टूर्नामेंट के छठे दिन भी कुल मिलाकर दो मैच खेले जाएंगे।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन 8 में लगातार एक से बढ़कर एक कई धमाकेदार मैचों का सिलसिला जारी है। हर रोज हमें बेहतरीन मुकाबले देखने को मिल रहे हैं। इस सीजन कोई भी टीम किसी से कम नहीं नजर आ रही है और सभी टीमें एक दूसरे को कड़ी टक्कर दे रही हैं। टूर्नामेंट के छठे दिन भी कुल मिलाकर दो मुकाबले खेले जाएंगे। पहला मैच तमिल थलाइवाज और यू-मुम्बा के बीच होगा तो दूसरा पीकेएल मैच यूपी योद्धा और जयपुर पिंक पैंथर्स के बीच खेला जाएगा।

यू-मुम्बा की अगर बात करें तो उसे एक मैच में हार मिली है और एक में जीत मिली थी। वो अपनी दूसरी जीत हासिल करना चाहेंगे, जबकि तमिल थलाइवाज को अपनी पहली जीत की तलाश है। उनका एक मुकाबला टाई रहा है और एक मैच में हार मिली है। यूपी योद्धा को एक मैच में शिकस्त का सामना करना पड़ा था तो दूसरे मुकाबले में बेहद करीबी अंतर से उन्होंने पटना पाइरेट्स को हराया था। जयपुर पिंक पैंथर्स भी पिछले मुकाबले में जीतकर आ रही है।

तमिल थलाइवाज Vs यू-मुम्बा

तमिल थलाइवाज और यू-मुम्बा के बीच ये मुकाबला शाम 7:30 बजे से खेला जाएगा। तमिल थलाइवाज के लिए चिंता की बात ये है कि उनके मेन रेडर के प्रपंजन का परफॉर्मेंस पिछले दो मैचों में अच्छा नहीं रहा है और इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा है। प्रपंजन पिछले दो मुकाबलों में सिर्फ 9 प्वॉइंट ही हासिल कर पाए हैं। अगर टीम को अपनी पहली जीत दर्ज करनी है तो फिर उन्हें चलना होगा।

मंजीत ने पहले मुकाबले में सुपर 10 लगाया था लेकिन दूसरे मैच में वो भी फ्लॉप रहे थे और उनसे भी उम्मीदें होंगी। डिफेंडर्स ने अपना काम अच्छा किया है। तमिल थलाइवाज के अभी तक 25 सफल टैकल हैं जो टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा हैं। उन्होंने औसतन 12.5 टैकल हर मैच किए हैं। एक बार फिर उन्हें उसी तरह का परफॉर्मेंस करना होगा।

यू-मुम्बा की अगर बात करें तो पीकेएल सीजन 8 के पहले मैच में शानदार जीत के बाद दबंग दिल्ली की मजबूत टीम के सामने उन्हें हार का सामना करना पड़ा। अभिषेक सिंह पिछले मुकाबले में फ्लॉप रहे थे और ऐसे में वी अजीत को और अच्छा प्रदर्शन करना होगा। टीम सिर्फ अभिषेक के ऊपर डिपेंड नहीं रह सकती है। कप्तान फजल अत्राचली को भी डिफेंस में प्वॉइंट्स लाने होंगे। अगर फजल अत्राचली ढीले पड़े तो थलाइवाज के रेडर्स इसका फायदा उठा सकते हैं। फजल अत्राचली को चाहिए कि वो मंजीत को टैकल करने की कोशिश करें क्योंकि अगर वो आउट हुए तो फिर प्रपंजन के फॉर्म में ना होने का फायदा मुम्बा की टीम को मिल सकता है। ऑलराउंडर शिवम को इस बार स्टार्टिंग सेवन में मौका मिल सकता है।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग 7

तमिल थलाइवाज – के प्रपंजन, सुरजीत सिंह (कप्तान), मंजीत, मोहित, भवानी राजपूत, सागर और साहिल सिंह।

यू-मुम्बा – अभिषेक सिंह, आशीष सांगवान, शिवम, मोहसिन मोगसोदुलू, वी अजीत, रिंकू और फजल अत्राचली (कप्तान)।

यूपी योद्धा Vs जयपुर पिंक पैंथर्स

यूपी योद्धा और जयपुर पिंक पैंथर्स पिछले मुकाबलों में जीत हासिल करके आ रही हैं, ऐसे में दोनों टीमों के हौंसले बुलंद होंगे। यूपी योद्धा ने पटना पाइरेट्स को हराया था तो वहीं जयपुर पिंक पैंथर्स ने हरियाणा स्टीलर्स को मात दी थी।

अगर बात करें यूपी योद्धा की तो उनके लिए अच्छी बात ये है कि उनके स्टार रेडर परदीप नरवाल फॉर्म में आ गए हैं। पीकेएल पिछले मुकाबले में उन्होंने 12 प्वॉइंट लिए थे। हालांकि बाकी के रेडर्स का परफॉर्मेंस उतना अच्छा नहीं रहा है। अगर परदीप नरवाल एक बार आउट हो जाते हैं तो श्रीकांत जाधव और सुरेंदर गिल उन्हें जल्दी नहीं रिवाइव करवा पाते हैं और टीम को अपनी इस कमी को दूर करना होगा। टीम को परदीप नरवाल के ऊपर ज्यादा डिपेंड होने से बचना होगा। वहीं डिफेंस में कप्तान नितेश कुमार को अपना गेम बेहतर करना होगा।

जयपुर पिंक पैंथर्स के कप्तान दीपक हूडा भी फॉर्म में आ गए हैं और पिछले मुकाबले में सुपर 10 लगाकर उन्होंने अपनी वापसी के संकेत दे दिए हैं। ये यूपी के लिए खतरे की घंटी कही जा सकती है। दूसरी तरफ अर्जुन देशवाल ने पिछले मुकाबले में अकेले 18 प्वॉइंट हासिल करके बता दिया कि जयपुर की टीम सिर्फ दीपक हूडा पर ही निर्भर नहीं है। हालांकि संदीप धुल के ना होने से टीम का डिफेंस पिछले मुकाबले में बिखर गया था और ये एक बड़ी कमजोरी कही जा सकती है। धर्मराज चेरलाथन को अपना अनुभव दिखाना होगा।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग सेवन

यूपी योद्धा – परदीप नरवाल, आशु सिंह, गुरदीप, श्रीकांत जाधव, सुरेंदर गिल, नितेश कुमार (कप्तान) और सुमित।

जयपुर पिंक पैंथर्स – दीपक हूडा, अमित, शौल कुमार, अर्जुन देशवाल, नितिन रावल, अमित हूडा और धर्मराज चेरालाथन।