छठी बार इस टूर्नामेंट में इन दो दिग्गज खिलाड़ियों का आमना-सामना होगा।

रोनाल्डो और मेसी फुटबॉल की दुनिया के दो सबसे बड़े खिलाड़ी हैं। दोनों ही खिलाड़ियों ने अभी तक कुल मिलाकर 11 बार बैलोन डी ओर का खिताब जीता है। इसके अलावा वे 10 बार यूरोपियन गोल्डन शूज अवॉर्ड भी जीत चुके हैं। मैदान में दोनों प्लेयर्स के बीच जबरदस्त प्रतिद्वंदीता देखने को मिलती है।

अब तक कई बार दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान में काफी यादगार भिड़ंत देखने को मिली है। अब एक बार फिर ये दोनों खिलाड़ी आमने-सामने हैं। यूएफा चैंपियंस लीग के ग्रुप स्टेज में युवेंटस और बार्सिलोना के बीच मुकाबला होगा और फैंस को रोनाल्डो और मेस्सी के बीच की प्रतिद्वंदता एक बार फिर देखने को मिलेगी।

हालांकि, दिलचस्प बात ये है कि 2010-11 के सीजन के बाद पहली बार मेसी और रोनाल्डो यूरोपियन कंपटीशन में आमने-सामने होंगे। हम इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि कब-कब यूएफा चैंपियंस लीग में दोनों खिलाड़ियों के बीच आमना-सामना हुआ:

5. एफसी बार्सिलोना 0-0 मैनचेस्टर यूनाईटेड (2008 सेमीफाइनल फर्स्ट लेग)

2008 के यूएफा चैंपियंस लीग सेमीफाइनल के फर्स्ट लेग में पहली बार रोनाल्डो और मेसी का एक दूसरे से आमना-सामना हुआ था। मैनचेस्टर यूनाईटेड को उस मुकाबले में जल्द ही पेनाल्टी मिल गई थी लेकिन रोनाल्डो उसे गोल में तब्दील नहीं कर पाए। मुकाबले के दौरान ज्यादातर बॉल पोजेशन बार्सिलोना के पास रहा लेकिन स्पेनिश टीम भी गोल नहीं कर पाई।

पेनाल्टी मिस करने के बाद भी रोनाल्डो ने गोल करने की काफी कोशिश की लेकिन सफल नहीं हो सके। लियोनल मेसी भी ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। 62वें मिनट में उन्हें रिप्लेस कर दिया गया और ये मुकाबला गोलरहित ड्रॉ पर खत्म हुआ।

4. मैनचेस्टर यूनाईटेड 1-0 बार्सिलोना (2008 सेमीफाइनल सेकेंड लेग)

इन दोनों खिलाड़ियों के बीच दूसरी बार आमना-सामना 2008 के ही चैंपियंस लीग सेमीफाइनल के सेकेंड लेग में हुआ था। मैनचेस्टर यूनाईटेड ने उस मुकाबले के 14वें मिनट में ही गोल कर दिया था। हालांकि, बार्सिलोना ने पहले हाफ में डोमिनेट किया और यूनाईटेड के डिफेंस को काफी परेशान किया। मेसी ने भी अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन गोल नहीं कर सके।

मैनचेस्टर यूनाईटेड को सेकेंड हाफ में दूसरी बार गोल करने का मौका मिला लेकिन वो विक्टर वाल्डेस को छका नहीं पाए। मैच के आखिरी कुछ मिनट में बार्सिलोना को हेनरी कर्लिंग के हेडर के जरिए बराबरी का गोल दागने का मौका मिला लेकिन वो इस मौके का फायदा नहीं उठा पाए। मैनेचस्टर यूनाईटेड ने इस मुकाबले में जीत के बाद उस साल का यूएफा चैंपियंस लीग का खिताब भी जीता।

3. एफसी बार्सिलोना 2-0 मैनचेस्टर यूनाईटेड (2009 फाइनल)

रोनाल्डो और मेसी का तीसरी बार आमना-सामना 2008-09 के चैंपियंस लीग फाइनल में हुआ था। रोम में बार्सिलोना और मैनचेस्टर यूनाईटेड के बीच यूएफा चैंपियंस लीग का फाइनल मुकाबला खेला गया। बार्सिलोना ने 10वें मिनट में ही गोल करके 1-0 की बढ़त बना ली।

दूसरे हाफ में यूनाईटेड ने कई बार गोल करने की कोशिश की लेकिन सफल नहीं रहे। बार्सिलोना के लिए मेसी ने दूसरा गोल किया और टीम को चैंपियन बना दिया।

2. रियाल मैड्रिड 0-2 एफसी बार्सिलोना (2011 सेमीफाइनल फर्स्ट लेग)

2009 के समर में रियाल मैड्रिड ने क्रिस्टियानो रोनाल्डो को मैनचेस्टेर यूनाईटेड से अपनी टीम में शामिल किया। उसके बाद से रोनाल्डो और मेसी के बीच की राइवलरी काफी गहरी हो गई। 2010-11 में चैंपियंस लीग में मैड्रिड और बार्सिलोना का आमना-सामना हुआ।

मैदान में कुछ फैसले रियाल मैड्रिड के खिलाफ गए। खासकर पेपे को मैदान छोड़कर बाहर जाना पड़ा और बार्सिलोना ने इसका पूरा फायदा उठाया। आखिरी 15 मिनट में लियोनल मेसी के जरिए बार्सिलोना की टीम ने दो गोल कर दिए। मैच के बाद जोस मोरिनियो ने हार का गुस्सा मीडिया पर निकाला और इसी वजह से यूएफा की तरफ से उन्हें अनुशासनात्मक कार्रवाई का भी सामना करना पड़ा।

1. रियाल मैड्रिड 1-1 एफसी बार्सिलोना (2011 सेमीफाइनल सेकेंड लेग)

2010-11 सेमीफाइनल के सेकेंड लेग में पांचवी बार रोनाल्डो और लियोनल मेसी का आमना-सामना हुआ। 54वें मिनट में ही पेड्रो के गोल के जरिए बार्सिलोना ने बढ़त बना ली। हालांकि, इसके बाद 64वें मिनट में मार्सेलो ने गोल कर रियाल मैड्रिड को बराबरी पर ला दिया।

पिछले लेग की तरह इस मैच में भी काफी विवाद हुए। मैड्रिड का दावा था कि सेकेंड हाफ में गोंजालो हिगुआइन का गोल गलत तरीके से डिसअलावो किया गया था। इसके बाद असिस्टेंट कोच ऐतोर कर्नका ने भी कहा था कि मोरिनियो सही थे।