मोहम्मडन ने टूर्नामेंट जीतकर अगले सीजन के लिए आई-लीग में जगह बनाई।

आई-लीग के आगामी सीजन में बचे हुए एक स्थान के लिए पांच टीमों के बीच क्वॉलीफायर्स में जबरदस्त मुकाबला देखने को मिला। राउंड-रॉबिन फॉर्मेट में खेले गए इस टूर्नामेंट में कोलकाता के मोहम्मडन स्पोर्टिंग क्लब ने तीन जीत और एक ड्रॉ के साथ साल 2015 के बाद पहली बार लीग में जगह बनाई।

क्वॉलीफायर्स में कई खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला जिन्होंने सभी को अपनी योग्यता से प्रभावित किया। आइए उन खिलाड़ियों पर नजर डालते हैं:

5. हीरा मंडल (मोहम्मडन एससी)

हीरा मंडल आमतौर पर राइट बैक या सेंटर बैक की पोजीशन पर खेलते हैं लेकिन आई-लीग क्वॉलीफायर में वह लेफ्ट बैक के तौर पर खेले। इसके बावजूद 24 साल के इस खिलाड़ी के लिए यह टूर्नामेंट शानदार रहा, वह टीम के लिए अटैकिंग और डिफेंसिव दोनों रोल निभा पाए। ब्लैक पैंथर्स के लिए वह जिन दो मैचों में खेले उनमें भी विरोधियों को गोल करने का कोई मौका नहीं दिया।

4. ईजे किंग्सले (मोहम्मडन एससी)

नाइजीरिया के सेंटर बैक ईजे किंग्सले मोहम्मडन एससी के लिए मजबूत कड़ी साबित हुए। वह इस क्लब के आई-लीग क्वॉलीफायर के चार में से तीन मैचों में खेले और किसी भी मुकाबले में गोल नहीं होने दिया। वह डिफेंस में लीडर के तौर पर सामने आए। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन गढ़वाल एफसी के खिलाफ था जहां वह विरोधी टीम के स्टार स्ट्राइकर विक्टर फिलिप पर भारी पड़े और उन्हें कोई गोल नहीं करने दिया।

3. अभिषेक रिजल (मोहम्मडन एससी)

नेपाल के अभिषेक ने ब्लैक पैंथर्स के लिए तीन मैच खेले हैं। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दूसरे गेम में देखने को मिला जहां वह अहमदाबाद के क्लब एआरए एफसी के खिलाफ खेल रहे थे। 20 साल के इस खिलाड़ी ने सॉल्ट लेक स्टेडियम में हुए मैच में स्कोर भी किया था। इससे पहले, वह मनंग मर्शयाग्डी के लिए एफसी कप 2019 में खेल चुके हैं और इस साल के सबसे हाई-प्रोफाइल कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने वालों से एक हैं।

2. पंकज मौला (भवानीपुर एफसी)

पंकज मौला भवानीपुर एफसी के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से हैं। 27 साल का यह खिलाड़ी मोहन बागान के लिए आई-लीग में 16 मैच खेल चुका है। क्वॉलीफायर्स में उन्होंने दमदार प्रदर्शन करते हुए बेंगलुरु एफसी और एआरए के खिलाफ एक-एक गोल किया। पूरे टूर्नामेंट में क्लब ने छह गोल किए जिसमें से चार गोल मौला और फिलिप अदजा की जोड़ी ने किए। मौला आमतौर पर दूसरे स्ट्राइकर के तौर पर खेलते हैं।

1. फिलिप अदजा (भवानीपुर एफसी)

नेरोका एफसी के पूर्व खिलाड़ी फिलिप भवानीपुर एफसी के सबसे अहम खिलाड़ी थे और उन्होंने दो गोल किए। पहला मैच बेंगलुरु एफसी यूनाइटेड के खिलाफ था जिसमें उन्होंने टाइट एंगल से शॉट खेलकर गोल किया था वहीं इसके बाद अगला गोल गढ़वाल के खिलाफ किया। हालांकि, उनका यह प्रदर्शन टीम को क्वॉलीफाई कराने में नाकाम रहा क्योंकि टीम को तीसरे मुकाबले में मोहम्मडन के खिलाफ 2-0 से हार का सामना करना पड़ा था।