26 वर्षीय इंडियन डिफेंडर 2014 से ही केरला स्थित क्लब के साथ थे।

इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) की सबसे बड़ी टीमों में से एक केरला ब्लास्टर्स अपने कैप्टन संदेश​ झिंगन से अलग हो गई है। खेल नाओ के एक सोर्स के मुताबिक, खिलाड़ी ने ब्लास्टर्स को बताया है कि उसके पास किसी विदेशी क्लब का ऑफर है और इसी कारण से उन्होंने क्लब से खुद को रिलीज करने की मांग की है।

केरला ब्लास्टर्स 2014 में बना था और संदेश​ झिंगन तभी से क्लब का एक महत्वपूर्ण हिस्सा थे। वह मैदान के अंदर और बाहर टीम के लीडर थे। हालांकि, चोटिल होने के कारण उन्हें 2019-20 सीजन के दौरान बेंच पर बैठना पड़ा था। उन्हें सीजन की शुरुआत से पहले नेशनल टीम के लिए खेलते हुए चोट लगी थी।

खेल नाओ इसकी भी पुष्टि कर सकता है कि क्लब ​देशी खिलाड़ियों के वेतन में भी कटौती कर सकता है। कुछ दिनों पहले हमने आपको बताया था कि कोराना वायरस महामारी के कारण पैदा हुई स्थिति को देखते हुए क्लब विदेशी खिलाड़ियों के वेतन में कटौती करने की सोच रहा है, लेकिन अब ऐसा माना जा रहा है ​​कि देशी खिलाड़ियों को भी इसी रास्ते पर चलना पड़ सकता है।

हम आपको यह भी बता सकते हैं कि 2020-21 सीजन के लिए क्लब के मालिकों ने 10 करोड़ रुपये का बजट सेट किया है। नए सीजन के नवंबर से शुरू होने की उम्मीद है।

पिछला सीजन केरला ब्लास्टर्स के लिए बेहद खराब रहा था और उसे संदेश​ झिंगन जैसे अनुभवी खिलाड़ी की कमी खली थी। 18 मैचों में केवल चार जीत दर्ज करने के कारण टीम लगातार तीसरे सीजन प्लेऑफ तक का सफर तय नहीं कर पाई थी। इसके बाद, अप्रैल में क्लब ने हेड कोच एल्को शैटोरी को भी सैक कर दिया और कीबू विकूना को लेकर आए।

विकूना पिछले सीजन मोहन बागान के साथ आई-लीग का खिताब जीत चुके हैं और क्लब के फैंस को उनसे आगामी सीजन में बहुत उम्मीदें हैं। इसके साथ ही टिरी और निशु कुमार को खरीदकर मैनेजमेंट ने साफ कर दिया है कि वे डिफेंस को और मेजबूत करना चाहते हैं। बेंगलुरू एफसी के प्रभुसुखन सिंह गिल और रियल कश्मीर के रित्विक दास का नाम भी क्लब के साथ जोड़ जा रहा है।

संदेश झिंगन का जाना हालांकि, ब्लास्टर्स के फैन्स के लिए एक बड़ा झटका है क्योंकि वे नए सीजन में टिरी और इंडियन डिफेंडर को एक साथ खेलते हुए देखने के लिए बहुत उत्साहित थे।