इंडियन फुटबॉल टीम के कैप्टन ने विराट कोहली से अपने करियर के बारे में खुलकर बात की।

पूमा द्वारा इन दिनों इंस्टाग्राम पर खिलाड़ियों के बीच कई लाइव सेशन कराए जा रहे हैं। विराट कोहली, मैरी कॉम और के एल राहुल जैसे खिलाड़ियों ने इंस्टाग्राम पर लाइव चैट किया। इसी कड़ी में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री के बीच भी बातचीत हुई। अलग-अलग खेलों के दो दिग्गज सुपरस्टार्स के बीच काफी दिलचस्प बातचीत देखने को मिली।

दोनों ही कप्तानों ने स्पोर्ट्स से मिली सीख के बारे में बताया। सुनील छेत्री के मुताबिक उन्होंने हार से काफी कुछ सीखा। उन्होंने कहा, “मेरे हिसाब से जीवन में मैंने हार से ज्यादा सीखा। जब मैं कुछ समय के लिए ज्यादा जीत रहा था तब थोड़ा लापरवाह हो गया था।”

विराट कोहली ने भी सुनील छेत्री की इस बात का समर्थन किया और कहा, “जी हां हम हार से ज्यादा सीखते हैं। जब आप जीतते हैं तब मुश्किल से आप किसी चीज पर रिएक्ट करते हैं। मुझे अब ये भी पता चल गया है कि जीत के वक्त किस तरह रिएक्ट करना चाहिए। आपके पास हमेशा सुधार करने के लिए कुछ ना कुछ होता है।”

कैप्टन कोहली ने सुनील छेत्री से उनके एक बेहतरीन रिकॉर्ड के बारे में भी पूछा। दरअसल छेत्री इस वक्त दुनिया में दूसरे सबसे ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय गोल करने वाले एक्टिव फुटबॉलर हैं। उनसे आगे सिर्फ क्रिस्टियानो रोनाल्डो ही हैं।

इस बारे में उन्होंने कहा, “मैं किसी तुलना में नहीं पड़ता हूं बस खुश होता हूं और भूल जाता हूं। मुझे इतने बड़े स्तर पर फुटबॉल खेलने का मौका मिला और फैंस से काफी सारा प्यार मिला जिसकी खुशी शब्दों में बयां नहीं की जा सकती है। ये एक ऐसी चीज है जिसके बारे में मैंने सपने में भी नहीं सोचा था। जो कुछ भी मुझे इस खेल से हासिल हुआ है वो मैं वापस देना चाहता हूंं। मैं कोई दबाव नहीं लेता हूं बस इंज्वॉय करता हूं क्योंकि मैं वो लाइफ जी रहा हूं जिसके बारे में मैंने कल्पना भी नहीं की थी। मैं ऐसा एक दिन भी नहीं जाने देता हूं जब अपना 100 प्रतिशत ना दूं।”

विराट कोहली ने सुनील छेत्री को फुटबॉल और क्रिकेट के मैच का चैलेंज भी दिया। उनकी इस चुनौती को भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान ने स्वीकार भी किया और कहा कि मैं आपसे काफी समय से कह रहा हूं कि मेरे साथ क्रिकेट का एक मैच खेलिए।

बेंगलुरु एफसी के दिग्गज खिलाड़ी ने कोरोना वायरस की वजह से फैंस के स्टेडियम में नहीं आ पाने पर भी दुख व्यक्त किया। उन्होंने सभी फैंस को एक खास संदेश दिया। छेत्री ने कहा, “एक फैन के तौर पर जब मुझे ये खबर मिली कि मैं स्टेडियम में आकर मैच नहीं देख सकता तो मुझे काफी बुरा लगा। खेल का मतलब ही है फैंस। मैंने महसूस किया कि लाइव स्पोर्ट से कितनी खुशी आपको मिलती है। जब आपको कोई खेल लाइव देखने को मिलता है तो फिर उससे बेहतर चीज कोई और नहीं होती है। मैं ये चीज अपने दिल से कह रहा हूं। एक फैन के तौर पर आपको थोड़ा धैर्य रखने की जरुरत है। आप अभी लाइव मैच टीवी पर देखिए और लुत्फ उठाइए।”