नए इन्वेस्टर के आने के बाद से क्लब के लीग में शामिल होने की उम्मीद बढ़ गई है।

इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में भारत के सबसे पुराने क्लब ईस्ट बंगाल का शामिल होना लगभग तय माना जा रहा है। टीम के श्री सीमेंट के जुड़ने से अब उनका आईएसएल का हिस्सा बनने का रास्ता लगभग साफ हो गया है और जब ऐसा होगा तो यह भारत के फुटबॉल इतिहास में सबसे बड़ा कदम होगा।

लीग के लिए यह बड़ा मौका है कि भारत के दो सबसे पुराने, पारंपरिक और पसंद किए जाने वाले क्लब ईस्ट बंगाल और मोहन बागान अब उसका का हिस्सा हैं। ऐसे में अब उन्हें इससे कई फायदे भी होने वाले हैं:

5. व्यूअरशिप में आएगी बढ़ोतरी

पिछले कुछ समय में आईएसएल की व्यूअरशिप में काफी बढ़ोतरी देखने को मिली है जिसकी वजह कहीं न कहीं एडवरटाइसमेंट है जिससे लीग को लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। लीग को लेकर बनाई गई हाइप भी दर्शकों को लीग से जोड़ने में मदद कर रही है। ईस्ट बंगाल और मोहन बागाग की एंट्री के बाद व्यूअरसिप में बढ़ोतरी होना तय है।

इन दोनों ही क्लब की फैन फॉलोउिंग काफी ज्यादा है। ईस्ट बंगाल और मोहन बागान की टक्कर सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में प्रसिद्ध है और आईएसएल में कोलकाता डर्बी के मैच पर रिकॉर्ड व्यूअरशिप आना तय है। व्यूअरशिप बढ़ने का एक और कारण यह भी है अगामी सीजन के मैच खाली स्टेडियम में खेले जाएंगे।

4. फैन बेस का फायदा उठाएगी लीग

ई्स्ट बंगाल के फैंस के लिए यह सिर्फ एक क्लब नहीं है बल्कि उनके जीवन का खास हिस्सा है। उनके खाने-पीने से लेकर जश्न तक हर चीज में क्लब के प्रति उनका प्यार दिखता है। यह प्यार सिर्फ खेल के मैदान और मैच तक ही सीमित नहीं है और आईएसएल इस खास रिश्ते का फायदा बिजनेस के तौर पर कर सकता है। वे क्लब के खास मर्चेंडाइज बेचने से लेकर पीआर के जरिए लीग की पॉपुलैरिटी बढ़ा सकते हैं।

हालांकि, कोरोना वायरस के कारण फैंस को स्टेडियम में आने की इजाजत नहीं है और ना ही कहीं बड़ी तादाद में इक्ठ्ठा होने की, ऐसे में आईएसएल डिजिटल माध्यम से जरुर फैंस और क्लब के खास रिश्ते का फायदा उठाना चाहेगा। डॉक्यूमेंट्री से लेकर फैंस के साथ इंट्रेक्शन के माध्यम से क्लब के फैन बेस को आईएसएल से जोड़ा जा सकता है।

3. सोशल मीडिया पर भी बढे़गी फैन फॉलोइंग

सोशल मीडिया पर भी पिछले कुछ सालों में लीग का फैन बेस बढ़ा है। वह इंगेजमेंट के मामले में इटली की सीरि-ए से भी आगे है जहां दिग्गज क्रिस्टियानो रोनाल्डो खेलते हैं। अब ईस्ट बंगाल के आने से इस नंबर में बढ़ोतरी होना तय है। इंस्टाग्राम से लेकर फेसबुक तक क्लब की फैन फॉलोइंग काफी ज्यादा है और अब लीग में क्लब शामिल होने का मतलब है कि फैंस का आईएसएल के साथ जुड़ना तय है।

2. बड़े खिलाड़ी बनेंगे लीग का हिस्सा

ईस्ट बंगाल को दुनिया में जाना जाता है वह काफी प्रसिद्ध क्लब है, यही वजह है कि लीग की बाकी टीमों के मुकाबले बड़े स्टार खिलाड़ियों को अपने साथ जोड़ने में कोलकाता का यह क्लब अधिक कामयाब रहेगा। हाल ही में उन्होंने दिग्गज जॉनी अकोस्टा को टीम से जोड़ा था और श्री सीमेंट से जुड़ने के बाद वह एक बार फिर से स्टार खिलाड़ियों को शामिल करने में कामयाब रहेंगे।

1. फैंस को मिलेगा कोलकाता डर्बी का हाई वोल्टेज मुकाबला

कोलकाता डर्बी का मैच आई-लीग का सबसे हाई वोल्टेज मुकाबला माना जाता था। दोनों क्लबों के बीच सालों से चली आ रही टक्कर के कारण इस मुकाबले का इंतजार सिर्फ भारत ही नहीं दुनिया भर के कई फुटबॉल फैंस करते है। मोहन बागान एटीके के साथ विलय करके पहले ही आईएसएल का हिस्सा बन चुका है और अब जब ईस्ट बंगाल लीग का हिस्सा बनेगा तो फैंस को कम से कम दो बार इस हाई वोल्टेज मुकाबले को देखने का मौका मिलेगा।