हरियाणा स्टीलर्स और यूपी योद्धा ने इस सीजन का 10वां टाई खेला ।

खेल खत्म होने से पांच मिनट पहले तक यूपी योद्धा को आठ अंकों की लीड मिली हुई थी। यूपी उसे बचा नहीं सकी और प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 49वें मैच में बुधवार को हरियाणा स्टीलर्स के खिलाफ 36-36 से टाई खेलने पर मजबूर हुई। 

यह दोनों टीमों का नौवां मैच था। दोनों ने इस पीकेएल सीजन का 10वां टाई खेला। जीत के मुहाने पर खड़े यूपी को टाई के लिए बाध्य करने में हरियाणा के कप्तान विकाश कंडोला (17 अंक) का सबसे बड़ा हाथ है। अंतिम मिनटों में जब हरियाणा को लीड मिली थी तब सुरेंदर गिल (14 अंक) ने मल्टी प्वाइंट रेड के साथ यूपी को लीड दिलाई थी लेकिन तमाम उठापटक के बाद यूपी की टीम अंक बांटने पर राजी हुई। 

पांच डिफेंडरों के साथ इस पीकेएल मैच में उतरी हरियाणा ने एक समय 4-1 की लीड ले रखी थी। पहली ही रेड पर लपके गए परदीप ने वापसी पर मल्टी प्वाइंट रेड के साथ स्कोर 4-4 कर दिया।   हरियाणा के कप्तान विकाश कंडोला ने अगली रेड पर एक अंक लिया और फिर परदीप ने डू ओर डाई रेड पर अंक ले स्कोर 5-5 कर दिया। इसके बाद यूपी ने एक टैकल प्वाइंट लिया और अब हरियाणा के लिए सुपर टैकल आन था।  

परदीप ने अपने छठे औऱ सातवें रेड पर एक-एक अंक लेकर लौटे। फिर मीतू को लपक यूपी ने हरियाणा को ऑल आउट कर दिया। यूपी को 11-7 की लीड मिल गई थी। हरियाणा ने इसके बाद तीन अंक लेकर स्कोर 10-12 किया। दो रेड पर दो प्वाइंट लेने वाले मीतू इस बार डू ओर डाई रेड पर आउट हुए। स्कोर 14-10 हो गया था।  

हरियाणा के डिफेंस में डू ओर डाई रेड पर परदीप को लपक लिया। वह दूसरी बार लपके गए। पहले हाफ की अंतिम रेड पर अंकित ने शानदार एंकल होल्ड कर स्कोर 13-14 कर दिया। हरियाणा ने पांच डिफेंडरों ने छह अंक लिए हैं लेकिन उन्होंने परदीप को छह अंक दिए भी हैं। रेडिंग में हरियाणा को अब तक 9 के मुकाबले सात अंक ही मिले हैं। 

ब्रेक के बाद बेहतरीन टो टच पर अंक लेकर मीतू ने स्कोर 14-14 कर दिया। यूपी के लिए अब सुपर टैकल आन था। डू ओर डाई रेड पर अंक लेकर गिल ने परदीप को रिवाइव किया। यूपी के मोहम्मद तागाली डू ओर डाई रेड पर लपके गए। अगली डू ओर डाई रेड मीतू की थी और यूपी के डिफेंस ने उन्हें लपक लिया। 

यूपी की अगली रेड डू ओर डाई थी और गिल डुबकी मारकर निकल गए। स्कोर 18-15 हो गया था। यूपी के डिफेंस ने अगली डु ओर डाई रेड पर जयदीप को आउट कर स्कोर 19-15 कर दिया लेकिन अगली रेड पर सुरेंदर नाडा ने परदीप को सुपर टैकल कर स्कोर 19-19 कर दिया। गिल ने अपनी सुपर रेड के साथ यूपी को तीन अंक की लीड दिला दी। 

इसके बाद यूपी ने हरियाणा को दूसरी बार ऑल आउट कर 26-20 की लीड ले ली। श्रीकांत जाधव ने अपनी अगली रेड पर दो अंक लेकर यूपी को 29-20 से आगे किया। खेल में पांच मिनट बचे थे और स्कोर यूपी के पक्ष में 30-22 था। हरियाणा के रेडरों ने दो अंक लेकर स्कोर 24-30 कर दिया। गिल डू ओर डाई रेड पर गए लेकिन लपक लिए गए। नाडा ने उन्हें लपका और हाई-5 पूरा किया।  

फिर विकास ने एक अंक दिलाया और स्कोर 26-31 कर दिया। जाधव ने अगली रेड पर टच प्वाइंट लिया। यूपी के लिए सुपर टैकल आन था लेकिन कंडोला ने सुपर रेड पर ऑल आउट कर हरियाणा की वापसी कराई। कंडोला के सुपर-10 के साथ स्कोर 31-32 हो गया था। गिल की अगली रेड खाली गई। विकास ने दो अंक के साथ हरियाणा को लीड दिला दी।  

गिल ने अपनी अगली रेड पर डुबकी लगाकर यूपी को आगे कर दिया। विकास ने स्कोर 34-34 कर दिया। गिल की अगली रेड पर हरियाणा के डिफेंस ने गलती की और दो अंक दे दिए। स्कोर 36-34 था। विकास ने बोनस के साथ एक और अंक लेकर स्कोर फिर बराबर कर दिया। आखिरी रेड यूपी की थी। गिल आए थे लेकिन वह सेफ खेलकर चले गए। 

नवीन कुमार के बिना बेकाबू दिखी दबंग दिल्ली

नवीन एक्सप्रेस की गैरमौजूदगी में दबंग दिल्ली केसी रफ्तार नहीं पकड़ सकी और बुरी तरह बेपटरी होकर पीकेएल के आठवें सीजन के 50वें मैच में बुधवार को बेंगलुरू बुल्स के हाथों 61-22 के भारी भरकम अंतर से हार गई। यह बुल्स की अब तक की सबसे बड़ी जीत है जबकि यह पीकेएल इतिहास में किसी टीम की दूसरी सबसे बड़ी हार है। 

दिल्ली को लगातार दूसरे मैच में हार मिली है जबकि बुल्स ने यूपी योद्धा के हाथों पिछले मैच में मिली करारी हार के बाद शानदार वापसी की है। बुल्स की वापसी के हीरो हाई फ्लायर पवन सेहरावत (27 अंक) रहे। साथ ही डिफेंस ने भी 15 अंक लेते हुए उनका अच्छा साथ दिया। जवाब में दिल्ली के रेडर 16 अंक ले सके। यही नहीं, दिल्ली के दिग्गज डिफेंडर अपनी पूरी ताकत लगाकर भी चार टैकल ही कर सके। 

हाई फ्लायर पवन सहरावत के सुपर-10 के बूते बुल्स ने दिल्ली को दो बार ऑल आउट कर शुरुआती 20 मिनट में 27-11 की लीड ले ली थी। नवीन की गैरमौजूदगी में दिल्ली की डिफेंस और आलराउंडरों की जिम्मेदारी बढ़ गई थी लेकिन दिग्गजों से सजी डिफेंस उम्मदों पर खरी नहीं उतरी। 

पांच मिनट के बाद स्कोर बुल्स के पक्ष में 5-4 था। नवीन की कमी की भरपाई के लिए दिल्ली ने अजय ठाकुर को भी आजमाया लेकिन उनके होते हुए भी बुल्स ने पहले 11-6 की लीड ले ली और फिर दिल्ली को पहली बार ऑल आउट कर अपनी लीड 17-8 की कर ली।  

ब्रेक से पहले पवन ने सुपर रेड के साथ इस पीकेएल सीजन का अपना छठा सुपर-10 पूरा किया। दिल्ली दूसरी बार ऑल आउट की कगार पर थी। अजय अहम मुकाम पर रेड पर गए और लपके गए। बुल्स ने 27-11 के स्कोर के साथ ब्रेक लिया। 

दबंग दिल्ली का डिफेंस लगातार गलतियां कर रहा था। जीवा ने पवन के खिलाफ बड़ी गलती की और टीम को दो अंक दे दिए। पवन अपनी अगली रेड पर बोनस लेकर बिना टच के लाबी में चले गए। दोनों टीमों को एक-एक अंक मिले। भरत ने बुल्स को अगली रेड पर दो अंक दिलाए। स्कोर 33-12 था। डू ओर डाई रेड पर अजय आए लेकिन लपक लिए गए।  

दिल्ली के लिए सुपर टैकल आन था। पवन ने मंजीत चिल्लर का शिकार किया। बुल्स ने इसके बाद दिल्ली को तीसरी बार आलआउट कर 36-14 की लीड ले ली। पवन पूरी रफ्तार से चल रहे थे और जल्द ही उन्होंने 21 अंक पूरे किए। मैच में 10 मिनट बचे थे और बुल्स को 47-17 की लीड मिली हुई थी। 

दबंग दिल्ली को चौथी बार आउट कर बुल्स ने पीकेएल के 50वें मैच में 50वां अंक हासिल कर लिया। अगली रेड पर पवन ने दो अंक लिए और फिर बुल्स के डिफेंस ने विजय को लपक इस सीजन में सबसे अधिक अंक के दिल्ली के ही रिकॉर्ड तोड़ दिया। पवन ने अगले रेड पर 25वां अंक और नवीन के 24 अंकों के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। 

पवन ने जल्द ही अपना 27वां अंक लिया और फिर बुल्स ने दिल्ली एक और बार ऑल आउट कर 60-19 की लीड ले ली। यहां से दिल्ली के लिए वापसी नामुमकिन थी। उसे इस तरह एक ऐसी हार मिली, जिसे वह भूलना चाहेगी। इस जीत ने बुल्स को दूसरे स्थान पर पहुंचा दिया है जबकि दिल्ली तीसरे पर खिसक गई है।