26 वर्षीय खिलाड़ी ने सीनियर प्लेयर्स से मिलने वाली मदद के बारे में भी बताया।

एटीके ने पिछले छह सालों में तीसरी बार इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) खिताब जीता और इस जीत में टीम में प्रबीर दास का अहम रोल रहा। पिछले सीजन में इस खिलाड़ी ने 20 गेम खेले और पांच महत्वपूर्ण असिस्ट भी दिए। बेंगलुरु एफसी के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले के दूसरे हाफ में उन्होंने अपने शानदार खेल से टीम को दबाव की स्थिति से बाहर निकालकर जीत दिलाई थी। हालांकि, उनके लिए आईएसएल की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी। वह शुरुआती दो सीजन में एफसी गोवा और दिल्ली डायनामोज के लिए फ्लॉप साबित हुए थे।

प्रबीर दास का मानना है कि एफसी गोवा और दिल्ली डायनामोज में फ्लॉप होने की वजह वही थे। उन्होंने कभी दर्शकों से भरे स्टेडियम में मैच नहीं खेले थे और इसी दबाव में वह प्रदर्शन नहीं कर पाए। वह साल 2016 में एटीके से जुड़े और उन्हें 12 मैच खेलने को मिले। एटीके उस सीजन का चैंपियन रहा था।

उन्होंने आईएसएल के इंस्टाग्राम हैंडल पर लाइव चैट के दौरान कहा, “यह मेरे लिए बड़ी सफलता थी, मेरे फुटबॉल करियर की पहली ट्रॉफी। टीम के खिलाड़ियों के बीच काफी एकता थी। जब मेरा ऑपरेशन हुआ था तब बोर्जा फर्नांडेज और इयान ह्यूम जैसे सीनियर खिलाड़ी मुझसे लगातार बात किया करते थे। मैंने उन लोगों से बहुत कुछ सीखा।”

प्रबीर दास को एसीएल इंजरी हुई थी जिसके कारण वह 2018-19 कैंपेन से बाहर हो गए थे। हालांकि, उन्होंने खुद को किसी तरह प्रेरित किया। इस दौरान उन्होंने रिहैब में रहते हुए अपनी स्पीड को बनाए रखने पर काम किया था।

उन्होंने बताया, “मेरी एक ही खूबी है मेरी स्पीड। व्यक्तिगत तौर पर और कोई खूबी नहीं है। मैंने डॉक्टर्स से कहा कि रिकवर करने के लिए आप मुझसे जो कराना चाहे करा सकते हैं लेकिन मेरी स्पीड धीमी नहीं होनी चाहिए। मैंने हर तरह से स्पीड को बनाए रखने के लिए काम किया। अगर आपको राइट विंग पर खेलना है तो आपमें स्पीड होनी चाहिए। मैंने डॉक्टर्स के कहे मुताबिक सबकुछ किया और ऑपरेशन के बाद मेरी स्पीड और बढ़ गई है।”

मोहन बागान के पूर्व डिफेंडर को एटीके के फैंस का पूरा समर्थन मिल रहा है और उन्हें उम्मीद है कि मोहन बागान के साथ हुए मर्जर के बाद यह और बढ़ेगा। उनके मुताबिक कोरोना वायरस के कारण इस साल तो नहीं पर अगले साल एटीके को मोहन बागान के सालों से जुड़े फैंस का समर्थन मिला। प्रबीर दास को केरल के फैंस से भी काफी सपोर्ट मिलता है।

उन्होंने कहा, “हर जगह के फैंस खास होते हैं पर केरल के फैंस के साथ मुझे खास लगाव है। केरल के फैंस से मुझसे सबसे ज्यादा प्यार है क्योंकि वहां मुझे बहुत पसंद किया जाता है। मैं जैसे ही बाहर निकलता हूं फैंस मुझसे फोटो और ऑटोग्राफ मांगते हैं। वह मेरी काफी तारीफ करते हैं और इसकी कारण मुझे उनसे खास लगाव है। वह एटीके-मोहन बागान के बाद सबसे ज्यादा प्यार देने वाले फैंस हैं।”