दोनों टीमों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली।

एफसी गोवा ने शनिवार को बोम्बोलिम के एथलेटिक स्टेडियम में खेले गए अपने पांचवें राउंड के मैच में बेंगलुरू एफसी को 2-1 से हराकर हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के आठवें सीजन की अंक तालिका में तीन स्थान की छलांग लगाई है। यह गोवा की लगातार दूसरी जीत है।

एफसी गोवा के खाते में पांच मैचों से छह अंक हो गए हैं। वह सातवें स्थान पर है। लगातार तीन हार के बाद यह गोवा की शानदार वापसी है जबकि बेंगलुरू को इस सीजन की चौथी हार मिली है। उसके खाते में चार अंक हैं और 11 टीमों की तालिका में 10वें स्थान पर है। पहले हाफ की बात की जाए तो क्लीटन सिल्वा द्वारा 45वें मिनट में किए गए बराबरी के गोल से पहले तक बेंगलुरू एफसी अपने ही एक खिलाड़ी द्वारा किए गए आत्मघाती गोल के कारण स्कोरलाइन में पीछे चल रहा था।

सिल्वा के इस गोल ने स्कोर 1-1 कर दिया और इसी के साथ पहला हाफ समाप्त हुआ। मैच का पहल गोल बेंगलुरू एफसी के ही आशिक कुरुनियन ने 16वें मिनट में किया था। पहला हाफ खेल के लिहाज से रोचक रहा। दोनों टीमों के बीच जोरदार टक्कर हुई। गोवा ने जहां शुरुआत में अपना दमखम दिखाया वहीं बेंगलुरू ने इस हाफ के उत्तरार्ध में अपना जलवा बिखेरा।

यह हाफ कप्तान सुनील छेत्री के लिए अच्छा नही रहा क्योंकि वह एक बेहद करीबी और आसान मौका चूक गए। यह गोल अगर हो गया होता तो वह हीरो आईएसएल में संयुक्त रूप से सबसे अधिक गोल करने वाले खिलाड़ी बन गए होते। छेत्री द्वारा गंवाए गए इस मौके के अलावा कोई टीम बड़ा मौका नहीं बना सकी। दोनों के बीच मिडफील्ड में प्रतिस्पर्धा चलती रही लेकिन क्लीटन ने 45वें मिनट में एक मैजिक मोमेंट पैदा करते हुए फ्रीकिक पर पोस्ट के टाप कार्नर में गेंद घुसा दी।

इस हाफ में कई फाउल हुए। रेफरी प्रांजल बनर्जी काफी व्यस्त रहे। हालांकि इस हाफ में सिर्फ दो येलो कार्ड दिखाए गए। 13वें मिनट में गोवा के ग्लेन मार्टिन्स बुक किए गए जबकि 32वें मिनट में बेंगलुरू के रौशन सिंह नोरेम बुक हुए। नोरेम को हालांकि 46वें मिनट में बाहर कर दिया गया। पराग श्रीवास ने उनकी जगह ली। इसी मिनट में बेंगलुरू ने जयेश राणे को बाहर कर प्रिंस इबारा को अंदर लिया।

इबारा ने आते ही 50वें मिनट में एक अच्छा मौका बनाया और गेंद लेकर बाक्स में पहुंचे। वहां जाकर उन्होंने ब्रूनो सिल्वा को गेंद थमाई लेकिन वह बाहर मार बैठे। 52वें मिनट में गोवा के गोलकीपर के खिलाफ फाउल करने पर बेंगलुरू के दानिश फारुक को पीला कार्ड मिला। इसी तरहल 57वें मिनट में इबारा बुक किए गए। 64वें मिनट में आशिक का एक प्रयास गोवा के गोलकीपर द्वारा नाकाम किया गया।

इसके एक मिनट बाद ही इबारा के पास एफसी गोवा को आगे करने का बेहतरीन मौका था लेकिन बेंगलुरू के गोलकीपर धीरज ने एक टाप क्वालिटी सेव किया। 68वें मिनट में ब्रूनो को पीला कार्ड मिला।

70वें मिनट में गोल कर देवेंद्र मुरगांवकर ने गोवा को 2-1 से आगे कर दिया। गोवा ने 72वें और 79वें मिनट में दो-दो बदलाव किए। इसमें गोलस्कोरर देवेंद्र भी शामिल थे। मोहम्मद नेमिल ने उनकी जगह ली। 85वें मिनट में बेंगलुरू के सुरेश वांगजाम को दूसरा पीला कार्ड मिला, जो रेड कार्ड में कन्वर्ट हुआ।

अब बेंगलुरू एफसी 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रही थी। गोवा के पास अपनी बढ़त को मजबूत करने का मौका था। गोवा की टीम हालांकि इस मौके का फायदा नहीं उठा सकी लेकिन बावजूद इसके वह एक गोल के अंतर से पूरे तीन अंक हासिल करने में सफल रही।