खिलाड़ियों ने शहीद भारतीय जवानों को ऋद्धांजली भी दी।

इंडियन फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया और क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली समेत भारत के अन्य खिलाड़ियों ने लद्दाख के गलवान घाटी में चीन द्वारा भारतीय सैनिकों पर किए गए हमले की निंदा की और शहीद जवानों को ऋद्धांजली अर्पित की।

चीनी सैनिकों के साथ गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए हैं। सेना ने बयान जारी कर इसकी पुष्टि की है, तो वहीं चीन के 40 से ज्यादा सैनिकों के हताहत होने की भी आशंका है।

बाईचुंग भूटिया ने हमले के सुनियोजित होने की आशंका जताई। उन्होंने ट्वीट किया, “चीन ने कुछ सप्ताह पहले ही अपने सभी नागरिकों को भारत छोड़ने के लिए कहा था। मैं समझता हूं कि सीमा पर हमारे सैनिकों की हत्या करने का प्लान पहले ही बना लिया गया था। हम चीन के इस करतूत की कड़ी निंदा करते हैं। भारतीय सरकार को कड़ा कदम उठाना चाहिए और चीन के आगे झुकना नहीं चाहिए।”

फुटबॉल टीम के मौजूदा कप्तान सुनील छेत्री ने भी इस घटना पर शोक जताया और उम्मीद की कि इस मामले को जल्द ही शांती से सुलझा लिया जाए। सुनील छेत्री ने ट्वीट किया, “इस मुद्दे को टेबल पर बैठकर सुलझाने की कोशिश करें। हमें जल्दी काम करना होगा ताकि सैनिकों की शहादत व्यर्थ न जाए और सैनिकों को शहीद होने की जरूरत न पड़े। मैं उम्मीद करता हूं कि जिन परिवारों ने अपने सदस्य को खोया वे हिम्मत से काम लेंगे।”

इंडियन क्रिकेट टीम के कैप्टन विराट कोहली ने सीमा पर जवानों के शहीद होने पर दुख जताया है उन्हें ऋद्धांजली अर्पित की। कोहली ने कहा, “जिन जवानों ने देश की रक्षा के लिए गलवान घाटी में अपनी जान गंवा दी, उनको सैल्यूट और उनके प्रति मेरा सम्मान। एक जवान से ज्यादा बहादुर और स्वार्थहीन कोई नहीं होता है। उनके परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। उम्मीद करता हूं कि इस मुश्किल समय में हमारी प्रार्थना से उन्हें कुछ शांति मिलेगी।”

लिमिटेड ओवर में टीम इंडिया के उप-कप्तान रोहित शर्मा ने ट्विटर पर लिखा, “हमारे असली हीरो जो हमारी रक्षा के लिए बॉर्डर पर अपनी जान गंवा देते हैं, उनको सलाम। भगवान उनके परिवारों को शांति दे।” उनके साथी खिलाड़ी शिखर धवन ने भी घटना पर शोक जताया और लिखा, “इनके बदिलान को हम कभी नहीं भूलेंगे। सैनिकों के परिवार के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गालवान घाटी में हुई इस घटना पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार को एक सर्वदलीय बैठक भी बुलाई है।