कोलकाता की इस टीम में कई बेहतरीन प्लेयर्स हैं।

एटीके मोहन बगान के फैंस को इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के नए सीजन का बेसब्री से इंतजार होगा। क्लब के पास कई बेहतरीन विदेशी एवं इंडियन प्लेयर्स हैं और इसी वजह से टीम का बैलेंस काफी बढ़िया है।

कोलकाता की ये टीम नए सीजन की तैयारियों में जुटी हुई है। अगर एटीके मोहन बगान को सफल होना है तो फिर उनके टॉप प्लेयर्स को परफॉर्म करना होगा। टीम में कई सारे क्वालिटी प्लेयर्स हैं लेकिन कुछ खिलाड़ी औरों से अलग हैं। हम आपको इस आर्टिकल में एटीके मोहन बगान के पांच अहम प्लेयर्स के बारे में बताएंगे:

5. ईदू गार्सिया

कोलकाता में अपने पहले फुल सीजन के दौरान ईदू गार्सिया काफी सफल रहे थे। इस साल उनकी भूमिका ज्यादा अहम होगी। जितना ज्यादा वो इंजरी फ्री रहेंगे उतना ही मिडिल से एटीके मोहन बगान के अटैक को मजबूती प्रदान कर सकेंगे।

लास्ट सीजन करीब 12 मैचों में ही उन्हें पूर्ण रूप से खेलने का मौका मिला था, इसके बावजूद उनका प्रदर्शन शानदार रहा था। उन्होंने छह गोल किए और तीन असिस्ट भी दिया था। अगर एंटोनियो हबास की टीम बैकलाइन्स को तोड़ना चाहती है तो फिर उन्हें गार्सिया की क्रिएटिविटी की जरुरत पड़ेगी। अपने बेहतरीन बॉल मूवमेंट की वजह वो हमेशा डेंजरस एरिया में ही रहते हैं। फारवर्ड लाइन में वो टीम के लिए एक्स फैक्टर होंगे।

4. प्रबीर दास

पिछले सीजन एटीके की सफलता में उनका अहम योगदान था और वो अनसंग हीरो थे। उन्होंने इंजरी के बाद बेहतरीन कमबैक किया है। वो ना केवल डिफेंस बल्कि फारवर्ड में भी काफी बेहतरीन प्लेयर साबित हुए। हबास की रणनीति के तहत उन्हें मैदान में फ्री छूट मिली हुई थी, क्योंकि प्रीतम कोटाल उनको कवर कर रहे थे।

पिछले सीजन उन्होंने पांच असिस्ट दिए थे और सबसे बेहतरीन इंडियन प्लेयर्स में से एक बनकर उभरे थे। उनका औसत हर गेम में तीन क्रॉसेस से भी ज्यादा था और इसी वजह से फॉरवर्ड में बाकी प्लेयर्स को ज्यादा बेहतरीन मौके मिलते थे। दास ने पिछला सीजन जहां पर खत्म किया था, वहीं से शुरुआत करना चाहेंगे। एटीके मोहन बगान के अटैक को अगर सफल होना है तो फिर प्रबीर दास के क्रॉस काफी अहम हो जाते हैं।

3. डेविड विलियम्स

डेविड विलियम्स को हम एटीके मोहन बगान का रॉबर्टो फर्मिनो कह सकते हैं क्योंकि वो ऐसे स्ट्राइकर नहीं हैं जिन्हें प्रमुख एरियाज में सर्विस की जरुरत पड़े। डेविड का बॉल मूवमेंट काफी बढ़िया है और वो बेहतरीन तरीके से लिंक-अप भी करते हैं। इससे एटीके मोहन बगान की टीम को बॉल फारवर्ड करने में काफी मदद मिलेगी। इसके अलावा अटैक के लिए वो जबरदस्त तरीके से स्पेस बनाने में भी माहिर हैं।

फिनिशंग में विलियम्स एक्सपर्ट हैं। उन्हें जो भी मौका मिलता है उस पर वो खरे उतरते हैं और एटीके मोहन बगान के काउंटर अटैकिंग स्टाइल के लिए वो अहम भूमिका निभाएंगे। हालांकि, इसके लिए उन्हें इंजरी फ्री रहना होगा और रॉय कृष्णा के साथ अपनी केमिस्ट्री बरकरार रखनी होगी।

2. संदेश झिंगन

क्लब ने संदेश झिंगन को आगामी सीजन के लिए साइन कर अपने इरादे बता दिए हैं। पिछले साल टीम का डिफेंस तो काफी अच्छा रहा था लेकिन उन्हें एक लीडर की कमी जरुर खल रही थी। अब संदेश झिंगन के आ जाने से ये कमी भी पूरी हो गई है। इंजरी की वजह से वो पिछला सीजन नहीं खेल पाए थे लेकिन इस बार उनसे काफी उम्मीदें फैंस को होंगी।

झिंगन अलग-अलग परिस्थितियों में गेम को एडाप्ट कर सकते हैं और प्रेशर में भी बेहतरीन परफॉर्मेंस करने में माहिर हैं। वो गेम को काफी अच्छी तरह से रीड कर लेते हैं और इसी वजह से आगामी सीजन वो एटीके के लिए काफी अहम खिलाड़ी रहेंगे।

1. रॉय कृष्णा

एटीके मोहन बगान के लिए रॉय कृष्णा सबसे अहम खिलाड़ी हैं और टीम को उनसे ही ज्यादा उम्मीदें रहेंगी। लास्ट सीजन उनका प्रदर्शन काफी शानदार रहा था। उन्होंने 15 गोल करने के अलावा 6 असिस्ट भी दिए थे। एटीके के 50 प्रतिशत से भी ज्यादा गोल में वो शामिल थे। प्रमुख टीमों के खिलाफ जीत में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी। अपने बेहतरीन मूवमेंट की वजह से ऐसा लगता है कि वो इस लीग के लिए ही बने हैं।

रॉय कृष्णा डिफेंडर को इधर-उधर करने में माहिर हैं और टीम के खिलाड़ियों के लिए बेहतरीन तरीके से स्पेस बनाते हैं। उनके पास लगभग हर कला है और फिनिशिंग में भी वो माहिर हैं। एंटोनियो हबास चाहेंगे कि उनकी ये गोल मशीन इस बार भी वही कारनामा दोहराए।