22 वर्षीय यह खिलाड़ी अगले सीजन में केरला ब्लास्टर्स के लिए खेलेगा।

इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सबसे बड़े क्लबों में से एक केरला ब्लास्टर्स ने निशु कुमार को चार साल का कॉन्ट्रैक्ट दिया है। इसके साथ ही यह फुलबैक देश में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले फुटबॉलरों में से एक बन गया है। निशु कुमार इस कॉन्ट्रैक्ट से काफी खुश हैं।

उन्होंने खेल नाओ से बात करते हुए कहा, “ब्लास्टर्स से जुड़ना मेरा अबतक सबसे अच्छा फैसला है। जब अधिकारियों ने मुझसे पहली बार बात की तो उन्होंने मुझे बताया कि मुझे लेकर उनके क्या प्लान हैं क्या प्रोजेक्ट हैं। उन्होंने भरोसा दिलाया कि वह अच्छी टीम तैयार कर रहे हैं और मेरे लिए यह बड़ा चैलेंज है। नए शहर में नए क्लब के लिए खेलना हर फुटबॉलर के लिए चैलेंज होता है खासकर तब जब वह केरला ब्लास्टर्स जैसा बड़ा क्लब हो।”

निशु कुमार बेंगलुरु एफसी और इंडियन फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री को अपनी सबसे बड़ी प्रेरणा मानते हैं। उन्होंने कहा, “छेत्री मेरी सबसे बड़ी प्रेरणा है।वह काफी प्रोफेशनल हैं और फुटबॉल को लेकर उनके अंदर काफी जुनून है। उन्होंने खेल के लिए जितनी मेहनत की है और जितना डेडिकेशन दिखाया है यही कारण है कि वह देश के सबसे सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर हैं। वह मुझे बहुत प्रेरित करते हैं।”

मुजफ्फरनगर से ताल्लुक रखने वाले इस खिलाड़ी का अपने नए क्लब में सबसे पसंदीदा खिलाड़ी जिकसन सिंह है। निशु कुमार ने उनकी तारीफ करते हुए कहा, “केरला ब्लास्टर्स में मुझे जिकसन सिंह बहुत पसंद है। मैंने पिछले सीजन में उन्हें खेलते हुए देखा और उनके अंदर मिडफील्डर के सभी अच्छे गुण हैं। मैं उनके अलावा ओगबेचे, सहल अब्दुल समद, राहुल केपी और जेसल जैसे खिलाड़ियों के साथ खेलने के लिए बहुत उत्सुक हूं।”

निशु कुमार अपने नए क्लब में 22 नंबर की जर्सी पहनकर उचरेंगे। इसका कारण बताते हुए उन्होंने कहा, “जब मैं चंडीगढ़ की अकेडमी के लिए खेलता था तब मैं चार नंबर की जर्सी पहनता था। इसके बाद जब मैं अंडर-15 के लिए सेलेक्ट हुआ तब मैंने 22 नंबर की जर्सी पहनना शुरू किया क्योंकि वहां पहले ही चार नंबर की जर्सी किसी खिलाड़ी ने ले रखी थी। यह नंबर मेरे लिए बहुत लकी साबित हुआ और तबसे मैं यही पहन रहा हूं।”

उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पिछले साल जॉर्डन के खिलाफ अपने करियर का पहला गोल दागा था और उन्होंने इसे अपने करियर का सबसे खास मौका बताया।हालांकि, अब वह चाहते हैं कि अपने नए क्लब के साथ आईएसएल का खिताब जीते। उन्होंने कहा, “अपने क्लब के लिए आईएसएल का खिताब जीतना और एसीएल में खेलना बड़ी उपलब्धि है।”