दोनों टीमों ने दमदार प्रदर्शन करते हुए जीत दर्ज की।

हाफ टाइम तक हरियाणा स्टीलर्स 22-8 से आगे चल रहे थे लेकिन गुजरात जाएंट्स ने दूसरे हाफ में शानदार वापसी करते हुए एक समय 34-31 की लीड ले ली लेकिन मैच खत्म होने से डेढ़ मिनट पहले मीतू के सुपर रेड ने प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के मैच का पासा पलट दिया। हरियाणा ने न सिर्फ स्कोर बराबर किया बल्कि 38-36 से हराकर मैच अपने नाम भी कर लिया।

शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड, बेंगलुरू में जारी पीकेएल के आठवें सीजन के 28वें मुकाबले में गुजरात पर मिली इस शानदार जीत ने हरियाणा को एक लिहाज से जीवनदान दिया है। इससे पहले हरियाणा के खाते में चार मैचों में सिर्फ एक जीत थी। गुजरात को पांच मैचों यह दूसरी हार मिली है लेकिन इस टीम ने जिस अंदाज में वापसी की थी, उसकी जितने भी तारीफ की जाए कम है।

इस अहम मुकाबले में दोनों टीमों ने सावधान शुरुआत की थी। छह मिनट बीतने पर स्कोर 3-2 से गुजरात के पक्ष में था। डू ओर डाई पर आए राकेश नरवाल को लपक कर रवि ने अपनी टीम को बराबरी दिलाई। इसके बाद कप्तान विकाश कंडोला ने अपनी डू ओर डाई रेड पर दो अंक लेकर पहली बार हरियाणा को लीड दी। गुजरात ने इसके बाद पलटकर नही देखा और 14 मिनट के भीतर गुजरात को दो बार आलआउट किया। पहली बार गुजरात को आलआउट कर हरियाणा ने 9-5 की लीड ली और फिर दूसरी बार आलआउट कर 18-6 की लीड ले ली। इस दौरान हरियाणा ने सिर्फ एक अंक दिया और वह भी बोनस में गया।

ब्रेक के बाद पीकेएल के इस मैच में एचएस राकेश ने अटैकिंग गैम खेलते हुए हरियाणा के तीन डिफेंडर्स को आउट किया। विकाश डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन वह लपके गए। गुजरात ने स्कोर 14-22 कर लिया था। राकेश को सुपर टैकल कर इस्माइल ने हालांकि आलआउट बचा लिया। अब मीतू हरियाणा के लिए डू ओर डाई रेड पर थे और रवींदर पहले ने उन्हें टैकल कर स्कोर 15-24 कर दिया।

मीतू ने हालांकि दो रेड अंक लेकर स्कोर 30-25 कर दिया। राकेश ने इसके बाद लगातार दो अंक लेते हुए स्कोर 27-30 कर दिया। हरियाणा का डिफेंस इस पीकेएल मुकाबले में बिखर चुका था। कप्तान विकाश भी अंक नहीं ले पा रहे थे। डू ओर डाई रेड पर आए मीतू को लपक कर सुमित ने लीड दो की कर दी। हरियाणा को दूसरी बार आलआउट कर गुजरात ने पहली बार 32-31 की लीड ले ली।

हरियाणा को बैकफुट पर लाकर गुजरात ने 34-31 की लीड ले ली थी। दूसरे हाफ में अब तक गुजरात ने 9 के मुकाबले 24 अंक हासिल किए हैं। मीतू ने टो टच पर एक अंक लिया लेकिन एचएस राकेश ने नाडा को बाहर कर 3 की लीड कायम रखी। अब दो मिनट से भी कम समय बचा था। मीतू ने सुपर रेड के साथ गुजरात की डिफेंस तोड़ी और स्कोर 35-35 कर दिया। साथ ही उन्होंने करियर का दूसरा सुपर-10 पूरा किया।

विकाश अगली रेड पर गए लेकिन समय बर्बाद करके आ गए। राकेश अगली रेड पर थे और उन्हें टैकल कर हरियाणा ने लीड ले ली। इसी बीच विकाश ने अंक लेते हुए 37-35 की लीड ले ली। विकाश ने इसी के साथ अपना सुपर-10 पूरा किया। सुनील ने गुजरात को एक अंक दिलाया। विकाश मैच की अंतिम रेड पर गए लेकिन रविंदर ने गलती की और हरियाणा ने यह मैच जीत लिया।

बेंगलुरु ने पुनेरी पलटन को शिकस्त दी

हाई फ्लायर पवन सेहरावत (11 अंक) पहले हाफ में बिल्कुल नहीं चले और इसी कारण पुनेरी पल्टन ने इस हाफ की समाप्ति तक पांच अंकों की लीड ले रखी थी लेकिन दूसरे हाफ में पवन ने न सिर्फ अपना सुपर-10 पूरा किया बल्कि खेल खत्म होने से पांच मिनट पहले ही बुल्स को जीत की स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया। अंतिम सीटी जब बजी तो बुल्स यह मैच 40-29 से जीतकर पीकेएल की अंक तालिका में पहली बार टाप पर पहुंच चुके थे।

शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड में जारी लीग के आठवें सीजन के 29वें मुकाबले में मिली इस जीत के साथ बुल्स के 23 अंक हो गए हैं। यह छह मैचों में उसकी चौथी जीत है। पवन के अलावा बुल्स के लिए चंद्रन रंजीत ने रेड में 6, सौरव नांगल और अमन ने डिफेंस में चार-चार अंक लिए। दूसरी ओर, पांच मैचों में चौथी हार झेलने वाली पल्टन के लिए मोहित गोयत ने सबसे अधिक छह अंक लिए जबकि डिफेंस में विशाल भारद्वाज ने चार अंक लिए। पल्टन तालिका में सबसे नीचे हैं।

मैच का परिणाम जो रहा, शुरुआत वैसी नही थी। शुरुआती छह मिनट के बाद स्कोर 4-4 की बराबरी पर था। पवन पहली ही रेड पर आउट हुए। इस सीजन में एसा तीसरी बार हुआ। पल्टन का डिफेंस शानदार खेल रहा था जबकि बुल्स का डिफेंस लगातार नाकाम हो रहा था। सात मिनट बाद वह पहली सफलता हासिल कर सका था।

असलम इनामदार लगातार अंक ले रहे थे। बुल्स के लिए सुपर टैकल आन था। सुपर रेड कर चुके चंद्रन अंक लेकर लौटे औऱ पवन को रिवाइव किया। इस बीच असलम लाबी आउट हुए। स्कोर 7-8 था। इसी बीच मोहित गोयत ने एक अंक लिया औऱ फिर डिफेंस ने पवन को डैश कर 10-7 की लीड दे दी। पवन 6 रेड के बाद खाता नहीं खोल सके थे।

सुपर टैकल अब भी आन था। असलम ने अमन औऱ फिर मयूर को आउट कर अपना पांचवां अंक लिया। फिर रंजीत को टैकल कर पल्टन ने बुल्स को आलआउट कर 15-9 की लीड ले ली। बुल्स ने हालांकि इसके बाद तीन लगातार अंक लेकर स्कोर 12-15 कर दिया।

अबोलफजल मक्सोदलू को लपक कर पल्टन के डिफेंस ने पीकेएल मैच के दूसरे हाफ की शानदार शुरुआत की लेकिन असलम को सुपर टैकल कर बुल्स ने दो अंक हासिल किए। स्कोर 16-19 हो गया था। इस बीच भरत भी एक अंक ले गए। साढ़े 12 मिनट से पवन बाहर हैं। शुभम शिल्के को डू ओर डाई पर आउट बुल्स ने पवन को रिवाइव किया। भरत ने फिर डू ओर डाई रेड पर अंक लिया। स्कोर 19-19 हो गया। पिछले पांच मिनट में बुल्स को एक के मुकाबले पांच अंक मिले।

वापसी के बाद पवन सुपर टैकल की स्थित में रेड के लिए गए औऱ विशाल को छकाकर बुल्स को 20-19 से आगे कर दिया। बुल्स ने शानदार वापसी करते हुए पल्टन को आलआउट कर 24-21 की लीड ले ली। पवन ने मुश्किल हालात में अंक लेना शुरू कर दिया था। बुल्स के डिफेंस को भी पंख लगते दिख रहे थे। अब उसे 28-21 की लीड मिल चुकी थी। पवन ने बुल्स को एक अंक दिलाया जबकि असलम पल्टन के लिए अंक लेकर आए। पवन ने अगली रेड पर दो अंक लेकर बुल्स को 32-23 से आगे कर दिया। इस बीच पवन ने इस सीजन का चौथा सुपर-10 पूरा किया और पल्टन को दूसरी बार आलआउट कर टीम को 35-23 की लीड दिला दी। दूसरे हाफ में वह एक बार भी आउट नहीं हुए और नौ अंक ले चुके हैं।

इसी बीच, पवन कादियान ने पवन को आउट किया। फिर विशाल ने भरत को आउट कर स्कोर 25-35 कर दिया। अमन ने हालांकि मोहित को आउट कर पवन को रिवाइव किया। पवन ने आते ही संकेत सावंत को बाहर किया। फिर सौरव नांगल ने कादियान को लपक लिया। अगली रेड पर पवन लपके गए लेकिन उनके जाने से मैच के परिणाम पर कोई फर्क नहीं पड़ा और बुल्स ने अपने डिफेंस की शानदार वापसी की बदौलत बाजी मार ली।