इंडियन क्लब के पास टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने का मौका है।

एएफसी चैंपियंस लीग के ग्रुप स्टेज मुकाबले में 14 अप्रैल 2021 को एफसी गोवा का सामना अल रय्यान से होगा। गौर्स पहला भारतीय क्लब होगा जो इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेगा। एफसी गोवा ने इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पिछले सीजन में टेबल टॉप करते हुए एएफसी चैंपियंस लीग के ग्रुप स्टेज में जगह बनाई थी।

अब जल्द ही एफसी गोवा कतर के जाने माने क्लब अल रय्यान का सामना करेगा। हालांकि, गौर्स के लिए टूर्नामेंट हरगिज भी आसान नहीं होने वाला है, क्योंकि उनका सामना पिछले एडिसन के उप विजेता पर्सपोलिस एफसी से भी होगा। ग्रुप ई स्टेज में इंडियन क्लब का तीसरा मुकाबला किस टीम से होगा ये अभी कंफर्म होना बाकी है।

ये सारे मुकाबले गोवा में ही होने हैं, ऐसे में होम ग्राउंड का फायदा गौर्स को मिल सकता है। हालांकि, इस दौरान गौर्स की परफोर्समेंस का दारोमदार कुछ महत्वपूर्ण खिलाड़ियों पर रहेगा। उन खिलाड़ियों में से पांच खिलाड़ियों के बारे में हम आपको बता रहे हैं, जिनके बूते टूर्नामेंट में एफसी गोवा कुछ कमाल कर सकती है:

5. सेरिटन फर्नांडिस

सेरिटन फर्नांडिस का ये सीजन काफी बेहतर बीता। राइट फ्लैंक पर उनकी परफॉर्मेंस लगातार अच्छी बनी रही, जिसका फायदा गौर्स को मिलता रहा। विरोधी खेमे के अटैकर्स को छकाने में ये 28 साल का खिलाड़ी काफी माहिर है। राइट बैक पर खेलने वाले फर्नांडिस खतरनाक क्रासेस करने की काबिलियत भी रखते हैं, जिसका खामियाजा विरोधी टीम को भुगतना पड़ सकता है।

दूसरी तरफ उनकी डिफेंसिव अवेयरनेस के तो फैंस भी कायल हैं। इसकी बानगी के तौर पर बताएं तो फर्नांडिस ने 48 टैकल, 26 इंटरसेप्सन, 36 क्लियरेंसेस और 21 ब्लॉक किए हैं, जो डिफेंस के क्षेत्र में उनकी काबिलियत का ही प्रदर्शन है।

4. ब्रैंडन फर्नांडिस

ISL 2019-20 Brandon Fernandes FC Goa Vs Odisha FC
ब्रैंडन ने गोवा के लिए अबतक दमदार प्रदर्शन किया है।

मिडफील्डर ब्रैंडन फर्नांडिस आईएसएल के सबसे क्रिएटिव डॉमेस्टिक प्लेयर्स में से एक हैं। हालांकि चोटिल होने के कारण वो सिर्फ 11 बार ही मैदान पर दिखे। लेकिन जिस-जिस मुकाबले में वो मैदान पर उतरे, उनमें उनका परफॉर्मेंस काफी शानदार रहा। 26 साल के इस खिलाड़ी ने इस दौरान 26 असिस्ट किए और ये इससे भी बेहतर करने की क्षमता रखते हैं।

3. आदिल खान

आदिल खान जनवरी 2021 में एफसी गोवा के साथ जुड़े और उन्होंने 12 मैच खेले। इस दौरान टीम को आखिर तक ले जाने में उनका काफी अहम रोल रहा था। 3+1 फॉरन पॉलिसी के कारण सेंटर बैक आदिल खान एएफसी चैंपियन लीग के फिक्चर्स में गौर्स की टीम के मुख्य खिलाड़ी होंगे। पॉलिसी के मुताबिक मैनेजमेंट पूरे लाइनअप में सिर्फ चार विदेश खिलाडियों को ही खिला सकता है, ऐसे में बैक में टीम को एक अनुभवी डॉमेस्टिक खिलाड़ी की जरूरत होगी।

आदिल खान काफी अनुभवी हैं और भारतीय टीम का भी नेतृत्व कर चुके हैं। ऐसे में 32 साल के इस खिलाड़ी से उम्मीदें हैं कि एसीएल में भी उनका आईएसएल वाला परफॉर्मेंस जारी रहे।

2. जॉर्ज ऑर्टिज

आईएसएल में ऑर्टिज का डेब्यू शानदार रहा। उन्होंने कुल 21 मैच खेले और 6 गोल दागे। इस दौरान उन्होंने कुछ शानदार असिस्ट भी किए। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि ऑर्टिज फील्ड पर बॉल के साथ काफी सहज दिखे और उनकी वर्सेटिलिटी से फैंस भी काफी प्रभावित हुए। 28 साल के इस खिलाड़ी ने गोल पर 71 शॉट्स दागे, जोकि इस कॉम्पटिशन में किसी एक खिलाड़ी की ओर से मारे जाने वाले सर्वाधिक शॉट्स थे। गौर्स के लिए ऑर्टिज अटैकिंग थर्ड में एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

1. इगोर एंगुलो

फैरन कोरोमिनास को रिप्लेस करना इतना आसान नहीं था, लेकिन फिर भई इगोर एंगुलो सभी उम्मीदों पर खरे उतरे। इगोर ने अपने डेब्यू सीजन में 21 मुकाबले खेले, जिनमें 14 गोल दागे और इसी के साथ आईएसएल के जॉइंट टॉप स्कोरर भी बन गए। एफसी गोवा की अटैकिंग लाइन का एंगुलो एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। उनकी उपस्थिति ही गौर्स के लिए काफी जरूरी है। 37 साल के इस खिलाड़ी को अगर मिडफील्डर्स का सपोर्ट मिला तो ये किसी भी विरोधी खेमे के लिए मुश्किल पैदा कर सकते हैं।