टीम इस सीजन में दमदार प्रदर्शन कर रही थी।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन 8 के आयोजकों को तीन बार की चैंपियन पटना पाइरेट्स के मैच रिशिड्यूल करने पड़े हैं। इसके पीछे की वजह पटना पाइरेट्स के कैंप में आए कोविड-19 के मामलों को बताया जा रहा है। सबसे पहले टीम का गुरुवार का मैच रिशिड्यूल किया गया था जिसके बाद कोरोना को लेकर शक गहरा गया। शनिवार, 22 जनवरी को पीकेएल में तीन मुकाबले खेले जाने है। दिन के पहले ही मैच में पटना पाइरेट्स का सामना पुनेरी पटलन से होना था, हालांकि अब इस मैच को भी रिशिड्यूल कर दिया गया है।

अब यह मुकाबला कब खेला जाएगा इसे लेकर कोई जानकारी फिलहाल नहीं दी गई है। शनिवार को अब पटना पाइरेट्स की जगह बेंगलुरु बुल्स का सामना पुनेरी पलटन से होगा। पटना को गुरुवार को बेंगलुरु बुल्स के खिलाफ ही मैच खेलना था।

सूत्रों के मुताबिक, “पटना पाइरेट्स की टीम में कोरोना के मामले सामने आए हैं और आयोजक टीम को इससे उबरने का समय देना चाहते हैं। इन मैचों को रिशिड्यूल करने का फैसला अचानक किया गया। ऐसा माना जा रहा है कि पटना पाइरेट्स के खिलाड़ी और स्टाफ के कुछ सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जिसके कारण यह फैसला लिया गया है। आयोजकों ने पटना पाइरेट्स को स्थिति से निपटने के लिए समय दिया है।”

उन्होंने कहा, “वे चाहते हैं कि खिलाड़ी फिट होकर मैट पर लौटें। हालांकि, उनकी उम्मीदों को तब झटका लगा जब उन्हें पता चाल कि एक और पीकेएल टीम में कोरोना के मामले सामने आए हैं।”

हालांकि, पटना पाइरेट्स या पीकेएल की ओर से अब तक इस मामले को लेकर कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। पिछले मैच में बेंलगुरु बुल्स के खिलाफ पटना को मैट पर उतरना था लेकिन उसकी जगह बंगाल वॉरियर्स की टीम मैच में खेलने आई थी। मनिंदर सिंह की कप्तानी वाली बंगाल ने रोमांचक मैच में बेंगलुरु बुल्स को 40-39 से मात दी थी। पटना पाइरेट्स की टीम लीग में मजबूत स्थिति में थी ऐसे में इस सबसे टीम के खेल पर भी असर हो सकता है।

आपको बता दें कोरोना के कारण इस बार लीग को बायो बबल में आयोजित किया जा रहा है और लीग के सभी मैचों को एक ही जगह कराने का फैसला किया गया था। इस बार लीग के सभी मैच बेंगलुरु के शेरातन ग्रैंड में खेले जा रहे हैं। इस सीजन के लिए फैंस को दो साल तक का इंतजार करना पड़ा था क्योंकि साल 2020 में कोरोना के कारण ही लीग का आयोजन नहीं किया गया था।