परदीप नरवाल ने इस मैच में सुपर-10 भी हासिल किया।

शेरेटन ग्रैंड में जारी वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 10वें मैच का नतीजा अंतिम रेड पर निकला। यह मैच परदीप नरवाल बनाम पटना पाइरेट्स भी माना जा रहा था। अपने पुराने चहेते परदीप को आठ बार टैकल करके पटना के डिफेंडर्स ने उनके खिलाफ मनोवैज्ञानिक जीत हासिल कर ली लेकिन अंतिम रेड के रोमांच में वे अपनी टीम को एक अंक के फासले से हार से नहीं बचा सके।

यूपी ने सांस रोक देने वाला यह पीकेएल का मैच 36-35 से जीता। दोनों टीमों का यह दूसरा मैच था। पटना यह इस सीजन की यह पहली हार है जबकि यूपी को पहल जीत मिली है। पटना ने अपने पहले मैच में हरियाणा स्टीलर्स को 42-39 के अंतर से हराया था जबकि यूपी योद्धा को मौजूदा चैम्पियन बंगाल वारियर्स के खिलाफ हार मिली थी। परदीप ने इस मैच में सुपर-10 भी हासिल किया। जिस टीम के खिलाफ परदीप छह सीजन खेले और जिस टीम के साथ तीन-तीन खिताब जीता, उसके खिलाफ पहले रेड में वह बोनस पर एक अंक हासिल करने में सफल रहे। सीजन-7 में वह अंतिम बार पटना के लिए खेले थे औऱ इस टीम द्वारा जुटाए गए कुल रेड प्वाइंट्स का 68 फीसदी उन्होंने अकेले जुटाया था।

अपनी अगली पांच रेड पर परदीप ने लगातार अंक बटोरे लेकिन इसके बादा पटना के डिफेंडर्स ने उनके खिलाफ तीन सुपर टैकल किए। यही कारण था कि एक समय यूपी को छह अंकों की लीड मिली हुई थी लेकिन 20 मिनट के खेल के उपरांत पटना 20-17 के अंतर से लीड में थी।

इसका कारण यह था कि पटना का डिफेंस शानदार खेल रहा था। उसने चार सुपर टैकल किए। पटना की ओर से सिद्धार्थ और मोनू गोयत अंक बटोर रहे थे लेकिन सही मायने में इस हाफ में उसे लीड दिलाने का काम डिफेंस ने किया, जिसका नेतृत्व ईरान के मोहम्मद रेजा ने किया। रेजा ने दो मौकों पर परदीप को लपका। 

पीकेएल के इस मैच में ब्रेक के बाद यूपी के लिए सुपर टैकल आन था। इसमें सफलता हासिल करते हुए यूपी ने स्कोर 19-22 कर लिया। यह मैच का पांचवां सुपर टैकल था। इनमें से चार पटना के नाम रहे हैं। इसी बीच, रेजा ने हाई-5 पूरा किया। यूपी ने कुछ मिनट बाद ही एक और सुपर टैकल कर स्कोर 21-22 कर लिया। यह उसका दूसरा सुपर टैकल है। पटना के डिफेंस ने परदीप को सुपर टैकल कर पटना को 24-23 की लीड दिलाई। रेजा ने तीसरी बार परदीप को सुपर टैकल किया। यह मैच का आठवां सुपर टैकल था। यूपी ने हालांकि एक अंक के साथ बराबरी कर ली।

डू ओर डाई रेड पर यूपी के रोहित सुरक्षित रहे क्योंकि पटना के डिफेंडर ने बैकलाइन टच कर दिया था। स्कोर 25-25 था। पटना के लिए सुपर टैकल आन था। परदीप आए। रेजा ने सुपर टैकल करने का प्रयास किया लेकिन इस बार परदीप सावधान थे। दो अंक लेकर उन्होंने सुपर-10 पूरा किया। अगली रेड पर पटना आलआउट हुई। मैच खत्म होने में 10 मिनट थे और स्कोर यूपी के पक्ष में 29-26 था।

परदीप ब्रेक के बाद पीकेएल के इस मैच में रेड पर आए लेकिन इस बार रेडर मोनू ने परदीप को एंकल होल्ड कर लिया। पटना ने एक बाद एक दो अंक बटोर स्कोर 28-30 कर लिया। परदीप अब भी बाहर थे। यूपी ने हालांकि इसके बाद लगातार दो अंक लेकर लीड चार अंकों की कर ली। पटना ने डिफेंस में 15वां अंक लेते हुए स्कोर 29-32 कर रिया लेकिन यूपी ने शानदार टैकल पर फिर चार अंकों की लीड ले ली।

अगली रेड पर प्रशांत राय ने अंक बटोरा और फिर यूपी के लिए सुरेंदर गिल ने मोनू को आउट किया। परदीप अंदर आ गए। तीन अंकों की लीड थी यूपी के पास। परदीप ने आते ही अंक लिया और स्कोर 35-31 कर दिया। अगली रेड पर प्रशांत ने एक अंक लिया। हालांकि अगली रेड पर परदीप टैकल हो गए। स्कोर 33-35 हो गया था। अगली रेड पर सचिन तंवर ने एक अंक लेकर स्कोर 34-35 कर दिया। इसके बाद कुछ रेड खाली गए। अब यूपी की डू ओर डाई रेड थी। पटना ने सुरेंदर गिल को टैकल किया लेकिन उससे पहले वह बोनस ले चुके थे। इस तरह यूपी 36-35 से पीकेएल का यह मैच जीतने में सफल रहे।

पल्टन ने जीत का खाता खोला

पुनेरी पल्टन ने पांच मिनट के खेल के बाद ही मैट से बाहर किए गए अपने सुपरस्टार राहुल चौधरी के बिना ही शानदार खेल दिखाते हुए पीकेएल के आठवें सीजन के अपने दूसरे मैच में तेलुगू टाइटंस को 34-33 के अंतर से हराकर जीत का खाता खोला। टाइटंस को हालांकि जीत के लिए इंतजार करना होगा। टाइटंस ने अपने पहले मैच में तमिल थलाइवाज के खिलाफ टाई खेला था।

टाइटंस के लिए सिद्धार्थ बाहुबली देसाई फार्म में लौटे और कुल 15 अंक अपने नाम किए लेकिन दूसरे रेडरों से साथ नहीं मिल पाने के कारण वह अपनी टीम को पीकेएल के इस मैच में जीत तक नहीं पहुंचा सके। दूसरी ओर, पल्टन की ओर से सब्सीट्यूट मोहित गोयत ने 9 अंक तथा असलसम इनामदार ने 8 अंक बटोरकर देसाई के आंकड़ों को छोटा साबित कर दिया।

देसाई पल्टन के लिए सबसे बड़ा खतरा थे। शुरुआती छह मिनट में वह चार अंक निकाल चुके थे। टाइटंस को 5-4 की लीड मिली हुई थी जल्द ही पल्टन 8-6 की लीड पर थे। देसाई ने अपनी पांचवीं रेड पर अंक लेते हुए स्कोर 7-8 किया। टाइटंस ने पंकज मोहिते को लपककर स्कोर 8-8 कर दिया। पल्टन के पाले में तीन खिलाड़ी थे। बोनस आन था और साथ ही सुपर टैकल भी। स्कोर 9-9 था। पल्टन ने देसाई के खिलाफ सुपर टैकल कर 11-9 की लीड ले ली। अब चौधरी अंदर गए थे। पल्टन का डिफेंस शानदार खेल रहा था। उसने एक और टैकल के साथ स्कोर 12-9 कर दिया।

टाइटंस ने मोहित गोयत को डू ओर डाई रेड पर लपककर देसाई को अंदर आने का मौका दिया। अगली रेड पर देसाई संतुलन गंवा बैठे और शिकार कर लिए गए लेकिन उससे पहले संकेत देसाई एंडलाइन टच कर चुके थे। संकेत सहित सभी डिफेंडर्स ने देसाई को लपक लिया। रिव्यू लिया गया, जिसमें पांच अंक टाइटंस को मिला और देसाई के आउट होने पर पल्टन को भी एक अंक मिला। स्कोर 13-14 था।

ब्रेक के बाद पल्टन ने डू ओर डाई रेड अंक हासिल करते हुए स्कोर 15-20 कर दिया। अगली रेड पल्टन के लिए डू ओर डाई थी। मोहिते ने रोहित को आउट कर स्कोर 16-20 कर दिया। पल्टन वापसी की राह पर थे। उसने लगातार दो अंकों के साथ स्कोर 18-21 कर दिया। टाइटंस के लिए सुपर टैकल आन था। दोनों टीमें डू ओर डाई रेड पर थीं। पल्टन के लिए मोहित गोयत ने सुपर रेड पर तीन अंक हासिल कर न सिर्फ टाइटंस को आलआउट किया बल्कि अपनी टीम को लीड भी दिला दी।

इसी बीच देसाई ने सुपर-10 पूरा किया। बीते पांच मिनट में पल्टन 10 अंक हासिल कर चुके थे जबकि टाइटंस को एक अंक ही मिला है। पल्टन ने अगली रेड पर कप्तान रोहित को आउट कर 25-21 की लीड ले ली। अगली रेड पर अंकित बेनीवाल टैकल किए गए। देसाई अब अंदर थे। आते ही उन्होंने सुपर रेड किया और स्कोर 25-25 हो गया। पल्टन के लिए सुपर टैकल आन था। कप्तान विशाल भारद्वाज ने देसाई के खिलाफ सुपर टैकल के साथ पल्टन ने 27-26 की लीड दिला दी। टाइटंस ने हालांकि जल्द गी 28-28 की बराबरी कर ली। पल्टन के लिए सुपर टैकल आन था। देसाई ने कप्तान विशाल को आउट कर टाइटंस को 29-28 से आगे कर दिया।

पल्टन ने अगली रेड पर दो अंक पाए। स्कोर 30-29 था लेकिन देसाई ने एक और अंक के साथ स्कोर 30-30 कर दिया। पल्टन हालांकि अगली रेड पर आलआउट हुए और स्कोर 31-33 हो गया। अब सिर्फ ढाई मिनट बचे थे। असलम की अगली रेड पर सी. अरुण ने चेन छोड़ी और पल्टन को एक अंक मिल गया।

डू ओर डाई रेड पर पल्टन ने देसाई को लपका और स्कोर 33-33 कर लिया। अगली रेड पर मोहित गोयत ने अंक लेकर पल्टन को 34-33 से आगे कर दिया। पल्टन द्वारा ली गई मैच की अंतिम रेड खाली गई लेकिन बावजूद उसने जीत का खाता खोल लिया। पल्टन को अपने पहले मैच में दिल्ली के खिलाफ हार मिली थी।

जयपुर पिंक पैंथर्स से हारा हरियाणा स्टीलर्स

हरियाणा स्टीलर्स ने प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन-8 के अपने दूसरे मुकाबले में शानदार प्रदर्शन किया, हालांकि टीम को जयपुर पिंक पैंथर्स के खिलाफ 38-40 से हार का सामना करना पड़ा। कप्तान विकास कंडोला मैच में 14 रेड पॉइंट के साथ हरियाणा स्टीलर्स के बेस्ट खिलाड़ी रहे।

हरियाणा स्टीलर्स ने शानदार शुरुआत की और चौथे मिनट में बेहतरीन टैकल करते हुए 4-2 के स्कोर के साथ दो अंकों की बढ़त बना ली। कप्तान विकास कंडोला ने इसके बाद में एक बेहतरीन रेड लगाते हुए हरियाणा स्टीलर्स को 7-3 से आगे कर दिया और टीम को चार अंकों की बढ़त दिला दी। हरियाणा स्टीलर्स ने अगले ही मिनट में विरोधी टीम को ऑल आउट कर 6 अंक की अपनी बढ़त बना ली।

हरियाणा स्टीलर्स ने फिर 15वें मिनट में भी बेहतरीन सुपर टैकल किया और 17-12 की जोरदार बढ़त बना ली। जयपुर पिंक पैंथर्स ने हालांकि अंतिम कुछ मिनटों में विपक्षी टीम को ऑल आउट कर दिया। लेकिन हरियाणा स्टीलर्स ने पहले हाफ के अंत तक 22-21 से अपनी बढ़त बनाए रखी।

दूसरे हाफ के पहले चार मिनट तक दोनों टीमों के बीच कांटे की टक्कर देखनी को मिली और हरियाणा स्टीलर्स तथा जयपुर पिंक पैंथर्स की टीम 26-26 की बराबरी पर थी। जयपुर पिंक पैंथर्स ने 30वें मिनट में विरोधी टीम को ऑल आउट कर अपनी बढ़त 33-27 की कर ली।

हालांकि हरियाणा स्टीलर्स ने शानदार टैकल और कुछ अच्छे रेड के साथ मैच में वापस आने की भरपूर कोशिश, लेकिन जयपुर पिंक पैंथर्स ने अपनी लीड को कायम रखा। रोहित गुलिया ने मैच के अंतिम कुछ मिनटों में शानदार सुपर रेड की और जयपुर की बढ़त को कम कर दिया। हालांकि, जयपुर पिंक पैंथर्स ने अपनी बढ़त बनाए रखी और मैच को 40-38 से जीत लिया।