मौजूदा चैंपियन बेंगलुरू एफसी और केरला ब्लास्टर्स, इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के छठे सीजन में शनिवार को जब जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में एक-दूसरे का सामना करेगी तो उसकी कोशिश फिर से फिर से जीत की पटरी लौटने की होगी।

बेंगलुरू पहले ही आईएसएल में इस सीजन सेमीफाइनल में अपना स्थान पक्का कर चुकी है जबकि केरला प्लेऑफ की रेस बाहर हो चुकी है। केरला के अभी दो मैच बचे है और अब वह इन दोनों मैचों में सांत्वना भरी जीत दर्ज करना चाहेगी।
दोनों टीमें अपना-अपना पिछला मैच गोलरहित ड्रॉ खेल चुकी है। कोच एल्को शैटोरी की टीम केरला इस समय आठवें नंबर पर है। टीम ने अपना पिछला मुकबाला नार्थईस्ट यूनाइटेड एफसी को गोलरहित ड्रॉ खेला था।
केरला का आक्रमण एक बार फिर से बार्थोलोमेव ओग्बेचे और राफेल मेसी बोउली के कंधों पर होगी।इस सीजन में केरला ने अब तक 23 गोल किए हैं और इन 23 गोलों में से ये दोनों खिलाड़ी मिलकर 18 गोल कर चुके हैं। लेकिन बेंगलुरू के खिलाफ केरला के आक्रमण के सामने मेहमान टीम के डिफेंस के रूप में एक दीवार खड़ी होगी, जिसने अब तक इस सीजन में केवल नौ ही गोल खाए हैं।
शैटोरी ने कहा,“ उनकी मजबूती ये है कि टॉप क्लब की टीम हैं। वे हमेशा से शानदार प्रदर्शन करते हैं। इसलिए वे अच्छा कर रहे हैं और उनके पास अच्छा फॉर्मूला है। वे मानसिक रूप से भी काफी मजबूत है। लेकिन मुझे पता है कि उन्हें कैसे हराना है। मुझे पता है कि उनकी कमजोरी कहां है। ”
दूसरी तरफ, कार्ल्स  क्वाड्राट की टीम को अपने पिछले मैच में चेन्नइयन एफसी से गोलरहित ड्रॉ खेलना पड़ा था। बेंगलुरू को पता है कि अब वे टॉप पर रहकर लीग का चरण का समापन नहीं कर सकती है। बेंगलुरु पहले ही प्लेआफ के लिए क्वालीफाई कर चुकी है और अब वह दूसरे स्थान के लिए लड़ेगी। कोच ने कहा, “ हर मैच महत्वपूर्ण है। यह अच्छी खबर है कि हम पहले ही प्लेआफ में पहुंच चुके हैं। सीजन की शुरुआत से पहले यह हमारा लक्ष्य था। ”
टीम के हालांकि इसके बावजूद कई चिंताए है। कप्तान सुनील सुनील छेत्री और जुआन गोंजालेज पहले ही निलंबन का सामना कर रहे है। दोनों को पिछले मैच में येलो कार्ड मिला था। बेंगलुरू ने हाल में एएफसी कप क्वालीफायर में पारो एफसी को 9-1 से करारी मात दी है और इससे उनके खिलाड़ियों का आत्मविश्वास बढ़ा हुआ है।
उन्होंने कहा, “ पारो के खिलाफ मिल जीत से खिलाड़ियों का आत्मविश्वास बढ़ेगा। हम ज्यादा गोल नहीं कर रहे हैं, लेकिन इस मैच में कर सकते है।” मिडफील्ड में डिमास डेल्गाडो और एरिक पार्तालू के होने से टीम की मिडफील्ड में मतजबूती मिलेगी।