36 वर्षीय स्पेनिश स्ट्राइकर को ग्रीस और पोलैंड में खेलने का अनुभव है।

हेड कोच युआन फेरांडो के मार्गदर्शन में एफसी गोवा इंडियन फुटबॉल में अपने एक नए अध्याय की शुरुआत करने के लिए यह तैयार है। क्लब को अभी भी अपने पहले इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) खिताब की तलाश है और स्पेन के स्ट्राइकर इगोर एंगूलो को साइन करना इसी सपने को पूरा करने के लिए उठाया गया एक कदम है।

पिछले सीजन के बीच में हेड कोच सर्जियो लोबेरा से अलग होने वाली गोवा के लिए हालांकि, खिताब हासिल करना आसान नहीं होगा क्योंकि नए कोच को टीम के साथ सेटल होने में समय लगेगा। टीम ने बीते सीजन टेबल में टॉप पर रहकर प्लेऑफ तक का सफर तय किया था और आगामी सीजन में एएफसी चैम्पियंस लीग में भी खेलेगी।

इगोर एंगूलो मौजूदा ट्रांसफर विंडो में एफसी गोवा की पहली विदेशी साइनिंग है और उन्होंने क्लब के साथ केवल एक साल का करार किया है। उनके अलावा, गोवा इस सीजन रदीम तलांग, सेनसोन परेरा और माकन विंकल को अपने साथ जोड़ चुकी है।

कौन हैं इगोर एंगूलो?

स्पेन के बास्क रीजन में पैदा हुए इगोर एंगूलो ने स्पेनिश क्लब एथलेटिक बिल्बाओ में फुटबॉल खेलना सीखा और 2003 में ला-लीगा में अपना डेब्यू किया। टीम के लिए कुछ मैच खेलने के बाद उन्हें लोन पर गिमनास्टिक और एएस कान्स भेज दिया गया। वह नूमानिका और रियल यूनियन के लिए खेलने से पहले लंबे समय तक बिल्बाओ की रिजर्व टीम का हिस्सा रहे।

इसके बाद, वह साइप्रस और ग्रीस जैसे देशों में भी फुटबॉल खेलने गए। हालांकि, उन्होंने अपने करियर का सबसे दमदार प्रदर्शन पोलैंड के क्लब गोरनिक जाबर्जे के 2016 में ​किया। स्पेनिश स्ट्राइकर ने पोलिस फुटबॉल के सेकेंड डिविजन के अपने पहले सीजन में कुल 17 गोल किए और टीम को फर्स्ट डिविजन में लेकर गए। टॉप फ्लाइट में भी उन्होंने 23 गोल दागे और लीग में गोल करने मामले में दूसरे नंबर पर रहे।

इगोर एंगूलो के बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर क्लब लीग में चौथे स्थान पर रही और यूरोपा लीग के पहले क्वॉलिफाइंग राउंड में भी खेली। 2018-19 सीजन में स्ट्राइकर ने कुल 24 गोल किए और गोल्ड बूट भी हासिल किया। अपने आखिरी सीजन में उन्होंने टीम के लिए 16 गोल करने के साथ-साथ छह असिस्ट भी दिए जो यह दर्शाता है कि यह अन्य फॉरवर्ड खिलाड़ियों के साथ मिलकर टीम के लिए गोल करने के मौके भी बना सकते हैं।

उन्होंने पोलैंड में कुल चार साल बिताए और इस दौरान 109 गोल और 154 असिस्ट किए। वह बॉक्स में हमेशा स्पेस ढूंढ़ने में कामयाब रहटे हैं जिससे उन्हें गोल करने में भी आसानी होती है और अगर अगले सीजन में भी वह अपने प्रदर्शन को जारी रखते हैं तो गोवा की टीम में लीग में काफी आगे तक जा सकती है। एफसी गोवा हमेशा अटैकिंग फुटबॉल खेलने के लिए जानी जाती है और नया स्ट्राइकर उन्हें इसे जारी रखने में मदद कर सकता है।

इगोर एंगूलो को प्लेइंग स्टाइल फेरान कोरोमिनास से अलग है, लेकिन यह देखना अभी बाकी है कि क्या उन्हें कोरोमिनास के रिप्लेसमेंट के तौर पर टीम में शामिल किया गया है या उनके साथ पार्टनरशिप करने टीम को खिताब तक पहुंचाने के लिए।