मिडफील्डर ने इंडियन फुटबॉल टीम की कैप्टेंसी करने पर अपने विचार रखे।

इंडियन फुटबॉल टीम और चेन्नईयन एफसी के लिए खेलने वाले युवा मिडफील्डर अनिरुद्ध थापा ने रेड एफएम बेंगलुरु के इंस्टाग्राम हैंडल पर लाइव आकर फैंस के साथ बातचीत की। उनके लिए इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) का पिछला सीजन काफी अच्छा रहा था जहां उनकी टीम ने एकदम से अपना खेल बदला था और लीग के रनर-अप रहे थे। वह भारतीय टीम के अहम सदस्य हैं और तमाम लोगों का मानना है कि वह नेशनल टीम का भविष्य भी हैं।

भारतीय टीम की कैप्टेंसी करने के विषय पर अनिरुद्ध थापा ने कहा, “जब भी लोग आपकी तारीफ करते हैं तो यह एक अच्छी चीज होती है। यह भविष्य की बात है और मैं इसके लिए कुछ प्रिडिक्ट नहीं करना चाहता क्योंकि मुझे वर्तमान पर फोकस करके कड़ी मेहनत जारी रखनी है। मुझे पता है कि टीम में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो कैप्टेंसी करने की क्षमता रखते हैं। इन उम्मीदों को सच में बदलने के लिए मुझे दोगुनी मेहनत करनी होगी।”

“नेशनल टीम का कैप्टन बनना किसी के लिए भी आसान चीज नहीं है। टीम में कई अनुभवी और टैलेंटेड प्लेयर्स हैं। हमारे कैप्टन सुनील छेत्री के लेवल पर पहुंचने के लिए मुझे 10 गुना और अधिक मेहनत करनी होगी। उन्होंने जो भी किया है उसके लिए काफी मेहनत की जरूरत होती है।”

अनिरुद्ध थापा ने खेलते समय मैदान में अपने गुस्से को कंट्रोल करने के बारे में भी बात की और कहा कि आमतौर पर मैदान में वह गुस्सा नहीं होते हैं और अपने गुस्से को कंट्रोल में रखते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जब खिलाड़ी गुस्सा करता है तो मैदान पर उसका खेल प्रभावित होता है।

उन्होंने एक घटना को याद करते हुए कहा, “2017 में हम बेंगलुरु एफसी के खिलाफ खेल रहे थे। एक फाउल हुआ और मैंने हरमनजोत खाबरा को पुश करना शुरु कर दिया। मैच खत्म होने के बाद अभिषेक बच्चन मेरे पास आए और उन्होंने मुझसे कहा कि क्या तुम पागल हो गए हो? मैंने उन्हें बताया कि मैं बस उनका ध्यान भटका रहा था।”

थापा के साथ कई बेहतरीन प्लेयर्स खेलते हैं और उन्होंने खुलासा किया है कि वह यूजेन्सन लिंगदोह और राउलिन बोर्जेस से काफी प्रेरणा लेते हैं।
उन्होंने कहा, “उनके पास फुटबॉल खेलने का बेहतरीन स्टाल और अच्छा सेंस है। मैं यूरोपियन फुटबॉल के वीडियो देखकर टॉप प्लेयर्स से सीखने की कोशिश करता हूं। मैं लूका मॉड्रिच को काफी पसंद करता हूं।”

उनकी टीम चेन्नईयन एफसी को पिछले सीजन आईएसएल के फाइनल में एटीके के खिलाफ करारी हार झेलनी पड़ी थ।