कोलकाता बेस्ड टीम ने 22 वर्षीय प्लेयर को आगामी सीजन के लिए साइन किया है।

एटीके मोहन बगान ने इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के अगले सीजन के लिए अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। उन्होंने युवा प्लेयर लिस्टन कोलासो को साइन किया है। पिछले सीजन कोलासो ने हैदराबाद एफसी के लिए शानदार प्रदर्शन किया था और इस बार एटीके मोहन बगान ने उन्हें लगभग एक करोड़ की ट्रांसफर फीस में साइन किया है।

इससे पहले क्लब ने मनवीर सिंह को 80 लाख की रकम में साइन किया था। कोलासो के आने से निश्चित तौर पर टीम को मजबूती मिलेगी।

लिस्टन कोलासो अभी तक अपने पीक पर नहीं हैं लेकिन इसके बावजूद भारत के बेहतरीन युवा फुटबॉलर्स में शामिल हो गए हैं। एटीके मोहन बगान को उनसे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी। हालांकि, इतनी बड़ी ट्रांसफर फीस के बावजूद स्टार्टिंग इलेवन में उनकी जगह आटोमेटिक नहीं बनती है।

हम आपको वो पांच कारण बताते हैं कि क्यों एटीके मोहन बगान ने लिस्टन कोलासो को साइन करके सही फैसला लिया है।

5. एफसी गोवा के प्लेयर्स का एटीके मोहन बगान में बेहतरीन रिकॉर्ड

हाल के सालों में एटीके मोहन बगान ने एफसी गोवा के कई खिलाड़ियों को साइन किया है। पिछले साल मानवीर सिंह को उन्होंने साइन किया था। इसके बाद इस साल विंटर ट्रांसफर के दौरान ग्लेन मार्टिन्स को लेनी रॉड्रिगेज से स्वैप किया था।

लिस्टन कोलासो के लिए अच्छी बात ये है कि एफसी गोवा के खिलाड़ियों का परफॉर्मेंस एंटोनियो हबास की टीम में अच्छा रहा है। मानवीर सिंह ने पिछले सीजन छह गोल किए थे और तीन असिस्ट दिए थे। लेनी ने भी दूसरे हाफ में एटीके मोहन बगान के लिए अच्छा प्रदर्शन किया था। टीम के लिए जिन छह मैचों में उन्होंने खेला उसमें से टीम को चार में जीत मिली और सिर्फ एक मैच में हार का सामना करना पड़ा।

मानवीर सिंह की वजह से ही एटीके मोहन बगान आखिर तक टाइटल की रेस में बनी रही। लिस्टन के लिए ये एक अच्छा संकेत है क्यूंकि वह पहले गोवा का ही हिस्सा थे।

4. टीम के अंदर प्रतिस्पर्धा

एटीके मोहन बगान की टीम में हर पोजिशन के लिए काफी प्रतिस्पर्धा है। राइट विंग रोल में भी कोलासो को मानवीर सिंह की चुनौती का सामना करना पड़ेगा। इसकी वजह ये है कि मानवीर का परफॉर्मेंस पिछले सीजन काफी अच्छा रहा था।

उनके अलावा माइकल सूसाईराज और प्रबीर दास से भी लिस्टन कोलासो को टीम में जगह बनाने के लिए कड़ी चुनौती मिल सकती है। एटीके मोहन बगान और भी कई विदेशी प्लेयर्स को साइन करेगी और इससे कंपटीशन और बढ़ेगा। स्टार्टिंग इलेवन में जगह बनाने के लिए कोलासो को अपना बेहतरीन खेल दिखाना होगा।

3. लिस्टन कोलासो के खेल में लगातार सुधार

लिस्टन ने ग्रासरूट लेवल से शुरूआत करते हुए धीरे-धीरे फुटबॉल में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। 2016/17 के अंडर-18 आई-लीग सीजन में उन्होंने गोवा की सलगावोकर एफसी के लिए शानदार प्रदर्शन किया था और टीम के लिए सबसे ज्यादा गोल किए थे।

इसके बाद 2016/17 के गोवा प्रोफेशनल लीग में भी वो अपनी टीम की तरफ से सबसे ज्याद गोल करने वाले खिलाड़ी रहे। उसी साल संतोष ट्रॉफी में भी उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा। टूर्नामेंट में कई गोल करते हुए उन्होंने गोवा को फाइनल में पहुंचाया। 2017 में उन्होंने एफसी गोवा टीम को ज्वॉइन किया और शुरूआत में उनकी रिजर्व टीम के लिए खेला।

एफसी गोवा रिजर्व के लिए उन्होंने 12 मैचों में आठ गोल किए थे। इसके बाद कोलासो को फर्स्ट टीम में शामिल किया गया। गोवा में ज्यादातर उन्हें सब्सीट्यूट के तौर पर यूज किया गया और पिछले साल हैदराबाद एफसी ने उन्हें अपनी टीम में शामिल कर लिया। हैदराबाद के लिए उन्होंने 19 मुकाबलों में दो गोल किए और तीन असिस्ट दिए।

2. प्राइस टैग का प्रेशर

एटीके मोहन बगान द्वारा एक करोड़ में साइन किए जाने के बाद लिस्टन कोलासो आईएसएल इतिहास के सबसे महंगे प्लेयर्स में से एक बन गए हैं। जब किसी प्लेयर के ऊपर प्राइस टैग का दबाव आ जाता है तो उसके परफॉर्मेंस पर असर पड़ने लगता है।

कई खिलाड़ी अभी तक ऐसे रहे हैं जो प्राइस टैग के दबाव में बिखर गए। हालांकि, इन सबसे अलग मनवीर सबकी उम्मीदों पर खरे उतरे। ऐसे में कोलासो को काफी कड़ी मेहनत करनी होगी।

उन्हें अपने ऊपर प्राइस टैग का दबाव नहीं ले सकते हैं। उम्मीदों का भार देखते हुए उन्हें अपने खेलने के स्टाइल में बदलाव नहीं करना चाहिए।

1. सुपर सब रोल

एटीके मोहन बगान में कई दिग्गज खिलाड़ियों के होने की वजह से कोलासो को शायद हर मैच की स्टार्टिंग इलेवन में मौका नहीं मिलेगा। हालांकि एक सब्सीट्यूट के तौर पर उन्होने कई बार बेहतरीन प्रदर्शन किया है। वो अपने खेल से डिफेंडर्स को छका सकते हैं।

एंटोनियो हबास की टीम में पिछले सीजन बेहतरीन सब्सीट्यूट खिलाड़ी की कमी खली थी। अब उनके पास लिस्टन कोलासो जैसा प्लेयर है जो अपने अटैक से विरोधी टीम पर दबाव डाल सकता है। पिछले सीजन असिस्ट के तौर पर कोलासो ने दो गोल और दो असिस्ट दिए थे।

ये बात तो तय है कि लिस्टन को एटीके मोहन बगान ने लॉन्ग टर्म के लिए साइन किया है। अपने डेब्यू सीजन में टीम को उनसे काफी उम्मीदें रहेंगी। जितना ज्यादा वो अपने खेल में सुधार लाएंगे उतना ही एटीको मोहन बगान को फायदा होगा।

लिस्टन कोलासो अभी तक पूरी तरह से अपने पीक पर नहीं हैं। ऐसे में जब अगले कुछ सालों में वो अपने पीक पर होंगे तो टीम को काफी सफलता दिलाएंगे। फाइनल थर्ड में जितना ज्यादा वो बेहतर डिसीजन लेंगे उतना ही उनका फिनिशिंग बेहतर होगा। एटीके मोहन बगान के लिए लिस्टन लंबे समय तक खेल सकते हैं।