Khel Now logo
HomeSportsIPL 2024Live Score

क्रिकेट न्यूज

MS Dhoni द्वारा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेली गई पांच सर्वश्रेष्ठ पारियां

Published at :July 8, 2023 at 12:58 AM
Modified at :July 8, 2023 at 12:58 AM
Post Featured Image

Neetish Kumar Mishra


Advertisement

इन पांच पारियों के अलावा भी धोनी ने भारत के लिए अनगिनत अनमोल पारियां खेला है।

यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि MS Dhoni विश्व क्रिकेट के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक थे। उन्होंने अपने समय में आईसीसी की सभी तीनों ट्रॉफियाँ जीतकर भारत को गौरवान्वित किया था और आपको यह जानकर ताज्जुब होगा कि वह क्रिकेट की दुनिया में इकलौते ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने टी20 वर्ल्ड कप, वनडे वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीता है। धोनी ने साल 2020 में सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट के जरिए अपने संन्यास की घोषणा की और विश्व भर के चाहने वालों का दिल तोड़ दिया।

सिर्फ कप्तानी के नजरिए से ही नहीं बल्कि गेम को फिनिश करने की क्षमता के मद्देनजर MS Dhoni को दुनिया का सबसे बड़ा फिनिशर माना जाता है। वनडे क्रिकेट में अधिकतर समय नंबर 5 से लेकर नंबर 7 पर बल्लेबाजी करने के बावजूद उन्होंने 50 से अधिक औसत के साथ 10 हजार से अधिक रन बनाए हैं। उन्होंने भारत को कई सारे ऐसे मैचों में जीत दिलाई है जिसमें टीम का जीतना काफी मुश्किल था। आइए एमएस धोनी द्वारा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेली गई 5 सर्वश्रेष्ठ पारियों पर एक नजर डालते हैं।

224 vs ऑस्ट्रेलिया, पहला टेस्ट, चेन्नई 2013:

साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए चार मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट मैच चेन्नई में खेला गया था। इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहली पारी में 380 रन बनाए थे। इसके बाद अपनी पहली पारी खेलने उतरी भारतीय टीम ने 196 के स्कोर पर 4 विकेट खो दिए थे। सचिन तेंदुलकर (81) के आउट होने के बाद एमएस धोनी नंबर 6 पर बल्लेबाजी करने उतरे।

धोनी ने इस पारी में 265 गेंदों पर 24 चौकों और 6 छक्कों की मदद से 224 रनों की बेहतरीन पारी खेलकर इतिहास रच दिया और पहली पारी में अपनी टीम का स्कोर 572 तक पहुँचाने में बड़ा योगदान दिया, जिसके चलते भारत को 192 रनों की बढ़त मिली। इस बीच उन्होंने विराट कोहली के साथ मिलकर 5वें विकेट के लिए 128 रनों की बेहतरीन साझेदारी भी की। भारत ने यह मुकाबला 8 विकेट से जीत लिया था।

134 vs इंग्लैंड, दूसरा वनडे, कटक, 2017:

MS Dhoni द्वारा साल 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ कटक में खेले गए तीन मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मुकाबले में खेली गई 134 रनों की पारी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे बेहतरीन पारियों में से एक मानी जाती है। इस मुकाबले में भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करती हुई मात्र 25 के स्कोर पर 3 विकेट गवां चुकी थी। इसके बाद धोनी पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए थे। उन्होंने इस मुकाबले में 10 चौके और 6 छक्के लगाए थे।

धोनी ने इस मुकाबले में युवराज सिंह के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 256 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी की थी। इसी के चलते भारतीय टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में 6 विकेट खोकर 381 रन बनाए थे और 15 रनों से जीत हासिल की थी। हालांकि, युवराज ने इस मैच में 127 गेंदों पर 150 रनों की करियर बेस्ट पारी खेली थी, जिसके चलते उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया था। आपको यह भी याद दिला दें कि यह पहली ऐसी सीरीज थी, जिसमें एमएस धोनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कप्तानी छोड़ने के बाद विराट कोहली के नेतृत्व में खेल रहे थे।

183* बनाम श्रीलंका, तीसरा वनडे, जयपुर 2005:

MS Dhoni ने अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर साल 2005 में श्रीलंका के खिलाफ जयपुर में खेले गए तीसरे वनडे में बनाया था। इस मुकाबले में श्रीलंकाई टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 4 विकेट खोकर 298 रन बनाए थे और भारत के सामने 299 रनों का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा था। इन दिनों 300 के आसपास का लक्ष्य हासिल करना काफी मुश्किल हुआ करता था।

इस मुकाबले में भारतीय टीम ने सचिन तेंदुलकर (2) के रूप में जल्दी ही अपना पहला विकेट खो दिया और MS Dhoni को पहली बार नंबर तीन पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया। उन्होंने इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाते हुए 145 गेंदों में 15 चौकों और 10 छक्कों की मदद से 183 रनों की नाबाद पारी खेली थी। भारत ने मात्र 46.1 ओवरों में इस लक्ष्य को हासिल कर लिया। बता दें कि धोनी द्वारा खेली गई 183 रनों की यह पारी वनडे क्रिकेट में किसी भी विकेट कीपर बल्लेबाज द्वारा खेली गई सर्वश्रेष्ठ पारी है।

113* बनाम पाकिस्तान, पहला वनडे, 2012:

अपने समय में MS Dhoni वनडे क्रिकेट इतिहास के इकलौते ऐसे खिलाड़ी थे जिन्होंने वनडे क्रिकेट में नंबर 7 पर बल्लेबाजी करते हुए 2 शतक जड़ा था। इसमें से एक शतक पाकिस्तान के खिलाफ साल 2012 में चेन्नई में खेले गए मुकाबले में आया था। यह आखिरी बार था जब पाकिस्तान ने कोई द्विपक्षीय सीरीज खेलने के लिए भारत का दौरा किया था। (नोट: न्यूजीलैंड के माइकल ब्रेसवेल भी नंबर 7 पर बल्लेबाजी करते हुए 2 शतक जड़ चुके हैं।)

इस मुकाबले में पाकिस्तान ने पहले टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया था और मात्र 29 के स्कोर पर भारत के 5 बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखा दी थी। इसके बाद MS Dhoni क्रीज पर उतरे और उन्होंने सुरेश रैना (43) और रविचंद्रन अश्विन (31*) के साथ मिलकर 125 रनों की नाबाद साझेदारी की। 

धोनी ने इस मुकाबले में 125 गेंदों पर 7 चौकों और तीन छक्कों की मदद से 113 रनों की बेहतरीन पारी खेली और भारत को 227 के सम्मानजनक इसको तक पहुंचाने में मदद की। हालांकि, भारत को इस मुकाबले में 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन फिर भी MS Dhoni को उनकी बेहतरीन पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया था।

91* बनाम श्रीलंका, वर्ल्ड कप फाइनल, मुम्बई, 2011:

MS Dhoni द्वारा साल 2011 के वर्ल्ड कप फाइनल में खेली गई 91 रनों की नाबाद पारी उनके सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक में गिनी जाती है। उन्होंने इस मैच में युवराज सिंह से पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लेकर सबको चौंका दिया था, लेकिन उनका यह निर्णय सही साबित हुआ जब उन्होंने इस तरह की बेहतरीन पारी खेलकर अपनी टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचाया और भारत को 28 साल बाद आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप की ट्रॉफी दिलाई।

इस मुकाबले में श्रीलंकाई टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 4 विकेट खोकर 286 रन बनाए थे। जवाब में उतरी भारतीय टीम ने वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर के रूप में जल्द ही 2 विकेट खो दिए थे। इस मुकाबले में MS Dhoni नंबर 5 पर बल्लेबाजी करने उतरे थे और उन्होंने आठ चौकों और दो छक्कों की मदद से 91* रनों की बेहतरीन पारी खेली थी।

For more updates, follow Khel Now Cricket on FacebookTwitterInstagramYoutube and join our community on Telegram.

Latest News
Advertisement
Advertisement