दोनों टीमों ने दमदार प्रदर्शन किया।

परदीप नरवाल और सुरेंदर गिल के सुपर-10 की बदौलत यूपी योद्धा ने शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर में बुधवार को खेले गए प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 104वें मैच में तमिल थलाइवाज को 41-39 से हरा दिया।

इस सीजन में यूपी की यह सातवीं जीत है। इसके साथ यह टीम पांचवें स्थान पर पहुंच गई है। परदीप ने इस मैच में 10 अंक लिए जबकि गिल ने 13 अंक जुटाए। डिफेंस में सुमित ने हाई-5 लगाया। थलाइवाज को सातवीं हार मिली। उसके लिए मंजीत (12) ने सुपर 10 पूरा किया जबकि हिमांशु ने 8 और अजिंक्य पवार ने सात अंक लिए।

पवार ने तीसरे मिनट में टच के साथ इस सीजन का अपना 100वां रेड प्वाइंट हासिल किया और फिर अगली रेड पर थलाइवाज के डिफेंस ने परदीप नरवाल को लपक स्कोर 3-1 कर दिया। यूपी ने सुरेंदर गिल और श्रीकांत जाधव की बदौलत वापसी करते हुए पांच मिनट बाद स्कोर 4-5 कर दिया।।

रिवाइव होकर आए परदीप ने आठवें मिनट में सुपर रेड के साथ यूपी को 8-7 की लीड दिला दी। मंजीत ने हालांकि टच प्वाइंट के साथ स्कोर बराबर किया और फिर जाधव बिना टच के लाबी में चले गए। तीन डिफेंडर भी उनके पीछे गए। यूपी को तीन टेक्निकल प्वाइंट बने। अब यूपी को 11-9 की लीड मिल चुकी थी।

ब्रेक में जाने से पहले यूपी के लिए सुपर टैकल आन था। सुमित ने मंजीत के खिलाफ सुपर टैकल कर स्कोर एक बार फिर बराबर कर दिया। फिर गिल ने दो अंक के रेड के साथ यूपी को 2 की लीड दिला दी। चार के डिफेंस में मोहम्मद तगी ने अंक लिया और परदीप को रिवाइव कराया।

परदीप ने लगातार दो अंकों के साथ अपने करियर का 64वां सुपर-10 पूरा किया। इसके बाद यूपी ने थलाइवाज को दूसरी बार आलआउट कर 30-26 की लीड ले ली। आलइन के बाद थलाइवाज ने परदीप का कम्बाइंड टैकल कर लीड 2 की कर दी। थलाइवाज लगातार बोनस पर खेल रहे थे।

यूपी स्मार्ट गेम खेल रहे थे। ढाई मिनट बचे थे और उन्हें 3 की लीड मिल चुकी थी। मंजीत ने हालांकि सुमित को आउट कर थलाइवाज को राहत पहुंचाई। अगली रेड पर मंजीत लपके गए। लीड फिर तीन की हो गई। परदीप को आउट कर थलाइवाज ने लीड दो की कर दी।

मुकाबला पूरी तरह खुला हुआ था। नितेश ने हालांकि हिमांशु को लपक फिर लीड 3 क कर दी और यहां से यूपी की जीत पक्की हो गई थी। अंतिम रेड पर थलाइवाज ने गिल को लपक लिया लेकिन बावजूद इसके वे दो अंक से यह मुकाबला हार गए।

गुजरात ने दमदार जीत दर्ज की

गुजरात जाएंट्स ने शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर में बुधवार को खेले गए वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 105वें मैच में तेलुगू टाइटंस को 34-32 के अंतर से हरा दिया। इस सीजन में गुजरात की 18 मैचों में सातवीं जीत है जबकि टाइटंस को इतने ही मैचों में 13वीं हार मिली है।

गुजरात की जीत में डिफेंडर गिरीश एर्नाक (5) के अलावा रेडर एचएस राकेश (8) और महेंदर राजपूत (5) की अहम भूमिका रही। टाइटंस के लिए रजनीश ने सुपर-10 पूरा किया लेकिन वह अपनी टीम को हार से नहीं बचा सके। मैच के अंतिम पलों में रजनीश चोटिल भी हुए।

पांच मिनट के बाद स्कोर 5-4 से टाइटंस के पक्ष मे था। टाइटंस के लिए रजनीश ने सभी अंक लिए थे जबकि गुजरात के लिए राकेश नरवाल, एचएस राकेश और महेंदर राजपूत ने अंक जुटाए। फिर गुजरात के डिफेंस ने सुपर टैकल के दो अंक लेते हुए 7-6 की लीड ले ली। अगली रेड पर एचएस राकेश ने एंकल होल्ड से बचते हुए लीड 2 की कर दी।

रजनीश ने डू ओर डाई रेड पर अंक लेकर स्कोर 7-9 किया लेकिन गिरीश एर्नाक ने अगली रेड पर उन्हें लपक लिया। गल्ला राजू ने हालांकि सुपर रेड के साथ इसका बदला लिया और स्कोर 10-11 कर दिया लेकिन गुजरात ने जल्द ही तीन अंक की लीड ले ली। टाइटंस के पास सुपर टैकल का मौका था और सुरेंदर ने राकेश नरवाल को लपक लीड सिर्फ एक की कर दी।

रजनीश ने बोनस के साथ स्कोर 14-14 किया। इसी स्कोर पर हाफ टाइम हुआ। टाइटंस ने रेड में 11 और डिफेंस में तीन जबकि गुजरात ने रेड में 10 और डिफेंस में दो अंक लिए हैं। गुजरात को दो टेक्निकल अंक भी मिल हैं।

ब्रेक के बाद तीन के डिफेंस में परदीप कुमार सेल्फ आउट हुए और इस तरह टाइटंस को सुपर टैकल के दो अंक मिले। गुजरात ने हालांकि जल्द ही टाइटंस को आलआउट कर 20-18 की लीड बना ली। टाइटंस का डिफेंस गलतियां कर रहा था और इसका फायदा उठाकर 25-20 की लीड ले ली। रजनीश ने हालांकि इसी बीच अपना सुपर-10 पूरा किया।

10 मिनट बचे थे और गुजरात को चार की लीड मिली हुई थी। टाइटंस ने हालांकि बेहतरीन वापसी करते हुए गुजरात को आलआउट कर 32-28 की लीड ले ली। टाइटंस का डिफेंस शानदार खेल रहा था। अब पांच मिनट बचे थे। अजय ने लगातार दो अंक लेकर स्कोर डिफरेंस दो का कर दिया। फिर अंकित बेनीवाल का शिकार कर इसे 1 का कर दिया।

परदीप ने टच प्वाइंट के साथ स्कोर 32-32 कर दिया। इसी बीच, टाइटंस का एक डिफेंडर सेल्फ आउट हुआ। फिर गुजरात ने दो अंक के अंतर से मैच अपने नाम कर आगे जाने की उम्मीदों को जिंदा रखा।