अभी तक ब्लू टाइगर्स तीन ड्रॉ हासिल करने में कामयाब रहे हैं।

इंडियन फुटबॉल टीम अगले महीने से कतर में अपने फीफा वर्ल्ड कप क्वालीफायर कैंपेन की शुरुआत दोबारा करेगी। अभी तक ग्रुप ई में इंडिया ने पांच मुकाबले खेले हैं जिसमें से तीन मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। ये मुकाबले 2019 में ही खेले गए थे और कोरोना वायरस की वजह से 2020 में एक भी मैच का आयोजन नहीं हो पाया था।

ग्रुप ई में भारतीय टीम इस वक्त चौथे पायदान पर है। दूसरे स्थान पर मौजूद ओमान से वो नौ अंक पीछे हैं। वर्ल्ड कप क्वालीफायर के अगले राउंड में जाना अब टीम के लिए लगभग असंभव है, लेकिन वो तीसरा स्थान जरुर हासिल कर सकते हैं।

तीसरे स्थान पर आने के बाद वो एएफसी एशियन कप 2023 के क्वालीफायर्स फाइनल राउंड में पहुंच जाएंगे। इससे इंडियन फुटबॉल टीम के टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई करने के चांस बढ़ जाएंगे। हालांकि अगर ब्लू टाइगर्स को तीसरे स्थान पर आना है तो फिर उन्हें बचे हुए मुकाबलों में जबरदस्त प्रदर्शन करना होगा।

इंडिया ग्रुप ई में तीसरा स्थान कैसे हासिल कर सकती है। हम आपको बताते हैं।

भारतीय टीम कैसे थर्ड पोजिशन हासिल कर सकती है ?

टीम इंडिया फीफा वर्ल्ड कप क्वालीफायर्स के बचे हुए अपने तीन मुकाबले जून में खेलेगी। 3 जून को कतर, 7 जून को बांग्लादेश और 15 जून को अफगानिस्तान के खिलाफ उन्हें मैच खेलना है। इगोर स्टीमाक की टीम के लिए फॉर्मूला एकदम सिंपल है, जितना ज्यादा हो सके मैचों में जीत हासिल करना।

जिस तरह से कतर के खिलाफ पिछले मुकाबले में टीम का परफॉर्मेंस जबरदस्त रहा था, शायद इस बार उन्हें और कड़ा मुकाबला करना पड़े। इस बार कतर की टीम ज्यादा तैयार है। ऐसे में अगर कतर के खिलाफ एक भी प्वॉइंट मिलता है तो फिर उससे काफी फर्क पड़ेगा।

वहीं भारतीय टीम चाहेगी कि वो बांग्लादेश के खिलाफ जीत हासिल करे। फीफा रैंकिंग में 184वें पायदान पर मौजूद टीम के खिलाफ जीत जरूरी है। इसलिए इंडियन फुटबॉल टीम को इस मुकाबले में जरुर जीत हासिल करनी चाहिए।

अफगानिस्तान के खिलाफ मुकाबला निर्णायक हो सकता है। पिछली बार भारत ने आखिरी मिनटों में गोल कर मैच ड्रॉ कराया था लेकिन इस बार शायद ड्रॉ से काम नहीं चलेगा (जब तक अफगानिस्तान की टीम भारत के खिलाफ मुकाबले से पहले दो मैच हार ना जाए और इंडियन टीम बांग्लादेश या कतर के खिलाफ जीत हासिल न कर ले)। हालांकि भारतीय टीम शायद इस पर नहीं निर्भर रहना चाहेगी। उन्हें अफगानिस्तान को रोकने के लिए बेहतरीन परफॉर्मेंस करना होगा।

अगर भारतीय टीम तीसरा स्थान नहीं हासिल कर पाई तो क्या होगा ?

Sandesh Jhingan
इंडिया बड़े मुकाबले खेलेगा।

इसके भी आसार हैं कि शायद इंडियन टीम अपने ग्रुप में तीसरा स्थान हासिल ना कर पाए। नियमों के मुताबिक टॉप-4 टीमें एएफसी एशियन कप क्वालीफिकेशन के तीसरे राउंड में प्रवेश कर जाएंगी, जबकि निचले स्थान पर मौजूद चार टीमें एएफसी एशियन कप क्वालीफिकेशन के प्लेऑफ राउंड में जाएंगी।

इस वक्त इंडियन टीम ग्रुप ई में चौथे पायदान पर है और कुल आठ टीमों में सातवें पायदान पर है। इसका मतलब ये हुआ कि भारतीय टीम को टॉप 4 टीमों में आने के लिए काफी बेहतरीन फुटबॉल खेलना होगा।

अफगानिस्तान का हालिया फॉर्म

अगर वास्तव में देखें तो तीसरे स्थान के लिए भारत का कड़ा मुकाबला अफगानिस्तान से ही होगा। बांग्लादेश की टीम अपने तीन मैच जीत नहीं सकती है और इसीलिए वो इस रेस में नहीं रहेंगे। लेकिन अफगानिस्तान एक ऐसी टीम है जिसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है।

इसकी वजह ये है कि अफगानिस्तान ने अपना आखिरी मुकाबला नवंबर 2019 में कतर के खिलाफ खेला था और उसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। तब से लेकर अभी तक उन्होंने एक भी मुकाबला नहीं खेला है। इसीलिए क्वालीफायर्स की तैयारियों के लिए उन्होंने कई सारे फ्रेंडली मैच खेलने का फैसला किया है। वो इंडोनेशिया और सिंगापुर के साथ मैच खेलेंगे।

भारत की अगर बात करें तो हार के बावजूद उन्हें मार्च में मैच खेलने का मौका मिला था। टीम यही उम्मीद करेगी कि अफगानिस्तान की इस कमजोरी का वो फायदा उठाएं।

अफगानिस्तान का रोडमैप

इंडिया की ही तरह अफगानिस्तान भी अपने बचे हुए तीनों मैच अगले महीने खेलेगी। भारत के अलावा उनका सामना ओमान और बांग्लादेश से होगा। उनका पहला मैच बांग्लादेश से है। इंडियन फुटबॉल टीम चाहेगी कि बांग्लादेश इस मुकाबले में अफगानिस्तान को ड्रॉ पर रोक दे।

ऐसी स्थिति में अगर भारतीय टीम कतर से हारती भी है तब भी वो तीसरे स्थान पर मौजूद टीम से सिर्फ दो प्वॉइंट पीछे रहेंगे। अगर अफगानिस्तान कतर के खिलाफ अपना दूसरा मुकाबला हार गई और भारत ने बांग्लादेश को हरा दिया तो फिर इंडियन टीम तीसरे स्थान पर जा सकती है।

इस हालात में जब अफगानिस्तान के खिलाफ भारत का मुकाबला होगा तब वो उनसे एक प्वॉइंट आगे रहेंगे। ऐसे में अगर वो मैच ड्रॉ भी रहता है तब भी टीम इंडिया तीसरा पायदान हासिल कर लेगी। इससे ब्लू टाइगर्स एएफसी कप फाइनल राउंड क्वालीफायर्स के लिए क्वालीफाई कर जाएंगे।