इस मैच में दबंग दिल्ली के लिए विजय मलिक ने एक सुपर रेड के साथ सबसे अधिक अंक लिए ।

दबंग दिल्ली केसी ने अपने स्टार रेडर नवीन कुमार के बगैर ही तीन बार के चैंपियन पटना पाइरेट्स पर 32-29 के अंतर से रोमांचक जीत के साथ प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन की अंक तालिका में शीर्ष स्थान हासिल कर लिया है। 11 मैचों में दिल्ली की यह सातवीं जीत है जबकि पटना को तीसरी हार मिली है। 

सीजन के 62वें मैच में मिली हार के बावजूद पटना की टीम पहले ही तरह तालिका में दूसरे स्थान पर काबिज है लेकिन बेंगलुरू बुल्स को तीसरे स्थान पर जाना पड़ गया है। इस मैच में दिल्ली के लिए विजय मलिक ने एक सुपर रेड के साथ सबसे अधिक 9 अंक लिए जबकि संदीप नरवाल ने 8 अंक बटोरे। पटना के लिए कप्तान प्रशांत कुमार को सबसे अधिक 6 अंक मिले।

आठ मिनट के बाद पीकेएल के इस मैच का स्कोर 5-5 था। नवीन की गैरमौजूदगी में दिल्ली का डिफेंस अच्छा कर रहा था। डू ओर डाई रेड पर भी उसे अंक मिल रहे थे। पटना के लिए कप्तान प्रशांत राय लगाता अंक ले रहे थे। संदीप नरवाल ने अपनी भूमिका बदलते हुए मल्टी प्वाइंट रेड पर 2 अंक लेकर दिल्ली को 7-5 से आगे किया और पटना को सुपर टैकल की स्थिति में डाल दिया। 

आशू मलिक ने अपनी अगली रेड पर पटना को ऑल आउट कर दिल्ली को 11-6 से आगे कर दिया। हैरत की बात यह है कि पटना को डिफेंस में अब तक एक भी अंक नहीं मिला है। गुमान सिंह पटना के लिए डू ओर डाई रेड पर गए लेकिन संदीप ने उन्हें लपक डिफेंस को तीसरी कामयाबी दिलाई। फिर पटना के डिफेंस ने 13 मिनट बाद आशू को डैश कर पहला टैकल प्वाइंट लिया।  

सचिन ने अगली रेड पर विकास को आउट कर स्कोर 8-14 कर दिया। फिर पटना के डिफेंस ने विजय को आउट किया। अबकी बारी दिल्ली के डिफेंस की थी। उसने प्रशांत को लपक अपना चौथा अंक लिया। दिल्ली के लिए संदीप डू ओर डाई रेड पर थे। उन्होंने दो अंक लिए। फिर डिफेंस ने सचिन को लपक लिया। स्कोर 17-9 था। 

संदीप एक बेहतरीन आलराउंड़र की तरह खेल रहे थे। पटना के लिए सुपर टैकल आन था। गुमान आए और मंजीत छिल्लर को आउट किया। हाफ टाइम तक स्कोर 19-10 से दिल्ली के पक्ष में था। ब्रेक के बाद पटना ने लगातार चार अंक लेकर वापसी की शुरुआत की। स्कोर 14-19 हो गया था। फिर सचिन डू ओर डाई रेड पर सचिन ढुल को आउट किया। 

दिल्ली की डू ओर डाई रेड पर विजय ने आशू को आउट कर मंजीत को रिवाइव कराया। आते ही मंजीत रेड पर गए। मैच स्लो गति से चल रहा था। विजय ने बोनस लिया। अब दिल्ली को पटना के डू ओर डाई रेड का इंतजार था। सचिन रेड पर आए और मंजीत ने जल्दबाजी कर दी। दिल्ली को हालांकि अब भी 5 की लीड मिली हुई थी। 

सेल्वामणि की अगली रेड पर दोनों टीमों को एक-एक अंक मिला और फिर मोहम्मदरेजा शादलू ने आशू का एंकल होल्ड कर स्कोर 24-26 कर दिया। प्रशांत ने मंजीत को आउट कर लीड 1 की कर दी। फिर विजय ने दिल्ली के लिए सुपर रेड कर स्कोर 29-25 कर दिया। 

प्रशांत ने पीकेएल के इस मैच में अगली रेड पर एक अंक लिया। अगली रेड पर हालांकि वह लपक लिए गए। स्कोर 30-26 था। पटना को 2 रेड मिलनी थी। सेल्वामणि ने रेड पर अंक लिया और फिर आशू दिल्ली के लिए डू ओर डाई रेड पर गए। वह लपक लिए गए। स्कोर 28-30 हो गया था। 

चार के डिफेंस में सचिन ने दो अंक लेना चाहा लेकिन जीवा ने उन्हें लपक लिया। स्कोर 31-28 था। पटना के डिफेंस ने विजय को लपक स्कोर 29-31 कर दिया। फिर दिल्ली के डिफेंस ने सेल्वामनी को आउट कर यह मैच जीत लिया। 

इस सीजन यह यू मुम्बा का पांचवां टाई है

यू मुम्बा ने शानदार वापसी करते हुए मंगलवार को गुजरात जाएंट्स को अंक बांटने पर मजबूर कर दिया। दोनों टीमों के बीच पीकेएल सीजन-8 का 63 वां मैच 24-24 की बराबरी पर समाप्त हुआ। यह इस सीजन में मुम्बा का पांचवां और कुल 13वां टाई मुकाबला है।

एक समय जीत की स्थिति में दिखाई दे रही गुजरात की टीम को तीसरा टाई खेलना पड़ा। मुम्बा ने अब टाई मुकाबलों के मामले में तमिल थलाइवाज की बराबरी कर ली है। मुम्बा को इस मैच में वापसी कराने में वी. अजीत कुमार (8 अंक) के अलावा डिफेंडर रिंकू के हाई-5 का योगदान है। गुजरात के लिए अजय कुमार ने सात और राकेश नरवाल ने 6 अंक लिए। 

चार मिनट के खेल के बाद गुजरात 5-1 से आगे था। सातवें मिनट में मुम्बा ने हालांकि दो अंक लेकर स्कोर 3-5 कर दिया। पांच के डिफेंस में अभिषेक डू ओर डाई रेड पर आए लेकिन वह लपक लिए गए। स्कोर 6-3 हो गया था। फिर अजय डू ओर डाई रेड पर थे। लेफ्ट कार्नर ने गलती की और बोनस को मिलाकर स्कोर 8-3 हो गया था। 

यू मुम्बा ने पीकेएल के इस मैच में इसके बाद दो अंक लेकर स्कोर 5-8 कर दिया। फजल अतराचली ने हालांकि एचएस राकेश के खिलाफ फेल्ड टैकल लिया और फिर गिरीश एर्नाक ने अजीत को आउट कर स्कोर 10-5 कर दिया। एचएस राकेश अपनी अगली रेड पर फिसले औऱ लाबी में चले गए। मुम्बा को अंक मिला। अभिषेक अब डू ओर डाई रेड पर थे। वह दो अंक लेकर फजल और अजीत को रिवाइव करने में सफल रहे। 

फिर बारी राकेश नरवाल की थी। वह डू ओर डाई रेड पर थे और एक अंक लेकर लौटे। वापसी के बाद अजीत की पहली रेड नाकाम रही। स्कोर 12-8 था। मुम्बा के डिफेंस ने हालांकि राकेश को लपक इसकी भरपाई की। अगली रेड पर गुजराती डिफेंस ने अभिषेक को लपक लिया। गुजरात के नाम अब तक पांच सफल टैकल थे। हाफ टाइम से पहले की अंतिम रेड पर अजिंक्य कापरे ने बोनस लेकर स्कोर 10-13 कर दिया। 

ब्रेक के बाद रिंकू ने अजय का शिकार कर डिफेंस को तीसरी सफलता दिलाई। फिर अजीत डू ओर डाई रेड पर गए और कप्तान सुनील को बाहर किया। राकेश नरवाल की अगली रेड पर रिंकू गलती कर गए। परवेश भैंसवाल ने अगले रेड पर अजीत को डैश कर दिया। फिर गुजरात के डिफेंस ने अभिषेक को तीसरी बार टैकल कर स्कोर 17-13 कर दिया। 

चार के डिफेंस में एचएस राकेश ने उड़ान भरने की कोशिश की लेकिन वह नाकाम रहे। सुनील ने हालांकि कापरे के खिलाफ कोई गलती नहीं की। लीड 4 का हो गया था। राकेश ने रेड पर प्वाइंट लेकर लीड 5 का कर दिया। अब यू मुम्बा के लिए सुपर टैकल आन था। मोहसिन ने डू ओर डाई रेड पर बोनस लिया लेकिन लाबी में चले गए। फिर मुम्बा ने सुपर टैकल कर दो अंक लिए। स्कोर 17-20 हो गया था। 

अजीत ने पीकेएल के इस मैच में अगली रेड पर बोनस लिया। सुपर टैकल अब भी आन था। अजीत की अगली रेड पर अंकित ने गलती की। हालांकि राकेश नरवाल के खिलाफ फजल का टैकल फ्लॉप रहा। गुजरात 2 अंक से आगे थे। अजीत की अगली रेड पर मुम्बा को 2 अंक मिले औऱ स्कोर 21-21 हो गया। बीते 5 मिनट में मुम्बा को 5 अंक मिले हैं। 

अभिषेक ने फिर डू ओर डाई रेड पर सुनील को छूकर मुम्बा को लीड दिला दी। एक मिनट बचा था। गुजरात के लिए सुपर टैकल आन था। अभिषेक की रेड खाली गई। अगली रेड अजय की थी और वह एक अंक लेकर लौटे। स्कोर 24-24 था। 26 सेकेंड बचे थे। अभिषेक की मैच की आखिरी रेड खाली गई और इस तरह यह पीकेएल मुकाबला टाई रहा।