दोनों टीमों ने दमदार प्रदर्शन किया।

पुनेरी पल्टन को शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर में शुक्रवार को खेले गए प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 127वें मैच में बंगाल वॉरियर्स के खिलाफ अप्रत्याशित हार का सामना करना पड़ा। यह मैच बंगाल के लिए सम्मान बचाने वाला और पल्टन के लिए आगे ले जाने वाला था लेकिन बंगाल ने अंतिम तीन मिनट में दो सुपर रेड के साथ यह मुकाबला 43-36 से अपने नाम कर लिया।

पहले ही प्लेआफ की दौड़ से बाहर हो चुकी बंगाल को 22 मैचों में नौवीं जीत मिली। मनिंदर सिंह (11 अंक) और सुपर रेड के साथ पासा पलटने वाले रोहित (7 अंक) उसकी जीत के नायक रहे। पल्टन को अपने 21वें मैच से एक अंक मिला।

पल्टन 61 अंक के साथ सातवें स्थान पर हैं। वे प्लेऑफ में पहुंच सकते हैं लेकिन इसके लिए उन्हें अपने अंतिम मैच में जयपुर पिंक पैंथर्स को हराना होगा। पल्टन के लिए मोहित गोयत ने 15 अंक बनाए लेकिन बंगाल के मोहित के खिलाफ अंतिम पलों में डिफेंस के आत्मघाती गलती ने उनकी मेहनत पर पानी फेर दिया।

इसके बाद बंगाल ने भी कुछ अंक हासिल किए लेकिन पल्टन ने जल्द ही विशाल भारद्वाज ने मनिंदर को दूसरी बार आउट कर पल्टन को 17-7 से आगे कर दिया। मोहम्मद नबीबक्श को टैकल करने के बाद मोहित डू ओर डाई रेड पर गए और रण सिंह को आउट करके आए। पल्टन को 11 अंक की लीड मिल चुकी थी।

बंगाल के लिए सुपर टैकल आन था औऱ 20 मिनट का खेल हो चुका था। पल्टन को 10 अंक की बढ़त थी। पल्टन ने रेड में 8 के मुकाबले 10 और डिफेंस में एक के मुकाबले सात अंक लिए। दोनों टीमों को एक-एक अतिरिक्त अंक मिले और पल्टन ने दो अंक ऑलआउट के लिए।

ब्रेक के बाद पल्टन के पास बंगाल को दूसरी बार आलआउट करने का बेहतरीन मौका था लेकिन मनिंदर ने एक सुपर रेड औऱ फिर दो अंक की रेड के साथ न सिर्फ इसे टाला बल्कि इस सीजन का अपना 16वां सुपर-10 पूरा कर स्कोर 23-25 कर दिया।

अब पल्टन के लिए सुपर टैकल आन था। इस बार संकेत सावंत ने उन्हें आउट कर हिसाब बराबर किया। पल्टन ने बंगाल की ही तरह अपने पहले सुपर टैकल को अंजाम देकर स्कोर 29-25 कर दिया। नौवें मिनट में पल्टन ने सुपरस्टार राहुल चौधरी को बुलाया। वह डू ओर डाई रेड पर गए लेकिन शिकार कर लिए गए। 

डेढ़ मिनट बचे थे और मोहित गोयत रेड पर एक अंक लेकर आए। लीड दो की थी। पांच के डिफेंस में मनिंदर अंक नहीं ले सके। फिर असलम रेज पर गए और लपक लिए गए। बंगाल का लीड 3 का हो गया। फिर पल्टन के डिफेंस ने श्रीकांत जाधव के खिलाफ गलती कर दी। जाधव ने सुपर रेड की और फासला 6 का कर दिया। फिर बंगाल ने पल्टन को आलआउट कर 42-34 की लीड लेकर अपनी जीत सुनिश्चित कर ली। मोहित ने हालांकि अंतिम रेड पर दो अंक लेकर फासला 7 का कर दिया। उसे अब इस मैच से एक मिला है।

नवीन के बिना जीती दिल्ली

दबंग दिल्ली केसी ने शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर में शुक्रवार को खेले गए पीकेएल के आठवें सीजन के 128वें मैच में तेलुगू टाइटंस को 40-32 से हरा दिया। दिल्ली की टीम सीजन की 12वीं जीत के साथ अगले चरण में प्रवेश करेगी जबकि टाइटंस 17वीं हार के साथ घर लौटेंगे।

यह अजीब संयोग था कि शुरू होने से पहले ही परिणाम के लिहाज से इस मैच का कोई खास महत्व नहीं था। बंगाल वॉरियर्स के हाथों पुनेरी पल्टन की हार के साथ दिल्ली की टीम सेमीफाइनल में पहुंच गई थी और टाइटंस पहले ही प्लेआफ से बाहर थे। टाइटंस हालांकि अच्छी याद के साथ घर वापसी चाहते थे, जो हो न सका।

व्यक्तिगत प्रदर्शन के लिहाज से यह मैच किसी खिलाड़ी के लिए खास नहीं रहा। दिल्ली के लिए उसके डिफेंस ने सबसे अधिक 15 अंक जुटाए जबकि टाइटंस के लिए डिफेंस में मोहम्मद सुहास ने दो सुपर टैकल के साथ हाई-5 लगाया। अंकित बेनीवाल ने भी 10 अंक जुटाए।

टाइटंस ने शुरुआती 10 मिनट में मजबूत दिल्ली को कड़ी टक्कर दी और छठे मिनट में लीड भी हासिल की लेकिन दिल्ली ने फिर 12वें मिनट में 11-7 की लीड बना ली। 16वें मिनट में टाइटंस के लिए सुपर टैकल आन था। आशू मलिक रेड पर आए और दो अंक लेकर दिल्ली को 15-9 से आगे कर दिया।

ब्रेक के बाद दिल्ली ने लगातार तीन अंकों के साथ अपनी लीड 8 की कर ली। दिल्ली के डिफेंस ने फिर डू ओर डाई रेड पर आदर्श टी. को लपक लीड-10 की कर ली। दिल्ली को डिफेंस में 10वीं सफलता मिली। अगली रेड पर आशू सुपर टैकल हुए लेकिन डिफेंडर के सेल्फ आउट होने के कारण दिल्ली को भी एक अंक मिला।

डू ओर डाई रेड पर दिल्ली ने गल्ला राजू को लपक लिया और अब टाइटंस पर दूसरी बार आलआउट का खतरा था। हालांकि आकाश चौधरी और मोहम्मद सुहास ने मंजीत छिल्लर को सुपर टैकल कर दिया। अब 10 मिनट बचे थे और स्कोर 27-20 से दिल्ली के पक्ष में था।

टाइटंस के लिए अब भी सुपर टैकल आन था। नीरज नरवाल की रेड पर आकाश ने गलती और दिल्ली को दो अंक मिले। फिर दिल्ली ने  33वें मिनट में टाइटंस को दूसरी बार आलआउट कर दिया। पांच मिनट बचे थे और स्कोर दिल्ली के पक्ष में 34-24 था। बेनीवाल ने हालांकि अपनी अगली रेड पर दो अंक लिए।

अंतिम पलों में दोनों टीमों ने कुछ अच्छे अंक बनाए लेकिन अपनी डिफेंस की कमजोरी और विपक्षी टीम के डिफेंस के हल्ला-बोल के कारण टाइटंस स्कोर के अंतर के कम नहीं कर सके और अंतः इस मैच से एक अंक भी नहीं जुटा सके। टाइटंस को इस सीजन में एकमात्र जीत के साथ घर वापसी करनी होगी।