इन कोचों के ऊपर अपनी टीम को टाइटल जिताने की जिम्मेदारी होगी।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) का 9वां सीजन अक्टूबर में खेला जाएगा। 22 अक्टूबर से 9वें सीजन का आगाज होगा। सभी टीमें अभी से अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गई हैं। प्रो कबड्डी लीग में किसी भी टीम की सफलता उसके कोच के ऊपर भी डिपेंड करती है। कई बार देखा गया है कि टीमों के सफल होने का क्रेडिट उनके कोच को दिया गया। वहीं टीम को जब हार झेलनी पड़ी तब भी कोच को ही जिम्मेदार ठहराया गया। इसीलिए कोचों की काफी ज्यादा अहमियत है।

पीकेएल-9 से पहले कई टीमों ने अपने-अपने कोचिंग स्टाफ में बदलाव किया। कई टीमों ने नए कोच की नियुक्ति की तो कुछ ने पुराने पर ही भरोसा जताया। हम आपको इस आर्टिकल में पीकेएल के 9वें सीजन के लिए नियुक्त सभी 12 टीमों के कोच के बारे में बताएंगे।

बंगाल वॉरियर्स – काशीनाथ भास्करन

पीकेएल के 9वें सीजन के लिए बंगाल वॉरियर्स ने काशीनाथ भास्करन को अपना हेड कोच नियुक्त किया है। उन्हें बीसी रमेश की जगह कोच बनाया गया है जिनकी अगुवाई में टीम ने 2019 में टाइटल अपने नाम किया था। काशीनाथ इससे पहले 2016 में वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम के भी कोच रह चुके हैं। इससे पहले वो तमिल थलाइवाज के साथ काम कर चुके हैं। चार साल के बाद उनकी पीकेएल में वापसी हुई है।

बेंगलुरू बुल्स – रणधीर सिंह सेहरावत

बेंगलुरू बुल्स के हेड कोच रणधीर सिंह सेहरावत हैं। टीम ने उनकी ही कोचिंग में छठे सीजन का टाइटल अपने नाम किया था। इसके अलावा आठवें सीजन में टीम ने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था। एक बार फिर फ्रेंचाइजी ने उनके ऊपर भरोसा जताया है।

दबंग दिल्ली – कृष्ण कुमार हूडा

दबंग दिल्ली को पूरी तरह से एक मजबूत टीम बनाने का श्रेय कृष्ण कुमार हूडा को जाता है। उन्होंने सबसे पहले टीम को फाइनल तक पहुंचाया और उसके बाद पिछले सीजन में चैंपियन भी बनाया। आगामी सीजन में एक बार फिर वो टीम की कोचिंग करते हुए नजर आएंगे और उनके सामने अपना खिताब बचाने की चुनौती होगी।

गुजरात जायंट्स – राम मेहर सिंह

गुजरात जायंट्स ने राम मेहर सिंह को अपना हेड कोच बनाकर सबको चौंका दिया। इससे पहले तक राम मेहर सिंह पटना पाइरेट्स के कोच थे और उन्होंने टीम को 2017 में टाइटल जिताया था। वहीं बीते सीजन टीम उनकी कोचिंग में फाइनल तक पहुंची थी। परदीप नरवाल को स्टार प्लेयर बनाने में राम मेहर सिंह का बहुत बड़ा हाथ है। हालांकि अब वो गुजरात जायंट्स टीम के साथ नजर आएंगे और उनको उनका पहला पीकेएल टाइटल दिलाना चाहेंगे।

हरियाणा स्टीलर्स – मनप्रीत सिंह

मनप्रीत सिंह इससे पहले तक गुजरात जायंट्स के हेड कोच थे लेकिन आगामी सीजन से वो हरियाणा की जर्सी में नजर आएंगे। एक प्लेयर के तौर पर उन्होंने भारत के लिए कई सारे मेडल जीते थे। 2007 के कबड्डी वर्ल्ड कप में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय टीम का वो हिस्सा थे। इसके अलावा 2002 और 2006 के एशियन गेम्स में भी उन्होंने खेला। वो पटना पाइरेट्स के साथ पीकेएल का टाइटल भी जीत चुके हैं। मनप्रीत ने हरियाणा स्टीलर्स का कोच बनने पर खुशी जताई है और कहा है कि ये उनके लिए घर वापसी जैसा है।

पुनेरी पलटन – बीसी रमेश

बंगाल वॉरियर्स के पूर्व कोच बीसी रमेश आगामी सीजन पुनेरी पलटन का हिस्सा होंगे। उन्हें अनूप कुमार की जगह कोच बनाया गया है। इससे पहले पांचवें सीजन में वो पलटन के कोच थे और उस सीजन टीम प्वॉइंट्स टेबल में दूसरे पायदान पर रही थी। ऐसे में पुनेरी पलटन टीम को काफी ज्यादा उम्मीदें उनसे हैं।

जयपुर पिंक पैंथर्स – संजीव बालियान

संजीव बालियान एक बार फिर जयपुर पिंक पैंथर्स के हेड कोच होंगे। इससे पहले वो यू-मुम्बा के कोच रह चुके हैं। बीते सीजन जयपुर आठवें स्थान पर रही थी और संजीव बालियान चाहेंगे कि इस बार टीम बेहतर खेल दिखाए। वो पटना पाइरेट्स की टाइटल जीतने वाली टीम का हिस्सा भी रह चुके हैं।

तमिल थलाइवाज – जे उदय कुमार

जे उदय कुमार को एक बार फिर से तमिल थलाइवाज की जिम्मेदारी दी गई है। पिछले सीजन टीम 11वें पायदान पर रही थी और इस बार वो बेहतर प्रदर्शन करना चाहेंगे। जे उदय कुमार कबड्डी के बड़े नाम हैं और उन्होंने 2019 में तमिल थलाइवाज की जिम्मेदारी संभाली थी।

पटना पाइरेट्स – रवि शेट्टी

राम मेहर सिंह के जाने के बाद रवि शेट्टी को पटना पाइरेट्स का हेड कोच नियुक्त किया गया है। उनके पास कोचिंग में दो दशक से भी ज्यादा का अनुभव है। हालांकि देखने वाली बात होगी कि वो राम मेहर सिंह की भरपाई कर पाते हैं या नहीं क्योंकि वो एक बहुत बड़ी खाली जगह छोड़कर गए हैं।

तेलुगु टाइटंस – मंजीत छिल्लर (असिस्टेंट कोच)

तेलुगु टाइटंस ने अभी तक हेड कोच का ऐलान नहीं किया है लेकिन मंजीत छिल्लर को उन्होंने असिस्टेंट कोच जरूर बनाया है। मंजीत छिल्लर बीते सीजन तक एक प्लेयर के तौर पर खेल रहे थे। वो दबंग दिल्ली की टाइटल विनिंग टीम का हिस्सा थे लेकिन अब वो कोच के तौर पर नजर आएंगे।

यू-मुम्बा – अनिल छपराना

यू-मुम्बा ने आगामी सीजन के लिए अनिल छपराना को अपना हेड कोच बनाया है। हालांकि माना ये जा रहा है कि यू-मुम्बा की टीम सीजन-9 की शुरूआत से पहले अनूप कुमार को हेड कोच बनाने की कोशिश करेगी।

यूपी योद्धा – जसवीर सिंह

जसवीर सिंह एक बार फिर यूपी योद्धा के कोच होंगे। उन्होंने छठे सीजन में टीम की कमान संभाली थी और तब से लगातार टीम के कोच बने हुए हैं। बीते सीजन टीम प्वॉइंट्स टेबल में तीसरे पायदान पर रही थी और सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था। हालांकि वो टाइटल नहीं जीत पाए थे। देखने वाली बात होगी कि आगामी सीजन टीम का परफॉर्मेंस कैसा रहता है।

For more updates, follow Khel Now Kabaddi on FacebookTwitterInstagram and join our community on Telegram.