यह इस सीजन का पिंक पैंथर्स का पहला टाई है।

मंजीत सिंह थे मैच की अंतिम रेड पर और उस समय तक तमिल थलाइवाज को दो अंकों की लीड मिली हुई थी। मंजीत डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन वह सुपर टैकल कर लिए गए और इस तरह प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 58वें मैच में जयपुर पिंक पैंथर्स ने थलाइवाज को टाई पर रोक दिया। 

यह इस पीकेएल सीजन का जयपुर का पहला टाई है जबकि थलाइवाज ने पांचवां टाई खेला है। इस मुकाबले से हासिल तीन अंकों के साथ जयपुर अंक तालिका में चौथे स्थान पर पहुंच गए हैं जबकि थलाइवाज पांचवें स्थान पर आ गए हैं। थलाइवाज के लिए इस मैच में मंजीत सिंह ने सबसे अधिक 9 अंक लिए जबकि जयपुर के लिए अर्जुन देसवाल और नवीन ने 6-6 अंक लिए। डिफेंस में जयपुर को 12 अंक मिले जबकि थलाइवाज को 11 अंक। 

पहला हाफ 17-13 से जयपुर के पक्ष में रहा। पहले पीकेएल सीजन की चैंपियन जयपुर का डिफेंस बेहतर खेल रहा था लेकिन रेडर खुलकर अंक नहीं ले पा रहे थे। जयपुर के डिफेंस ने अब तक सात अंक लिए हैं जबकि थलाइवाज का डिफेंस छह अंक ले चुका था। थलाइवाज के सुरजीत और जयपुर के लिए ढुल ने चार-चार अंक लिए। 

ब्रेक के बाद थलाइवाज ने पहले ही रेड पर दीपक का शिकार किया। थलाइवाज के लिए अब भवानी राजपूत डू ओर डाई रेड पर थे। भवानी ने दो अंक लेकर स्कोर 16-17 कर दिया। फिर देसवाल डू ओर डाई रेड पर थे। वह बोनस लेकर लौटे। ‘

जयपुर के लिए सुपर टैकल आन था। मंजीत गए और जयपुर के सारे खिलाड़ियों को आउट करके लौटे। स्कोर पलट चुके था। अब यह थलाइवाज के पक्ष में 21-18 हो गया था। ऑलइन के बाद दीपक ने जयपुर को एक अंक दिलाया। छह के डिफेंस में अर्जुन ने बोनस लिया। फिर भवानी को ढुल ने डू ओर डाई रेड पर लपक हाई-5 पूरा किया। 

10 मिनट बचे थे औऱ स्कोर 24-24 था। मंजीत अपनी अगली रेड पर दो अंक लेकर गए। फिर देसवाल सेल्फ आउट हुए। उनका पीछा कर रहा डिफेंडर भी आउट हुआ। दोनों पीकेएल टीमों को 1-1 अंक मिला। थलाइवाज को दो की लीड थी। अब मंजीत डू ओर डाई रेड पर थे। वह लपके गए। डू ओर डाई रेड की अगली बारी दीपक की थी। वह चौथी बार बाहर गए। 

चार के डिफेंस में अजिंक्य डू ओर डाई रेड पर गए और दो अंक लेकर लीड 4 की कर दी। हालांकि नवीन ने डू ओर डाई रेड पर सुरजीत को बाहर कर अपनी टीम को ऑल आउट से बचाया। जयपुर के लिए सुपर टैकल आन था। वे थलाइवाज की डू ओर डाई रेड के इंतजार में थे। पवार डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन जयपुर ने सुपर टैकल कर फासला 1 का कर दिया। 

फिर जयपुर के लिए देसवाल डू ओर डाई रेड पर थे औऱ वह भी लपके गए। थलाइवाज की लीड 2 की हो गई थी। जयपुर के लिए सुपर टैकल अभी भी आन था। जयपुर को डू ओर डाई का इंतजार था। मंजीत ने दो रेड खाली जाने दिए। अबकी बार मंजीत डू ओर डाई रेड पर थे। उनके खिलाफ सुपर टैकल दिया गया और इस तरह यह पीकेएल मैच टाई पर समाप्त हुआ। 

पटना ने बेंगलुरु को मात दी

सुनील (9 अंक) के नेतृत्व में अपने डिफेंस के शानदार प्रदर्शन के बूते तीन बार के चैंपियन पटना पाइरेट्स ने रविवार को बेंगलुरू बुल्स को 38-31 के अंतर से हराकर पीकेएल के आठवें सीजन की अंक तालिका में दूसरा स्थान हासिल कर लिया। पटना की यह 10 मैचों में सातवीं जीत है जबकि बुल्स को 11 मैचों में तीसरी हार मिली है।

पटना के डिफेंस ने इस मैच में कुल 17 अंक हासिल किए। इसमें पहले हाफ के 8 और दूसरे हाफ के 9 अंक शामिल हैं। बुल का डिफेंस पहले हाफ में सिर्फ तीन अंक ले सका लेकिन दूसरे हाफ में उसने चार सुपर टैकल कुल 10 अंक लिए। शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर खेले गए इस मैच को पटना ने इसलिए जीता क्योंकि उसने बुल्स के सुपरस्टार रेडर पवन सेहरावत को पांच बार लपक कर पूरे मैच में तकरीबन 25 मिनट मैट से बाहर रखा।

पवन ने हालांकि चार रेड में छह अंक लेकर शानदार शुरुआत की थी। उनके बूते पांच मिनट के खेल के बाद बुल्स को 8-4 की लीड मिली हुई थी। लेकिन इसके बाद पटना के डिफेंस ने लगातार तीन अंक लेकर टीम की वापसी कराई और फिर 12वें मिनट में बुल्स को ऑल आउट कर 11-9 की लीड ले ली।

आलइन के बाद पवन ने दो रेड्स पर लगातार दो अंक लिए। बुल्स की डिफेंस हालांकि उनका साथ नहीं दे रही थी। डिफेंस ने अपने फेल्ड टैकल के कारण अगले दो रेड्स पर पटना को तीन अंक दिए। स्कोर 15-11 हो गया था। बुल्स के डिफेंस ने हालांकि गुमान को लपक कर पहली सफलता हासिल की।

पवन ने अगली रेड पर अपना सुपर-10 पूरा किया। पटना के लिए सचिन लगातार अंक ले रहे थे। उनके साथवें अंक के साथ स्कोर 16-14 था। शादलू ने अगली रेड पर पवन को एंकल होल्ड पर लपक लिया। फिर पटना के डिफेंस ने रंजीत को भी बाहर किया। लीड 4 की हो गई थी।

डोंग जेयोन ली सब्सीट्यूट के तौर पर आए और एक अंक दिलाया। अगली रेड पर बोनस लेने के बाद लपके गए। स्कोर पटना के पक्ष में 28-21 हो गया था। आलइन के बाद गुमान ने पटना को दो और अंक दिलाए और फिर डिफेंस ने लगातार तीन अंक लेकर लीड 12 की कर दी। बुल्स सुपर टैकल पर थे। 32 मिनट के खेल में पवन 18 मिनट से बाहर थे।

इस बीच बुल्स ने सुपर टैकल कर पवन को रिवाइव कराया। पवन डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन पटना के डिफेंस ने उन्हें पांचवीं बार लपक लिया। दूसरे हाफ में पवन अब तक एक भी अंक नहीं ले सके थे। बुल्स के लिए सुपर टैकल आन था। सचिन को लपक महेंदर ने बुल्स को दो अंक दिलाए। स्कोर 26-35 हो गया था।

बुल्स सुपर टैकल पर खेल रहे थे। गुमान डू ओर डाई रेड पर थे औऱ वह लपक लिए गए। महेंदर ने तीसरे सुपर टैकल के साथ हाई-5 पूरा किया। अगली रेड पर शादलू ने दीपक को लपक लिया। हालांकि वह बोनस ले चुके थे। स्कोर 29-37 था। सुपर टैकल अभी भी आन था।

डेढ़ मिनट बचे थे। पटना समय बर्बाद कर रहे थे। प्रशांत अब डू ओर डाई रेड पर थे। वह सुपर टैकल कर लिए गए। स्कोर 31-37 हो गया था। पटना के डिफेंस ने हालांकि अंतिम रेड पर रंजीत को लपक स्कोर 38-31 कर दिया। पवन रिवाइव नहीं हुए और इस तरह पटना ने बड़ी जीत हासिल की। इस हार के बावजूद बुल्स तालिका में पहले स्थान पर बने हुए हैं।