यूरोप की बेहतरीन टीमें खिताबी जीतने की कोशिश करेंगी।

क्लब फुटबॉल का सीजन खत्म हो चुका है और जल्द ही यूएफा यूरो 2020 फुटबॉल जगत की सुर्खियों में जगह बनाने वाला है। यूरोप की बेहतरीन टीमों के इस टूर्नामेंट का आगाज जून में होगा और जुलाई तक दर्शक इसका लुत्फ उठाएंगे। कोरोना के चलते इस टूर्नामेंट को थोड़ी देरी हुई, जिसके चलते फैंस को इसका इंतजार करना पड़ा और अब शायद उनकी बेसब्री और भी ज्यादा बढ़ गई होगी।

टूर्नामेंट में टॉप क्लास प्लेयर्स तो देखने को मिलेंगे ही, साथ ही साथ ट्रॉफी जीतने वाली टीम को फीफा कनफेडरेशन कप का सीधा टिकट भी मिलेगा। यूएफा यूरो कप एक ऐसा टूर्नामेंट है, जिसका एक भी मुकाबला शायद ही कोई मिस करना चाहेगा। टूर्नामेंट के आगाज के साथ ही बेहतरीन मुकाबलों का भी आगाज होगा और टीमें राउंड ऑफ-16 में पहुंचने के लिए मशक्कत करते दिखेंगी।

हालांकि फिर भी ऐसे कुछ महा मुकाबलों पर सभी की नजर रहेगी, जिनमें दिग्गज टीमें और उनके बेहतरीन खिलाड़ी मैदान पर उतरेंगे। इनमें टक्कर अगले राउंड में पहुंचने की तो होगी ही, लेकिन मुकाबला ग्रुप में टॉप पर बने रहने को लेकर भी होगा। खेल नाओ ऐसे ही टॉप पांच मुकाबलों के बारे में आपको बता रहा है, जो यूएफा यूरो 2020 के सबसे महत्वपूर्ण और दमदार मुकाबले होंगे।

5. इंग्लैंड बनाम क्रोशिया- 13 जून 2021

इंग्लैंड और क्रोशिया, दोनों ही टीमें इस टाइटल की अहम दावेदारों में से एक हैं और टूर्नामेंट का अपना पहला मुकाबला एक-दूसरे के खिलाफ खेलेंगी। माना जा रहा है कि ये दोनों ही टीमें नॉकआउट्स के लिए क्वालिफाई कर लेंगी, लेकिन टूर्नामेंट का ये ओपनिंग मुकाबला ये तय करने में अहम भूमिका निभाएगा कि ग्रुप में पहले पायदान पर कौन रहेगा। दरअसल अगर ग्रुप स्टेज में कोई टीम टॉप पर होती है तो उसे राउंड ऑफ-16 में आमतौर पर कमजोर विरोधी टीम का मुकाबला करना होता है।

4. स्पेन बनाम पोलैंड- 20 जून 2021

ग्रुप ई में से नॉकआउट राउंड में क्वालिफाई करने वाले अहम दावेदारों में स्पेन और पोलैंड का नाम सबसे पहले आता है, क्योंकि वो इस ग्रुप की दो सबसे मजबूत टीमें हैं। हालांकि इन दोनों टीमों में खुद को बेहतर साबित कर नॉकआउट राउंड में पहुंचने की होड़ 20 जून को जरूर देखने को मिलेगी, जो कि इस मुकाबले को कहीं ज्यादा रोचक बना देगी।

3. फ्रांस बनाम जर्मनी- 16 जून 2021

यूरो 2020 में ग्रुप एफ को ‘ग्रुप ऑफ डेथ’ माना जा रहा है, क्योंकि इसमें फ्रांस, जर्मनी, पुर्तगाल और हंगरी जैसी दिग्गज टीमें हैं। ऐसे में इस ग्रुप की सबसे कमजोर टीम हंगरी को माना जा रहा है, लेकिन टॉप दो पोजिशनों के लिए बाकी की तीन टीमें पूरी टक्कर देंगी और दर्शकों को बेहतरीन मुकाबले देखने को मिलेंगे। ऐसा ही एक मुकाबला होगा 16 जून को दो दिग्गज- फ्रांस और जर्मनी का।

2. पुर्तगाल बनाम जर्मनी- 19 जून 2021

इस टूर्नामेंट का ऐसा एक और मुकाबलो, जो शायद ही कोई मिस करना चाहेगा, वो होगा 19 जून को जब ग्रुप एफ की दो दिग्गज टीमें पुर्तगाल और जर्मनी आपस में भिड़ेंगी। फिलहाल पुर्तगाल मौजूदा चैंपियन है और जर्मनी के खिलाफ अहम मुकाबले को हरगिज भी गंवाना नहीं चाहेगा। इस मुकाबले में एक और अहम बात ये है कि दोनों ही टीमों से फुटबॉल जगत के सुपरस्टार मैदान पर उतरेंगे, जिनमें रोनाल्डो और टोनी क्रूश जैसे दिग्गज शामिल हैं।

1. पुर्तगाल बनाम फ्रांस- 24 जून 2021

यूरो 2016 के फाइनल में पुर्तगाल और फ्रांस की टक्कर हुई थी और ये मुकाबला कड़ी टक्कर का रहा था। ऐसे में ये दोनों देश अपनी पुरानी दुश्मनी के चलते एक-दूसरे के खिलाफ जीतने में पूरा दमखम लगाते हुए दिखेंगे। ये मुकाबला इसलिए भी अहम है क्योंकि फ्रांस मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन हैं और पुर्तगाल मौजूदा यूरोपियन चैंपियन। ऐसे में जब दो चैंपियन आपस में भिड़ेंगे तो इस मुकाबले को शायद ही कोई मिस करना चाहेगा।