इस बार सीजन 7 की विजेता टीम काफी मजबूत लग रही है।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) का 9वां सीजन अक्टूबर में शुरू होने वाला है। सभी टीमें तैयारी में जुट गई हैं। इस बार बंगाल वारियर्स की टीम काफी मजबूत लग रही है, वजह है उनका रॉक-सॉलिड रेडिंग यूनिट। साथ ही दीपक निवास हुड्डा जैसे दिग्गज ऑल-राउंडर को टीम ने 43 लाख में अपनी टीम में शामिल कर डिफेंस और रेडिंग दोनों को और मजबूत किया है। क्या पीकेएल सीजन 9 के लिए तैयार है की टीम? जानिए इस आर्टिकल में।

रिटेन्ड रेडर्स पर है भरोसा

टीम में मनिंदर सिंह के नेतृत्व में पांच रेडर लिए हैं। 993 रेड पॉइंट्स के साथ ये सीनियर रेडर 1000 रेड पॉइंट्स हासिल करने के लिए पूरी तरह तैयार है। डू ऑर डाई एक्सपर्ट श्रीकांत जाधव के साथ उनकी जोड़ी पूरी तरह से तैयार है। बंगाल वारियर्स निश्चित रूप से इस सीजन में एक शक्तिशाली रेडिंग यूनिट है। श्रीलंका के खिलाड़ी असलम साजा मोहम्मद थंबी अपने रेडिंग कौशल से इस सीजन सबको चौंका सकते हैं।

स्टार ऑलराउंडर दीपक निवास हुड्डा का टीम में शामिल होना :

ऑलराउंडर दीपक हुड्डा 43 लाख के प्राइस टैग के साथ सबसे बड़ी उपलब्धि टीम के लिए साबित हो सकते हैं। दीपक के अनुभव का फायदा टीम को मिल सकता है। वो रेडिंग और डिफेंस दोनों में माहिर है, देखना होगा इस सीज़न उनके आने से टीम का संतुलन कैसे बनता है।

टीम में नए कोच के भास्करन का होना

पिछले सीजन बंगाल वारियर्स की टीम प्लेऑफ तक नहीं पहुंच पायी थी, क्योंकि जब रेडिंग की बात आती है तो कुल मिलाकर टीम ने 22 मैचों में केवल 477 रेड पॉइंट्स हासिल किए। इस बार बंगाल वारियर्स ने दिग्गज के भास्करन को पीकेएल के 9वें सीजन के लिए अपना नया कोच नियुक्त किया हैं। दिग्गज के भास्करन पहले सीजन से ही एक लोकप्रिय नाम रहे हैं क्योंकि उन्होंने कोच के रूप में जयपुर पिंक पैंथर्स को पहला पीकेएल खिताब जीताया था। बंगाल की टीम को भी उनसे इस सीजन इसी परिणाम की उम्मीद होगी। अब हम आपको बताते हैं कि पीकेएल के 9वें सीजन में बंगाल वारियर्स की संभावित प्लेइंग सेवन क्या हो सकती है।

कैसे बनाएंगे सही कॉम्बिनेशन ?

यहां रेडर्स खूब है, पर कौन खेलेगा ?

बंगाल वारियर्स के टीम में स्टार रेडर मनिंदर सिंह है और इनका साथ आकाश पिकलमुंडे निभा सकते है। इन दोनों के साथ टीम में एक स्टार ऑल-राउंडर दीपक निवास हुड्डा टीम में शामिल है जो टीम का संतुलन बनाकर रख सकते है। टीम के पास कुछ युवा रेडर है जैसे असलम थंबी और श्रीकांत जाधव, जिसमें से किसी एक को मैच में निश्चित रूप से खेलने का मौका मिलना चाहिए। लेकिन यहां रेडिंग के कॉम्बिनेशन तय करना मुश्किल फैसला हो सकता है।

डिफेंडर्स की कोई कमी नहीं

टीम का डिफेंस काफी अलग है लेकिन इसमें सुरेंद्र नाड़ा और गिरीश अर्नाक जैसे लेफ्ट कॉर्नर को संभालते वाले दिग्गज खिलाड़ी है, उनमें से किसी एक को टीम में खिलाना मुश्किल फैसला हो सकता है। आशीष कुमार और दीपक निवास हुड्डा जैसे प्रतिभावन ऑल राउंडर टीम में है, यह डिफेंस को और मजबूत बना सकते है। इसके अलावा सुलेमान पहलवानी,वैभव गरजे, अमित शेरोन और परवीन स्टेपल जैसे युवा डिफेंडर्स भी टीम में शामिल किए गए हैं। नए डिफेंडर्स और पुराने डिफेंडर्स अलग अलग जगह पर खेलते नज़र आ सकते हैं, देखना दिलचस्प होगा कि कैसे डिफेंडर्स का कॉम्बिनेशन इस सीज़न बनेगा।

बंगाल वारियर्स कागज़ पर बहुत मज़बूत टीम दिखती है, क्या उनकी तैयारी इस सीजन उनको विजेता बनाएगी ? ये तो उनका प्रदर्शन ही तय करेगा, पीकेएल सीजन 9 के लिए बंगाल की टीम बिल्कुल तैयार दिख रही है। किसी मुख्य खिलाड़ी चोटिल न हो तो टीम का संतुलन पूरे सीजन बरकरार रहेगा।

For more updates, follow Khel Now Kabaddi on Facebook, TwitterInstagram and join our community on Telegram.