा थे।

पॉजिटिव

सेरि​नियो फर्नांडिस अपने एरिया में हमेशा एलर्ट रहते हैं और किसी भी खतरे से अपने गोलकीपर को बचाने के लिए तैयार रहते हैं। लेफ्ट-बैक को दमदार हेडर लगाने, क्लीन टैकल करने और सटीक पास देने के लिए जाना जाता है। वह विपक्षी खिलाड़ियों को सही तरीके से मार्क करना जानते हैं जिससे कि उनकी टीम पर अटैक का खतरा कम रहे।

दूसरी ओर वह डिफेंसिव हॉफ में मिडफील्डर्स के लिए भी एक ऑप्शन के तौर पर मौजूद रहते हैं। अपनी पेस और ड्रिबलिंग के साथ ही वह फ्लैंक्स पर तेज दौड़ लगा सकते हैं और विपक्षी डिफेंडर्स को मुसीबत में डाल सकते हैं।

कहां है इम्प्रूवमेंट की जरूरत और क्या है भविष्य

पिछले तीन सालों में क्लिफर्ड मिरांडा के अंडर खेल रहे इस खिलाड़ी में सुधार की गुंजाइश की बात करें तो वह अब सीनियर साइड में जाने के हकदार हैं, लेकिन फर्स्ट-इलेवन में जगह बनाने के लिए उन्हें कड़ी मेहनत करनी होगी। युवा खिलाड़ी को अपनी क्रॉसिंग पर अभी काम करने की जरूरत है। इसके अलावा, वह गेंद को लंबे समय तक अपने पास होल्ड करते हैं, इसकी जगह उन्हें तेजी से गेंद रिलीज करना सीखना होगा।

सेरि​नियो फर्नांडिस कई बार अपने स्टेट के जेसल कार्निएरो के जैसे ही लगते हैं। डिफेंडिंग की उनकी क्षमता और पेस को देखें तो ऐसा कहा जा सकता है कि गोवा को आने वाले दिनों में कार्निएरो जैसा एक और डिफेंडर सेरि​नियो के रूप में मिलने वाला है।