दबंग दिल्ली की टीम लीग की सबसे कामयाब टीम है।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन 8 में शनिवार को दो मुकाबले खेले जाएंगे। पहला मैच गुजरात जायंट्स और दबंग दिल्ली के बीच खेला जाएगा वहीं दूसरा मुकाबला बंगाल वॉरियर्स और तेलुगू टाइटंस के बीच खेला जाएगा। पहला मैच शाम साढ़े 7 बजे और दूसरा मुकाबला रात साढ़े 8 बजे शुरू होगा।

गुजरात जायंट्स Vs दबंग दिल्ली

दिल्ली और गुजरात की टीमें पिछली बार 26 जनवरी को आमने-सामने आई थी। वह मुकाबला 24-24 से ड्रॉ रहा था। गुजरात कोरोना के प्रकोप में आने के बाद पहली बार मैट पर उतरेगी। पीकेएल 8 में वह अब तक 11 मैच खेल चुकी है। इन मैचों में से उसने तीन में जीत हासिल की तीन में उसे हार मिली है वहीं टीम के तीन मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। टीम ने अपने पिछले मुकाबले तमिल तलाइवाज को मात दी थी। हालांकि इस मैच के बाद कुछ खिलाड़ी कोरोना की चपेट में आ गए थे।

पिछले पांच मैचों की बात करें तो टीम को केवल दो में ही जीत हासिल हुई है। एचएस राकेश टीम के इकलौते खिलाड़ी हैं, जो हर मैच में टीम के लिए अच्छा कर रहे हैं। महेंदर सिंह और परदीप कुमार को उनका साथ देना होगा। टीम की डिफेंस ने पिछले पीकेएल मैच में जरूर अच्छा प्रदर्शन किया था और फिर से उसे दोहाना चाहेगी।

दबंग दिल्ली की टीम पीकेएल 8 की सबसे कामयाब टीम है। टीम ने अब तक जो 13 मुकाबले खेले हैं उसमें से वह सात में जीत हासिल करने में कामयाब रही है वहीं चार में उसे हार का सामना करना पड़ा है। पिछले मैच देखें तो उसे दो में जीत और तीन में हार का सामना करना पड़ा है। लगातार दो हार झेलने के बाद यह टीम वापसी के लिए बेताब होगी। टीम को पिछले मुकाबले पुनेरी पलटन के खिलाफ बड़ी हार का सामना करना पड़ा था।

इसकी मुख्य वजह थी टीम का खराब डिफेंस। कृष्ण के अलावा कोई भी रेडर अंक हासिल नहीं करला। मनजीत छिल्ली और संदीप को डिफेंस की जिम्मेदारी लेनी पड़ी। वही रेडिंग की बात करें तो विजय ने 8 और नीरज नरवाल ने छह अंक हासिल किए थे। टीम चाहेगी कि इस बार अपने प्रदर्शन में सुधार करें।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग 7

गुजरात जायंट्स: सुनील कुमार, हादी ओशतरक, राकेश, प्रदीप कुमार, महेंद्र गणेश राजपूत, परवेश भैंसवाल और अंकित।

दबंग दिल्ली: सुरिंदर सिंह, संदीप कंडोला, राकेश गौड़ा, अंकित बेनीवाल, आकाश चौधरी, टी आदर्श और सी अरुण।

तेलुगू टाइटंस Vs बंगाल वॉरियर्स

मौजूदा चैंपियन बंगाल वॉरियर्स की टीम धीमी शुरुआत के बाद अब धीरे-धीरे अंकतालिका के टॉप ग्रुप में शामिल हो चुकी है। टीम ने अब तक 14 मैच खेले हैं जिसमें से उसे सात में जीत मिली है वहीं छह मैचों में उसके हिस्से में हार आई है। टीम का एक मुकाबला ड्रॉ रहा है। पिछले पांच पीकेएल मैचों की बात करें तो उसे केवल एक में ही हार का सामना करना पड़ा है। टीम की सबसे बड़ी ताकत है उसके स्टार रेडर मनिंदर सिंह।

मनिंदर इस सीजन शानदार फॉर्म में हैं और उन्हें मजबूत डिफेंस वाली टीमें भी रोकने में नाकाम रही हैं। मनिंदर के अलावा कोई दूसरा रेडर टीम के लिए नियमित प्रदर्शन नहीं कर पाया है। आकाश पिकलमुंडे और मोहम्मद नबीबक्श पूरी तरह से फ्लॉप रहे हैं। टीम में रण सिंह की वापसी और उनकी फॉर्म ने डिफेंस को मजबूत कर दिया है। अमित निरवाल और अबोजर मिघानी भी अच्छी फॉर्म में है।

तेलुगू टाइटंस के लिए अगले राउंड में जाने की उम्मीदें लगभग खत्म ही हो चुकी हैं। अब तक पीकेएल 8 में 13 मैच खेल चुकी यह टीम केवल एक ही जीत हासिल कर पाई है। उसे 10 मैचों में हार मिली है वहीं तीन मुकाबलों में उसे हार का सामना करना पड़ा था। टीम कई बार जीत के करीब आई लेकिन अंतिम समय में कुछ गलतियों का उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ा और टीम जीत से महरूम रह जाती थी।

हालांकि टीम की डिफेंस ने अपना दम दिखाया है लेकिन अंतिम समय में गलतियों से बचना होगा। बंगाल के खिलाफ जीत हासिल करनी है, तो मनिंदर सिंह को रोकना होगा। टाइटंस की डिफेंस अगर वॉरियर्स के रेडर्स को रोक लेती है तो टीम को इस पीकेएल सीजन की दूसरी जीत मिल सकती है।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग 7

बंगाल वॉरियर्स: मनिंदर सिंह, रण सिंह, अबोजार मिघानी, मोहम्मद इस्माइल नबीबक्श, अमित नरवाल, सुकेश हेगड़े और विजिन थंगादुरई।
तेलगू टाइटंस: नवीन कुमार, जोगिंदर नरवाल, अजय ठाकुर, विजय मलिक, मंजीत छिल्लर, संदीप नरवाल और जीवा कुमार।