दोनों टीमों ने दमदार प्रदर्शन करते हुए जीत दर्ज की।

अंतिम मिनट ने नवीन एक्सप्रेस ने सुपर रेड के साथ दबंग दिल्ली को जीत तरफ ला दिया था लेकिन मंजीत छिल्लर की एक गलती दिल्ली को भारी पड़ गई और उसे मौजूदा चैम्पियन बंगाल वॉरियर्स के खिलाफ अंक बांटने पर मजबूर होना पड़ा। इस तरह शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर में गुरुवार को खेले गए प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 106वें मैच में दिल्ली ने बंगाल के साथ 39-39 से टाई खेला, जो इस सीजन का 18वां टाई है।

नवीन ने इस मैच में शानदार वापसी करते हुए सीजन का अपना नौवां सुपर-10 लगाते हुए 16 अंक बटोरे। विजय ने उनका बेहतरीन साथ दिया और नौ अंक अपने नाम किए। बंगाल के लिए मनिंदर ने 16 अंक लिए। डिफेंस में अमित निरवाल और रण सिंह को तीन-तीन सफलता मिली। बंगाल का सीजन का तीसरा और दिल्ली का चौथा टाई है। इस टाई मुकाबले के साथ दिल्ली हालांकि अंक तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंच गई है।

बंगाल ने सातवें मिनट में दिल्ली को आलआउट कर 10-6 की लीड ले ली। दिल्ली ने हालांकि अपने स्टार रेडर नवीन कुमार की बदौलत शानदार वापसी और जल्द ही स्कोर 15-15 कर लिया। ब्रेक के बाद हालांकि बंगाल ने वापस करते हुए स्कोर 22-22 कर दिया और फिर दिल्ली को एक बार फिर आलआउट की कगार पर धकेल दिया। विजय और जोगिंदर नरवाल ने मनिंदर को सुपर टैकल कर न सिर्फ आलआउट बचाया बल्कि एक अंक की लीड भी दिला दी।

अबोजार मेघानी ने विजय का शिकार कर दिल्ली को फिर ऑलआउट की ओर धकेला और फिर इसे अंजाम देते हुए 29-26 की लीड ले ली। इसी बीच मनिंदर ने अपना 47वां सुपर-10 पूरा किया। आलइन के बाद दिल्ली ने लगातार तीन अंक लेकर स्कोर 29-29 कर दिया। अब 10 मिनट बचे थे। बंगाल के लिए सुपर टैकल की स्थिति थी। 30-29 के स्कोर पर नवीन को सुपर टैकल कर बंगाल ने 31-30 की लीड ले ली।

छह के डिफेंस में मनिंदर ने टच किया और लीड तीन की कर दी। नवीन ने टो टच पर ओबोजार को आउट कर इस सीजन का अपना नौवां सुपर-10 पूरा किया। नवीन ने लगातार दूसरे टच प्वाइंट के साथ स्कोर 34-36 कर दिया। अब सिर्फ डेढ़ मिनट बचे थे। 

नवीन ने अगली रेड पर बैक किक के साथ अंक लेकर स्कोर 35-36 कर दिया। मनिंदर ने हालांकि लीड फिर 2 की कर दी। नवीन की अगली रेड पर दिल्ली को तीन अंक मिले लेकिन दिल्ली ने चार के लिए रिव्यू लिया, जिसे नकार दिया गया। अब दिल्ली की टीम 38-37 से आगे हो गई थी। रोहित की रेड पर मंजीत की गलती से अंतिम पलों में बंगाल को एक अंक मिला लेकिन नवीन ने दिल्ली को एक अंक दिलाकर स्कोर फिर 39-39 कर दिया। इसी स्कोर पर मैच समाप्त हुआ और दोनों टीमों ने अंक बांटे।

पटना पाइरेट्स की दमदार जीत

गुमान सिंह (13) और डिफेंस (11) के बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर तीन बार के चैंपियन पटना पाइरेट्स ने शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर में गुरुवार को खेले गए पीकेएल के आठवें सीजन के 107वें मैच में पुनेरी पल्टन को 43-26 से हराकर प्लेऑफ का टिकट कटा लिया है।

18 मैचों में 13वीं जीत हासिल करने वाले पाइरेट्स के खाते में कुल 70 अंक हो गए हैं। वे पहले ही तरह अब भी अंक तालिका के शीर्ष पर विराजमान हैं। दूसरी ओर, पल्टन को 16 मैचों में 8वीं हार मिली है। पटना के लिए गुमान के अलावा सचिन तंवर (6), शुभम शिंदे (4) और मोहम्मदरेजा शादलू (3) ने भी चमक बिखेरी जबकि पल्टन की ओर से असलम इनामदार ने 9 और मोहित गोयत ने 6 अंक लिए। पूरे मैच में पल्टन का डिफेंस सिर्फ पांच अंक ले सका।

पहले हाफ की धीमी और सावधान शुरुआत हुई। पल्टन आगे थे लेकिन सातवें मिनट में सचिन तंवर ने डू ओर डाई रेड पर अंक लेकर पटना को 4-4 की बराबरी दिला दी। फिर हालांकि असलम इनामदार ने बोनस के साथ टच प्वाइंट लेकर हालांकि पल्टन को दो की लीड दिला दी।

पल्टन ने इस लीड को पांच का का कर दिया लेकिन सचिन की डू ओर डाई रेड पर पटना को चार अंक मिल गए। सचिन बिना टच के लाबी में चले गए। उनके पीछे चार डिफेंडर भी आए। स्कोर 9-10 हो गया था। अब पल्टन आलआउट की कगार पर थे और इसे अंजाम देकर पटना ने 14-11 की लीड ले ली।

आलइन के बाद गुमान सिंह ने सुपर रेड के साथ पटना को 18-13 से आगे कर दिया लेकिन असलम ने तीन पॉइंट की रेड का जवाब चार की रेड से दिया और स्कोर 17-18 कर दिया। पहले हाफ तक यही स्कोर रहा। इस हाफ में पल्टन को रेड में 14 और डिफेंस में 2 अंक मिले जबकि पटना को रेड में 8 और डिफेंस में 3 अंक मिले।

ब्रेक के बाद गुमान सिंह ने संकेत को आउट किया और फिर असलम बिना टच के लाबी में चले गए। पटना को अब तीन की लीड थी। दोनों टीमें लगातार डू ओर डाई पर खेल रही थीं। जल्द ही पटना ने लीड 5 क कर ली और फिर पटना ने पल्टन को आलआउट कर 31-24 की लीड ले ली।

पांच मिनट बचे थे और पटना को आठ अंक की लीड मिली हुई थी। इसके बाद पटना ने लगातार अंक लिए और फिर अंतिम मिनट में पल्टन को आलआउट कर न सिर्फ अपनी जीत पक्की की बल्कि आधिकारिक तौर पर अगले चरण का टिकट भी कटाया। लेकिन हार के बावजूद पल्टन के लिए भी आगे का रास्ता खुला है।