दोनों टीमों के खिलाड़ी सीजन के पहले मैच के लिए तैयार हैं।

नॉर्थईस्ट यूनाइटेड एफसी और मुम्बई सिटी एफसी एक पूर्ण प्रक्रिया के बाद इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन में अपना भाग्य बदलना चाहेंगे। दोनों टीमें शनिवार को वास्को डि गामा के तिलक मैदान स्टेडियम में होने वाले मुकाबले से 2020-21 सीजन में अपने अभियान की शुरुआत करेंगे।

दोनों टीमों ने कुल मिलाकर अब तक केवल तीन बार आईएसएल के नॉकआउट चरण में प्रवेश किया है लेकिन इस सीजन में दो स्पेनिश दिग्गज जेरार्ड नुस और सर्जियो लोबेरा यह उम्मीद करना चाहेंगे कि वे अपनी-अपनी टीमों का भाग्य बदल सकें। दोनों आक्रामक फुटबॉल खेलना पंसद करते हैं।

पिछले सीजन में नौवें स्थान के साथ लीग का समापन करने वाली नॉर्थईस्ट यूनाइटेड ने इस बार लगभग एक नई टीम तैयार की है और उसने 19 नए करार किए है। टीम ने युवा भारतीय प्रतिभाओं के साथ-साथ बेहतरीन विदेशी खिलाड़ियों के साथ भी करार किया है, जो हाइलैंडर्स को इस बार तालिका के शीर्ष पांच में पहुंचाने में मदद कर सकता है।

नॉर्थईस्ट युनाइटेड एफसी के कोच जेरार्ड नुस ने कहा, “हम प्रतिस्पर्धात्मक और कड़ा मुकाबला चाहते हैं। हम एक ऐसी टीम चाहते हैं, जो कड़ा मुकाबला करे और लड़े।”

हाईलैंडर्स की टीम अब तक केवल एक ही बार आईएसएल में प्लेऑफ के लिए क्वॉलीफाई कर पाई है। टीम फिलहाल पिछले 14 मैचों में से एक भी मैच नहीं जीत पाई है। इन 14 मैचों में उसने छह ड्रॉ खेले हैं जबकि आठ हारे हैं।

नुस ने कहा, “हम उनकी ताकतों के बारे में जानते हैं। हमें खुद पर ध्यान देने की जरूरत है और हम एक समय में केवल एक ही मैच पर अपना ध्यान देंगे।”

इस बीच, मुम्बई सिटी भी इस सीजन में जीत से अपनी शुरुआत करना चाहेगी। टीम के कोच सर्जियो लोबेरा ने कहा, “यह एक मुश्किल मैच होगा। यह काफी प्रतिस्पर्धात्मक सीजन होगी क्योंकि इस बार कई अच्छी टीमें है। मैं अपने खिलाड़ियों के साथ काम कर रहा हूं। सीजन के आखिर में फैन्स को हमारे प्रदर्शन से खुश होना चाहिए।”

लोबेरा पिछले तीन साल से एफसी गोवा के साथ थे, लेकिन इस बार वह लीग में मुम्बई सिटी की जर्सी में दिखेंगे। उन्होंने कहा, “हम आक्रामक फुटबाल खेलते हैं। इसे देखते हुए इतने कम समय में काम करना आसान नहीं है। हमारे लिए यह एक चुनौती है और हमें विभिन्न परिस्थितियों के अनुकूल होने की जरूरत है।”