पूर्व भारतीय कप्तान के मुताबिक पूरी तरह से फिट खिलाड़ी स्किलफुल प्लेयर से ज्यादा सफलता हासिल कर सकता है।

​भारतीय कबड्डी टीम के पूर्व कप्तान अजय ठाकुर मैदान में अपने शांत स्वभाव के लिए जाने जाते हैं। परिस्थिति चाहे कैसी भी हो अजय ठाकुर एकदम शांत रहते हैं और इसीलिए उन्हें “आइसमैन” भी कहा जाता है। उनके पास रनिंग हैंड टच और किक जैसे बेहतरीन मूव हैं। इसके अलावा उनका सिग्नेचर मूव फ्रॉग जम्प भी काफी मशहूर है।

अक्सर युवा खिलाड़ी उनसे रेडिंग के टिप्स लेते हैं। अजय ठाकुर के मुताबिक कबड्डी के खेल में फिटनेस का काफी अहम रोल होता है और एक खिलाड़ी के लिए पूरी तरह फिट होना काफी जरुरी है। प्रो कबड्डी लीग के लाइव चैट शो “बियोंड द मैट” में उन्होंने बताया कि एक बेहतरीन रेडर के लिए सबसे चीज जरुरी क्या है।

उनके मुताबिक युवा रेडर्स को अपनी फिटनेस पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा, “किसी भी युवा रेडर के लिए फिटनेस सबसे जरूरी चीज है। अगर एक खिलाड़ी पूरी तरह फिट है तो फिर वो ज्यादा स्किल वाले प्लेयर को मात दे सकता है। वो अपनी स्ट्रेंथ से कई सारे डिफेंडर्स को एक साथ छका सकता है। वहीं जब एक रेडर केवल स्किल पर ध्यान देता है तो इस तरह की परिस्थितियों में फंस जाता है।”

अजय ठाकुर ने प्रो कबड्डी लीग के दो अहम खिलाड़ियों का उदाहरण दिया और बताया कि ये खिलाड़ी केवल अपनी फिटनेस की वजह से ही इतने सफल हैं। पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, “उदाहरण के लिए संदीप नरवाल रेडिंग टेक्निक और स्किल से ज्यादा अपनी स्ट्रेंथ पर निर्भर हैं। सिद्धार्थ देसाई भी एक बड़ा उदाहरण हैं जिन्होंने अपनी फिटनेस की वजह से इतनी सफलता हासिल की। दूसरी तरफ शब्बीर बापू एक बहुत ही स्किलफुल प्लेयर हैं और नवीन कुमार भी अपनी स्किल पर काफी ज्यादा निर्भर करते हैं। सबके पास अपना टैलेंट है लेकिन एक बेसिक फिटनेस से ना केवल एडवांटेज मिलता है बल्कि ये जरुरी भी होता है।”

उनके मुताबिक अनुभव के साथ स्किल को निखारा जा सकता है लेकिन अगर कोई युवा खिलाड़ी बार-बार चोटिल होता है तो उसका करियर पीक पर आने से पहले ही खत्म हो जाएगा। इसीलिए अगर एक प्लेयर को शुरुआती सालों का फायदा उठाना है तो फिर उसे फिटनेस पर ध्यान देना चाहिए।

उन्होंने कहा, “अगर आपके पास शुरुआत में स्पीड और पावर है तो फिर आप जिस तरह से चाहें रेडिंग कर सकते हैं और सफल हो सकते हैं। ये युवा खिलाड़ियों के लिए काफी जरुरी है।”