इनमें से कुछ गोलकीपर्स को खेल का जीनियस माना जाता है।

फुटबॉल पिच पर मैनुयल नौयर से लेकर पीटर स्माइकल तक कई गोलकीपर्स ने अच्छा नाम कमाया है क्योंकि ये पिच पर मौजूद ऐसे खिलाड़ी होते हैं जिनके बारे में प्रिडिक्शन कर पाना मुश्किल होता है। गोलकीपर्स जहां ज्यदातर अपने हाफ में मौजूद रहते हैं और गोल बचाने का काम करते हैं तो वहीं कई बार आप उन्हें मैच के अंतिम लम्हों में गोल दागने की कोशिश करते भी देख सकते हैं।

कुछ लोग इस बात से आश्चर्यचकित हो सकते हैं कि कई गोलकीपर्स ऐसे भी रहे हैं जिन्होंने अपने करियर में इतने गोल दागे हैं कि वे किसी आउटफील्ड प्लेयर से टक्कर ले सकते हैं। आइए एक नजर डालते हैं अब तक सबसे ज़्यादा गोल दागने वाले पांच गोलकीपर्स पर:

5. जॉनी वेगास फर्नांडीज – 39 गोल

पेरू के पूर्व इंटरनेशनल गोलकीपर जॉनी वेगास फर्नांडीज ने अपने दो दशक लंबे करियर में 39 गोल दागे हैं। पेनल्टी किक पर गोल दागने की उनकी क्षमता ने उन्हें पेरू के हर उस क्लब का अहम हिस्सा बनाया जिसके लिए वह अपने करियर के दौरान खेले थे। गोलकीपर ने अपने करियर के 30 गोल पेनल्टी किक के रूप में दागे तो वहीं नौ गोल उन्होंने ओपन प्ले के दौरान किए थे।

4. रेने हिग्विता- 41 गोल

रेने हिग्विता की एक चीज जो फुटबॉल फैंस को काफी याद आती है वो है इंग्लैंड के खिलाफ उनके द्वारा किया गया स्कॉर्पियन सेव। इस सेव का वीडियो खूब वायरल है। हालांकि, इस प्लेयर ने अपने करियर में उस सेव के अलावा भी काफी कुछ किया है। कोलंबियन गोलकीपर ने स्वीपर कीपर स्टाइल को खूब चर्चित किया और आज के समय में मैनुअल नौयर और मार्क आंद्रे टेर स्टेगन जैसे गोलकीपर्स भी इस स्टाइल को अपनाते हैं।

3. दिमितर इवांकोव- 42 गोल

इस लिस्ट में तीसरा स्थान बुल्गारिया के पूर्व गोलकीपर दिमितर इवांकोव को मिला है। उन्होंने अपने पूरे करियर के दौरान कई बार अहम मौकों पर गोल दागा और अपनी अहमियत का एहसास दिलाया। बुल्गारियन लीग टाइटल को तीन बार और नेशनल कप को पांच बार जीतने वाले इवांकोव को उनके देश में काफी चाहा जाता है। उन्होंने अपने करियर में तुर्किश लीग और तुर्किश कप टाइटल भी जीता है। 42 गोल दागकर उन्होंने अपने सभी क्लबों को बताया कि वह उनके लिए कितने अहम थे।

2. होजे लुईस चिलावर्ट – 67 गोल

90 के दशक के आखिर और 2000 के शुरुआत में होजे विश्व के सबसे बेहतरीन गोलकीपर्स में से एक माने जाते थे। पराग्वे का यह प्लेयर अपनी कला और लीडरशिप की क्षमता के लिए जाना जाता था। होजे ने अपने करियर में 12 लीग टाइटल जीते और तीन बार उन्हें विश्व का सबसे बेहतरीन गोलकीपर वोट किया गया था। उन्हें 1998 फीफा वर्ल्डकप की टीम ऑफ द टूर्नामेंट में भी शामिल किया गया था।

सेट पीस पर उनका टैलेंट कमाल का था और उन्हें क्लब और कंट्री के लिए कुल 67 गोल दागे जिसमें एक हैट्रिक भी शामिल है। वह हैट्रिक दागने वाले दुनिया के दो में एक गोलकीपर हैं।

1.रोजेरियो सेनी- 131 गोल

ब्राजीलियन गोलकीपर रोजेरियो सेनी ने अपने करियर में 131 गोल दागे और उनका करियर 2015 में समाप्त हुआ था। 2002 फीफा वर्ल्डकप और 1997 कंफेडरेशन कप जीतने वाले इस खिलाड़ी ने गोल दागने वाले गोलकीपर्स के मामले में अपने नाम कई अदभुत रिकॉर्ड्स दर्ज किए हैं। क्लब लेवल पर काफी सफल रहने वाले सेनी ने साओ पाउलो के साथ 20 टाइटल जीते हैं जिसमें 2005 में लिवरपूल को फाइनल में हराकर जीता गया क्लब वर्ल्डकप भी शामिल है।

सेट पीस पर गोल दागने में निरंतरता रखने के कारण उन्हें अपने क्लब में एक दशक तक फ्री-किक स्पेशलिस्ट का दर्जा मिला हुआ था। सबसे ज़्यादा गोल दागने वाले गोलकीपर होने के साथ ही वह सबसे ज़्यादा पांच बार मैच में दो गोल दागने वाले गोलकीपर भी हैं।