चार वर्षों में एक बार खेला जाने वाला यह टूर्नामेंट पहली बार नवंबर-दिसंबर के महीने में आयोजित होगा।

कतर में 2022 में होने वाले फीफा वर्ल्ड कप का ऑफिशियल शेड्यूल जारी हो चुका है। वर्ल्ड कप की शुरुआत 21 नवंबर से होगी। यह पहला मौका है जब मिडिल ईस्ट में फुटबॉल के महाकुंभ का आयोजन हो रहा है। टूर्नामेंट का पहला मैच अल बायत स्टेडियम में खेला जाएगा तो वहीं फाइनल मैच 18 दिसंबर को लुसेल स्टेडियम में खेला जाएगा।

यह अंतिम वर्ल्ड कप है जिसमें 32 टीमें हिस्सा लेंगी। अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको की संयुक्त मेजबानी में होने वाले 2026 वर्ल्ड कप में 48 देश हिस्सा लेंगे। 28 दिनों के इस टूर्नामेंट में 32 टीमों को ग्रुप में बांटा जाएगा जहां हर टीम 4 मैच खेलेगी। जानिए उन स्टेडियम के बारे में जहां यह मैच खेले जाएंगे:

5. अल जानोब स्टेडियम, अल थुमामा स्टेडियम, रास अबू अबोउद स्टेडियम, अल रेयान स्टेडियम

एक रेगिस्तान के किनारे पर स्थित, अल रेयान स्टेडियम एक मल्टी-पर्पस एरेना है जिसकी जहां लगभग 40,000 लोग एक साथ इवेंट का मजा ले सकते हैं। अल थुमामा स्टेडियम भी शानदार हैं और इसमें अरेबिक हेडवियर का इस्तेमाल भी किया गया है।

अल जनोब स्टेडियम वर्ल्ड कप के लिए पूरी तरह तैयार पहला स्टेडियम है। इस स्टेडियम में अल दुहैल और अल-सद्द के बीच हुए अमीर कप फाइनल खेला गया था। यह मैच बार्सिलोना स्टार खिलाड़ी जावि हर्नान्डेज के शानदार करियर का आखिरी मैच था। रास अबू अबोउद स्टेडियम नई तकनीकों से बनाया गया है। इसमें शिपिंग कंटेनरों, हटाने जाने वाली सीटे होंगी। यह वर्ल्ड कप के इतिहास का पहला स्टेडियम है जिसका फिर से इस्तेमाल किया जा सकेगा।

4. एजुकेशन सिटी स्टेडियम

वर्ल्ड कप के लिए चुने गए बाकी स्टेडियमों की तरह एजुकेशन सिटी स्टेडियम भी काफी सुंदर जगह बनाया गया है। टूर्नामेंट के मैचों की मेजबानी के लिए पूरी तरह तैयार यह तीसरा स्टेडियम है। जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है कि स्टेडियम बेहतरीन और बड़ी यूनिर्वसिटी से घिरा हुआ है। यहां की दर्शक क्षमता फिलहाल लगभग 45,350 है लेकिन वर्ल्ड कप के बाद इसका आधा हिस्सा कम हो जाएगा। स्टेडियम में लगी सीटों को उन विकासशील देशों को दान किया जाएगा जहां बुनियादी ढांचे की कमी है।

3. खलीफा इंटरनेशनल स्टेडियम

कतर नेशनल फुटबॉल टीम के घरेलू मैदान को साल 1976 में अल रायन में बनाया गया था। साल 2017 में इसे रेनोवेट किया गया जिसके बाद अब इसकी दर्शक क्षमता 45,416 है। यह कतर के खेलों के इतिहास की नजर से काफी महत्तवूर्ण स्टेडियम है। इसी जगह कतर ने एशियन गेम्स, गल्फ कप और एएफसी कप जैसे बड़े टूर्नामेंटों की मेजबानी की है। पिछले साल हुए फीफा क्लब वर्ल्ड कप के दौरान यहां पांच मैच हुए थे जिसमें लिवरपूल और फ्लेमिंगो के बीच खेला गया फाइनल मुकाबला भी शामिल है। 2022 वर्ल्ड कप का तीसरे स्थान का प्लेऑफ मैच 17 दिसंबर 2022 को यहां खेला जाएगा।

2. अल बायत स्टेडियम

अल खोर शहर में बसा अल बायत स्टेडियम वर्ल्ड कप के पहले मुकाबले की मेजबानी करने वाला है। इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता लगभग 60 हजार है और टूर्नामेंट की मेजबानी करने वाला दूसरा सबसे बड़ा स्टेडियम है। अभी तक यह पूरी तरह तैयार नहीं है लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि यह दुनिया के सबसे बड़े और खूबसूरत स्टेडियम का हिस्सा होगा। इसके कंस्ट्रक्शन में देश के इतिहास को दर्शाने की कोशिश की गई है साथ ही नई तकनीकों का भी इस्तेमाल किया गया है जो विदेशों से आने वालों लोगों के लिए टूरिस्ट स्पॉट का काम भी करेगा।

1. लुसेल स्टेडियम

लुसेल सिटी देश की राजधानी दोहा के पास एक शहर है। यहीं पर स्थित है लुसेल स्टेडियम जहां वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। दर्शक क्षमता के हिसाब से यह सबसे बड़ा स्टेडियम है जहां लगभग 80 हजार लोग एक साथ मैच का लुत्फ ले सकेंगे। हालांकि, अब तक यह पूरी तरह तैयार नहीं हो पाया है। यह स्टेडियम कतर में खेलों के लिए बढ़ची रूची को दिखाएगा। वर्ल्ड कप के खत्म हो जाने के बाद इस स्टेडियम की सीटों को भी दान किया जाएगा। वहीं इस जगह को कॉम्यूनिटी स्पेस में बदला जा सकता है जो देश का टूरिस्ट स्पॉट बनेगा।