पिछले सीजन 17 वर्षीय डिफेंडर ने कुल तीन मैच खेले थे।

जमशेदपुर एफसी के लिए इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) का पिछला सीजन अच्छा नहीं रहा, लेकिन एंटोनियो इरिओन्दो ने एकेडमी के यंग प्लेयर्स को बड़े स्टेज पर अपना टैलेंट दिखाने का बखूबी मौका दिया। ऐसे ही एक प्लेयर थे यंग डिफेंडर संदीप मांडी।

एटीके के खिलाफ उनका डेब्यू कुछ खास नहीं रहा, लेकिन इससे उन्होंने बहुत कुछ सीखा। टाटा फुटबॉल एकेडमी (टीफए) से निकले खिलाड़ी ने बीते सीजन तीन मैच खेले और पिच पर करीब 257 मिनट बिताए।

स्काउटिंग रिपोर्ट

उम्र- 17 साल

डेट ऑफ बर्थ- 11 जून 2002

पोजिशन- लेफ्ट बैक/सेंटर बैक

आईएसएल डेब्यू

संदीप मांडी ने जेआरडी टाटा स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में एटीके के​ खिलाफ इस साल दो फरवरी को हुए मैच में अपना आईएसएल डेब्यू किया। मैच में मेजबान टीम का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और उसे 3-0 से करारी हार झेलनी पड़ी। इसके बाद, मुंबई सिटी एफसी और नॉर्थईस्ट यूनाइटेड के खिलाफ भी इरिओन्दो ने युवा डिफेंडर को मौका दिया।

पॉजिटिव

​पश्चिम बंगाल से ताल्लुक रखने वाले संदीप मांडी का परिवार भी लंबे समय से फुटबॉल से जुड़ा हुआ है। उनके पिता सुंदर मांडी कई वर्षों तक रेलवे के लिए खेले और उनके अंकल सरगम मांडी ने तो मोहन बागान तक का सफर तय किया। हालांकि, दोनों का करियर कुछ खास बड़ा नहीं रहा।

यंग डिफेंडर संदीप मांडी ने कल्याणी म्युनिसिपल फुटबॉल एकेडमी में फुटबॉल सीखने की शुरुआत की और फिर उन्हें पश्चिम बंगाल की जूनियर टीम में भी जगह मिल गई। अपने राज्य के लिए शानदार प्रदर्शन करने का फल उन्हें मिला और वह इंडिया की अंडर-14 और अंडर-16 टीम के लिए भी खेले। इसी दौरान उन्हें टाटा फुटबॉल एकेडमी ने स्काउट​ किया।

वह टीएफए के लिए पिछले साल हुए वेदांता यूथ कप में खेले और उनकी टीम टूर्नामेंट में तीसरे स्थान पर रही। इसके अलावा, उन्हें टूर्नामेंट का बेस्ट डिफेंडर चुना गया। टीएफए में शानदार प्रदर्शन करने के साथ ही वह जमशेदपुर एफसी की रिर्जव टीम का भी अहम हिस्सा थे और आईएसएल में डेब्यू करने से पहले पिछले सीजन आई-लीग सेकेंड डिविजन में चार मैच भी खेले।

मजबूत फिजिकल बिल्डअप और अच्छी डिफेंसिव स्किल्स संदीप मांडी को बीते सीजन एकेडमी से निकलने वाले टॉप टैलेंटेड प्लेयर्स में से एक बनाता है। आईएसएल में उनका पहला सीजन भले ही ज्यादा अच्छा न रहा हो, लेकिन उनकी उम्र को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि उनके पास अभी सीखने का बहुत समय है।

कहां इम्प्रूवमेंट की जरूरत है

जूनियर लेवल पर संदीप मांडी ने अच्छा प्रदर्शन किया है और इरिओन्दो उनसे प्रभावित भी हुए हैं। आमतौर पर एक सेंटर बैक के रूप में खेलने वाले संदीप लेफ्ट बैक की पोजिशन पर भी शिफ्ट हो सकते हैं। हालांकि, उन्हें अपनी पासिंग को बेहतर करना होगा जिसके लिए उनके पास काफी समय है और वह अनुभव के साथ काफी कुछ सीखेंगे। समय के साथ उनकी डिफेंसिव स्किल्स भी बेहतर होगी जो भविष्य में उन्हें कोच के लिए एक बेहतरीन विकल्प बनाएगा।

फ्यूचर

संदीप मांडी के खेलने का तरीका सुभाशीष बोस से मिलता जुलता है। एक सेंटर बैक और लेफ्ट बैक के रूप में खेलने की उनकी क्षमता भी उन्हें सुभाशीष जैसा प्लेयर बनाती है और दोनों ही खिलाड़ी प​श्चिम बंगाल से ताल्लुक रखते हैं।

जमशेदपुर के साथ संदीप का फिलहाल, तीन साल का करार है और अगले सीजन उनकी कोशिश टीम के लिए ज्यादा से ज्यादा मैच खेलने की होगी। वह हर मैच के साथ अपनी कमजोरी ढूंढ़ने और उस पर काम करने की कोशिश करेंगे।

यंग प्लेयर्स को बड़ा नाम बनाना जमशेदपुर की खूबी रही है और संदीप मांडी भी इस ट्रेंड को आगे जारी रखने का प्रयास करेंगे। उनकी कोशिश अगले सीजन बड़े स्टेज पर दमदार प्रदर्शन करने की होगी।