दोनों टीमों का यह तीसरा मैच था।

पहले हाफ में एक समय पांच अंकों के पीछे चल रही तीन बार की चैम्पियन पटना पाइरेट्स ने दूसरे हाफ में अपने आलराउंड प्रदर्शन के दम पर शेरेटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड, बेंगलुरू में जारी वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 17वें मैच में मंगलवार को पुनेरी पल्टन को 38-26 से हरा दिया। दूसरे हाफ में पटना ने पल्टन को दो बार आलआउट किया।

राहुल चौधरी 10 मिनट बाद ही सब्सीट्यूट कर दिए गए। उनके अलावा भी पल्टन का कोई भी रेडर उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सका औऱ इस तरह टीम को दूसरी हार मिली। पटना की ओर से सचिन तंवर ने सुपर-10 लगाया लेकिन पल्टन की ओर से मोहित गोयत सात अंकों के साथ सबसे सफल खिलाड़ी रहे। शोमैन चौधरी चार रेड से एक अंक लेकर 15 मिनट बाहर ही बैठे रहे।

दोनों टीमों का पीकेएल के आठवें सीजन में यह तीसरा मैच था। पटना की टीम दो जीत और एक हार से 11 अंक लेकर 12 टीमों की तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंच गई है। पल्टन के खाते में पांच अंक हैं। उसे भी एक मैच में जीत और दो में हार मिली है।

पल्टन ने 3-1 की लीड के साथ शुरुआत की लेकिन पटना ने जल्द ही 3-3 से बराबरी कर ली। शुरुआती छह मिनट बीतने के बाद स्कोर 5-5 था। प्रशांत राय ने इसी स्कोर पर संकेत सावंत को झांसा देते हुए पहली बार पटना को 6-5 की लीड दिलाई। इसी स्कोर पर डू ओर डाई रेड पर आए असलम इनामदार ने दो अंक लिए और पल्टन को 7-6 से आगे कर दिया। पल्टन ने चेन टैकल पर डू ओर डाई रेड पर आए सचिन तंवर को टैकल कर 2 अंकों की लीड ले ली।

इसके बाद प्रशांत ने एक अंक लिया जबकि पल्टन ने लगातार तीन अंक लेते हुए 11-7 की लीड ले ली। पल्टन का डिफेंस भी हाथ खोलने लगा था। सोमवीर ने प्रशांत को आउट कर स्कोर 12-7 कर दिया। पटना की टीम वापसी की राह पर थी। एक समय यह आलआउट के कगार पर थी लेकिन अब उसके छह खिलाड़ी मैट पर थे औऱ दोनों टीमों के बीच का फासला एक अंक का रह गया था।

मोनू डू ओर डाई रेड पर आए लेकिन डिफेंडर को टच करने से पहले लाबी में चले गए। उनके साथ तीन डिफेंडर भी लाबी में गए। तीनों डिफेंडर आउट हुए। पल्टन ने इसे चैलेंज किया। रिव्यू नाकाम रहा। पटना को तीन अंक मिले और मोनू के आउट होने पर पल्टन को एक अंक मिला। अब पटना 14-13 की लीड में थे। पल्टन ने एक और अंक लिया, हालांकि अब वे आलआउट के करीब थे। इसी स्कोर पर पहला हाफ समाप्त हुआ। पीकेएल के इस मैच में ब्रेक के बाद पल्टन आलआउट हो गए। पटना की टीम अब 18-14 की लीड से चुकी थी।

सचिन तंवर ने दो अंक लेते हुए पीकेएल के इस मैच का स्कोर 21-15 कर दिया। पटना का डिफेंस अब सतर्क हो गया था। उसने एक औऱ अंक लेकर स्कोर 22-15 कर दिया। सुपर टैकल आन था पल्टन के लिए। मोनू डू ओर डाई रेड पर थे। वह सुपर टैकल हुए औऱ इस तरह पल्टन को दो अंक मिले। स्कोर 18-22 हो चुका था।

पल्टन आलआउट के खतरे से उबर चुके थे क्योंकि प्रशांत को टैकल करने के बाद उनके छह खिलाड़ी मैट पर आ चुके थे और स्कोर 19-22 हो गया था। पल्टन ने बीते पांच मिनट में पांच अंक निकाले। अंतिम 10 मिनट का खेल बचा था और स्कोर पटना के पक्ष में 24-20 था। दोनों टीमें पीकेएल के इस मैच में रिस्क नहीं ले रही थीं। दोनों एक दूसरे को डू ओर डाई रेड पर ही खिला रही थीं। सचिन ने अपनी अगली रेड पर दो अंक लेकर पटना को 6 अंकों की लीड दिला दी। पटना ने पल्टन को दूसरी बार आलआउट कर 31-21 की अहम लीड ले ली। प्रशांत ने अगली रेड पर दो अंक लेकर लीड 12 अंकों की कर दी।

पटना का डिफेंस भी चल पड़ा था। असलम को आउट कर स्कोर 34-21 कर दिया गया। जर्सी पुलिंग को लेकर पटना को एक अंक मिला। डू ओर डाई रेड पर सचिन को सुपर टैकल कर दो अंक प्राप्त किए। दो मिनट से भी कम समय बचा था। डिफेंडर अभिनेष दो अंक लेकर आए औऱ स्कोर 26-36 किया। इसी बीच सचिन ने सुपर टैकल पूरा किया। पटना का डिफेंस भी लगातार अंक ले रहा था और इसी का नतीजा हुआ कि पटना ने बड़े अंतर से जीत हासिल की।

हरियाणा ने सीजन की पहली जीत दर्ज की

हरियाणा स्टीलर्स ने दो लगातार हार के बाद आखिरकार पीकेएल के आठवें सीजन में जीत का स्वाद चख लिया है। अपने नए हीरो मीतू (12 अंक) के पहले सुपर-10 और डिफेंस के शानदार खेल की बदौलत हरियाणा ने अपने तीसरे मैच में मंगलवार को तेलुगू टाइटंस को 39-37 से हराया।

स्टीलर्स के लिए आलराउंडर रोहित गुलिया ने भी आठ अंक बटोरे। दूसर ओर, टाइटंस के लिए आज का दिन अच्छा नहीं था क्योंकि उसके दो बड़े स्टार सिद्धार्थ देसाई और रोहित कुमार अधिकांश समय तक मैट से बाहर रहे। देसाई 25वें मिनट से बाहर थे। हालांकि 9 अंक लेने वाले देसाई की गैरमौजूदगी में अंकित बेनीवाल ( अंक) ने टीम की वापसी करानी चाही लेकिन डिफेंस की नाकामी के कारण एसा नहीं हो सका। टाइटंस का डिफेंस दूसरे हाफ में सिर्फ दो टैकल प्वाइंट हासिल कर सका।

पीकेएल सीजन 8 में अपनी पहली जीत के लिए प्रयासरत हरियाणा ने चार बोनस और एक टैकल प्वाइंट के दम पर शुरुआती दो फ मिनट में 5-2 की लीड ले चुका था। टाइटंस ने हालांकि लगातार तीन अंकों के साथ स्कोर बराबर कर लिया। विकास को आउट कर टाइटंस के डिफेंस ने पहली बार 6-5 की लीड ली। स्टीलर्स ने अगली रेड पर सिद्धार्थ को लपक कर सुपर टैकल पूरा किया और स्कोर 7-6 कर दिया। इसके बाद मीतू ने डुबकी पर दो अंक लेकर लीड 9-6 कर दी।

हरियाणा को डिफेंडर की गलती से एक अंक मिला लेकिन विकास कंडोला के खिलाफ सुपर टैकल कर टाइटंस ने स्कोर 9-11 कर लिया। अगली रेड पर देसाई ने बोनस लिया। मीतू की रेड पर स्टीलर्स को दो अंक मिले। फिर टाइटंस को आलआउट कर स्टीलर्स ने 16-11 की लीड ले ली। ब्रेक के बाद देसाई मैट पर नहीं लौटे। कलाई के इलाज के लिए वह बाहर हैं। रोहित भी 11वें मिनट से बाहर हैं। इसी बीच हरियाणा ने एक अंक लेते हुए 24-19 की लीड ले ली। मीतू ने डू ओर डाई रेड पर एक और डुबकी लगाई औऱ दो अंक लिए। इसके बाद टाइटंस को दूसरी बार आलआउट कर हरियाणा ने 30-21 की लीड ले ली।

इसके बाद हरियाणा को दो अंक औऱ मिले। अंकित बेनीवाल सुपर रेड के साथ तीन अंक हासिल किए औऱ टाइटंस को वापसी की राह पर ले आए। स्कोर 24-32 हो गया था। इसके बाद हरियाणा को दो तथा टाइटंस को एक अंक मिले।

मीतू ने अपने तीसरे मुकाबले में सुपर-10 पूरा कर हरियाणा को 36-26 से आगे कर दिया। राकेश गौड़ा ने अपनी अगली रेड पर बोनस लिया लेकिन आउट कर दिए गए। स्कोर हरियाणा के पक्ष में 37-28 था। रोहित बेनीवाल डू ओर डाई रेड पर आउट हुए और इस तरह टाइटंस का सुपर टैकल पूरा हूआ।

बेनीवाल को रवि ने टैकल कर हरियाणा को पांच अंकों से आगे कर दिया। बेनीवाल का जाना टाइटंस के लिए झटका था क्योंकि समय बहुत कम बचा था। इस बीच जयदीप ने टाइटंस को एक अंक दिया। गुलिया ने समय बर्बाद कर खाली रेड किया। अगली रेड पर टाइटंस को एक अंक मिला। गुलिया अब डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन वह लपके गए। टाइटंस को एक अंक मिला लेकिन उनकी रेड की बारी नहीं आई। इस तरह हरियाणा को सीजन की पहली जीत मिली।