दोनों टीमों ने दमदार प्रदर्शन किया।

इस सीजन में बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे अपने दो युवा रेडरों वी. अजीत कुमार (11 अंक) और अभिषेक सिंह (10 अंक)) के अलावा अपने डिफेंडरों के शानदार प्रदर्शन के बूते यू मुम्बा ने शेरेटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड कन्वेंशन सेंटर में जारी प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 21वें मैच में पहले सीजन के चैम्पियन जयपुर पिंक पैंथर्स को 37-28 से हरा दिया।

दोनों टीमों का यह पीकेएल 8 में चौथा मुकाबला था। जयपुर को अब तक दो मैचों में हार मिली है जबकि दो में जीत। युवा रेडर अर्जुन देसवाल (14 अंक) ने इस सीजन का अपना लगातार चौथा सुपर-10 लेकर अपनी टीम को मैच में वापस लाने का पूरा प्रयास किया लेकिन बाकी के रेडकरों तथा डिफेंस से साथ नहीं मिल पाने के कारण वह सफल नहीं हो सके। सीजन की दूसरी जीत हासिल कर मुम्बई 14 अंकों के साथ टेबल में दूसरे स्थान पर पहुंच गई है।

बहरहाल, पहले हाफ की समाप्ति पर यू मुम्बा 21-12 से आगे थे। शुरुआती आठ मिनट तक जयपुर 5-4 से आगे चल रहा था लेकिन 10वें मिनट में अजीत ने इस मुकाबले की पहली सुपर रेड के साथ मुम्बा को 7-5 से आगे कर दिया। सुपर टैकल पर नाकामी जयपुर के एक बार फिर भारी पड़ी जबकि सुपर टैकल की स्थिति में मुम्बई का लगातार 12वां प्रयास भी सफल रहा। अगली रेड पर अभिषेक ने जयपुर को आलआउट कर स्कोर 12-7 कर दिया।

ब्रेक से ठीक पहले दीपक की वापसी हो चुकी थी। वह आए और बोनस लेकर गए। अजीत ने शाउल को आउट कर मुम्बई को 19-12 से आगे कर दिया। पहले हाफ के अंतिम रेड पर अभिषेक ने दो अंक लेकर मुम्बई को 21-12 से आगे कर दिया। मुम्बई ने ब्रेक के बाद जयपुर को दूसरी बार पीकेएल के इस मैच में आलआउट किया और 25-13 की लीड ले ली। जयपुर का डिफेंस बिल्कुल नाकाम था। उसने अब तक कुल 13 असफल टैकल किए थे। देसवाल ने अगली रेड पर इस सीजन का लगातार चौथा सुपर-10 पूरा किया।

दीपक ने अगली रेड पर एक अंक लिया लेकिन अजीत ने दो अंक लेकर मुम्बई को 28-16 से आगे कर दिया। साथ ही अजीत ने इस सीजन का अपना दूसरा सुपर-10 भी पूरा किया। अर्जुन के साथ-साथ अजीत ने अपनी रेडिंग स्किल से इस सीजन में काफी प्रभावित किया है और नए खिलाड़ियों के बीच खास चमक बिखेरी है। अर्जुन जहां डू ओर डाई रेड स्पेशेलिस्ट बने हैं वहीं अजीत ने अभिषेक सिंह के साथ मिलकर मुम्बई के लिए लगातार अंक बटोरे हैं।

विशाल ने हालांकि पीकेएल के इस मैच में अपनी रेड पर अजीत को टैकल कर जयपुर को एक अंक दिलाया। जयपुर की टीम टाइम किलिंग की रणनीति पर चलने लगी थी। अगली रेड जयपुर के लिए डू ओर डाई थी लेकिन अर्जुन डैश कर दिए गए। अब स्कोर 32-21 था। अभिषेक डू ओर डाई रेड पर हासिल एक अंक के साथ इस सीजन का अपना सुपर-10 पूरा किया।मुम्बई की अंतिम रेड पर सुपर टैकल कर जयपुर ने दो अंक हासिल किए फिर देसवाल ने जयपुर की अंतिम रेड पर दो अंक लेकर स्कोर 28-36 कर दिया। मुम्बई की अंतिम रेड पर अजीत ने एक अंक लिया और इस तरह मुम्बई ने यह पीकेएल मैच 37-28 से जीत लिया।

बेंगलुरू बुल्स ने हरियाणा स्टीलर्स को हराया

मैच विजेता के तौर पर अपनी साख बना चुके पवन सेहरावत (22 अंक, 15 टच अंक, 4 बोनस और तीन टैकल अंक) के आलराउंड प्रदर्शन के दम पर पीकेएल के आठवें सीजन के 22वें मैच में हरियाणा स्टीलर्स को 42-28 के बड़े अंतर से हरा दिया।

पवन के अलावा हालांकि बुल्स का कोई भी रेडर नहीं चला। डिफेंस ने हालांकि बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 17 अंक अपने नाम किए। जहां तक हरियाणा की बात है तो उसका डिफेंस सिर्फ नौ अंक हासिल कर सका जबकि उसके टाप रेडर के तौर पर कप्तान विकाश कंडोला सात अंक ही बटोर सके।

इस सीजन की तीसरी जीत ने बुल्स को 12 टीमों की तालिका में दूसरे स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया है जबकि तीसरी हार ने हरियाणा को नौवें स्थान पर धकेल दिया है। हरियाणा के लिए शुरुआत अच्छी रही थी। उसके डिफेंस ने शुरुआती चार मिनट में ही तीसरी कामयाबी हासिल करते हुए हाई फ्लायर पवन सेहरावत सहित बुल्स के तीन रेडरों को बाहर कर अपनी टीम को 4-1 की लीड दिला दी। इसके बाद बुल्स ने हालांकि वापसी करते हुए 4-4 की बराबरी कर ली।

पवन ने वापसी की और लगातार अंक बटोरते हुए बुल्स को 7-4 से आगे कर दिया। मीतू अकेले रेडर बचे थे। उन्हें लपक बुल्स के डिफेंस ने हरियाणा को आलआउट किया और 10-5 की लीड ले ली। शुरुआत में पिछे रहने वाले बुल्स के रेडरों के साथ-साथ डिफेंस भी चल पड़ा था औऱ इसी कारण 12 मिनट के खेल के बाद से 15-7 की लीड मिल चुकी थी। मीतू हरियाणा के लिए डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन मोरे द्वारा लपके गए। पवन ने इशके बाद लगातार दो अंक लेते हुए बुल्स की लीड 10 अंकों की कर दी। इसी बीच, मोरे ने तीसरा टैकल कर रोहित गुलिया को आउट किया। पवन फिर आए औऱ अंक लिया। लीड अब 12 की हो गई थी।

पांच मिनट बचे थे औऱ स्कोर 25-35 से बुल्स के पक्ष में था। अब बुल्स के लिए सुपर टैकल आन था। मोरे ने एक बार फिर कमाल किया और सुपर टैकल के साथ अपना हाई-5 पूरा किया। हरियाणा की अगली रेड पर हालांकि मोरे आउट हुए। कंडोला सफल वापसी कर चुके थे। आते ही उन्होंने दो अंक लिए। अब स्कोर 28-38 था।

अंतिम एक मिनट में पवन ने अपना 19वां प्वाइंट हासिल किया। अगली रेड पर कंडोला सुपर टैकल कर लिए गए। बुल्स 41-28 से आगे थे। पवन ने इस बार टैकल किया। वह डिफेंस में भी तीन टैकल प्वाइंट हासिल कर अपनी टीम की जीत के हीरो बने।