दोनों टीमों ने दमदार प्रदर्शन करते हुए जीत दर्ज की।

ऑलराउंडर मीतू (10 अंक) और कप्तान विकाश कंडोला (9 अंक) के अलावा अपने डिफेंडर्स मोहित एवं सुरेंडर नाडा के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत हरियाणा स्टीलर्स ने शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर जारी प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 38वें मुकाबले में शुक्रवार को मौजूदा चैम्पियन बंगाल वॉरियर्स को 41-37 से हरा दिया।

दोनों टीमों का पीकेएल 8 में यह सातवां मैच था। हरियाणा ने अब तक तीन मुकाबले जीते हैं जबकि तीन में उसे हार मिली है। एक मुकाबला टाई भई रही है। बंगाल को तीन मैचों में जीत और चार मैचों में हार मिली है। बंगाल ने अपने स्टार रेडर मनिंदर सिंह (14 अंक) के सीजन के पांचवें सुपर-10 की बदौलत जीत हासिल करने की पूरी कोशिश की लेकिन अपनी टीम के दो बार ऑल आउट होने के कारण वह सफल नहीं हो सके।

बंगाल ने 13 मिनट के भीतर हरियाणा को ऑल आउट कर 13-7 की लीड ले लेकिन हरियाणा ने बेहतरीन वापसी करते हुए पहले हाफ के अंत तक स्कोर 15-18 कर दिया। साथ ही साथ उसने बंगाल को ऑल आउट की कगार पर भी धकेल दिया। शुरुआती पांच मिनट में रेडरों की भूमिका सीमित रही लेकिन दोनों टीमों के डिफेंडर्स खुलकर खेले। बाद में हालांकि रेडरों ने लय पकड़ी और 8-8 अंक लिए। डिफेंस में बंगाल ने 8 और हरियाणा ने सात अंक लिए।

हरियाणा ने हालांकि 7-13 से पीछे होने के बाद पीकेएल के इस मैच में वापसी की और कप्तान विकाश कंडोला, ऑलराउंडर जयदीप तथा मीतू और अपने हरफनमौला डिफेंडर सुरेंदर नाडा की बदौलत मैच में बने रहे।

ब्रेक के बाद हरियाणा ने बंगाल को ऑल आउट कर 18-18 की बराबरी कर ली। इसके बाद पहली ही रेड पर मनिंदर को लपक कर हरियाणा ने 21-18 लीड ले ली। कप्तान विकाश ने डिफेंडर को सेल्फ आउट को मजबूर कर लीड चार की कर ली। सुकेश डू ओर डाई रेड पर थे। वह लपके गए लेकिन उनके साथ डिफेंडर भी आउट हुआ। बंगाल के डिफेंस ने अगली रेड पर विकाश को भी लपक लिया। स्कोर 20-23 हो गया था। मीतू ने लगातार दो रेड पर अंक लिए।

मीतू ने नबीबक्श को आउट कर बंगाल को पीकेएल के इस मैच में फिर ऑलआउट की ओर धकेला। मनिंदर को अगली रेड पर सिर्फ बोनस मिल सका। मीतू ने अगली रेड पर फिर अंक लिया और स्कोर 28-25 कर दिया। मनिंदर ने फिर बोनस लिया और मीतू ने भी अंक लिया। हरियाणा ने अब बंगाल को दूसरी बार ऑल आउट कर 32-27 की लीड ले ली।

चार मिनट का खेल बचा था और स्कोर 36-32 से हरियाणा के पक्ष में था। मनिंदर टीम को कमबैक करा रहे थे। बोनस लेकर उन्होंने स्कोर 33-36 कर दिया लेकिन मीतू ने टच प्वाइंट पर न सिर्फ अपना सुपर-10 पूरा किया बल्कि लीड फिर चार की कर दी। फिर नाडा ने नबीबक्श के खिलाफ एडवांस टैकल पर गलती कर दी।

अगली रेड पर विकाश ने दो अंक लेकर स्कोर 39-34 कर दिया। बंगाल के लिए सुपर टैकल आन था। मनिंदर बोनस लेने के बाद सुपर रेड के प्रयास में आउट हो गए। स्कोर 40-36 हो गया था। नबीबक्श की अगली रेड पर नाडा ने फिर गलती की और फिर विकाश ने अंतिम रेड पर अंक लेकर अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की।

जयपुर ने पुणे को हराया

हार की हैट्रिक के बाद पहले सीजन की चैम्पियन जयपुर पिंक पैंथर्स ने अपने सातवें मुकाबले में पुनेरी पल्टन को हराकर जीत की पटरी पर वापसी की है। जयपुर की टीम ने पीकेएल के आठवें सीजन के 39वें मुकाबले में शुक्रवार को पल्टन को 31-26 से हराया।

 जयपुर की सात मैचों में यह तीसरी जीत है जबकि पल्टन को इतने ही मैचों में पांचवीं हार मिली है। जयपुर की जीत में इस सीजन के सुपरस्टार बन चुके अर्जुन देसवाल (11 अंक) की अहम भूमिका रही। इनके अलावा संदीप ढुल और साहिल भी चमके। इन दोनों ने चार-चार अंक लिए। पल्टन टीम सुपरस्टार नितिन तोमर की मैट पर वापसी के बावजूद जीत नहीं हासिल कर सकी। तोमर ने हालांकि सिर्फ 4 अंक बटोरे। उसके लिए असलम इनामदार (6 अंक) सबसे सफल रेडर रहे।

शुरुआती 6 मिनट के खेल के बाद जयपुर को 8-2 की लीड मिली हुई थी लेकिन अर्जुन देसवाल के खिलाफ सुपर टैकल को अंजाम देकर पल्टन ने स्कोर 4-8 कर दी। पल्टन ने इसके बाद नितिन तोमर पर मैट पर बुलाया। वह अपने पहले ही रेड पर अंक लेकर गए। नवीन की रेड पर जयपुर को दो अंक मिले। एक डिफेंडर सेल्फ आउट हुआ और एक को नवीन ने आउट किया। स्कोर 10-5 हो गया था। पल्टन ऑल आउट की कगार पर थे। सुपर टैकल भी आन था। देसवाल रेड पर थे और उन्होंने असलम इनामदार को आउट किया।

जल्द ही पल्टन ने स्कोर 17-17 कर लिया। मोहिते को टैकल कर हालांकि जयपुर ने एक अंक की लीड ले ली। निचोड़ यह रहा कि एक समय जयपुर को 10 अंकों की लीड मिली हुई थी लेकिन अब हाफ टाइम तक यह सिर्फ एक अंक की रह गई थी।

पल्टन ने ब्रेक के बाद इसकी बराबरी कर ली और फिर देसवाल को डैश कर लीड भी ले ली। हालांकि जयपुर ने मोहित को आउट कर फिर बराबरी कर ली। दीपक हुड्डा ने अपनी अगली रेड पर पल्टन के ऑलराउंडर असलम को बाहर किया। मोहिते ने डू ओर डाई रेड पर अंक लेकर स्कोर फिर 20-20 कर दिया।

अब देसवाल डू ओर डाई रेड पर थे। उन्होंने अपना नौवां अंक लेते हुए स्कोर 21-20 कर दिया। पल्टन के लिए मोहिते डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन वह लपक लिए गए। देसवाल ने जयपुर के लिए डू ओर डाई रेड पर अंक लेते हुए इस सीजन का अपना लगातार सातवां सुपर-10 पूरा किया। पल्टन के लिए फिर सुपर टैकल आन था। दीपक ने अगली रेड पर रिस्क नहीं लिया लेकिन मोहित की अगली रेड डू ओर डाई थी। उन्हें टैकल कर जयपुर ने अपनी लीड तीन की कर ली। फिर देसवाल ने विशाल भारद्वाज का शिकार किया। अगली रेड पर जयपुर ने टैकल के साथ 30-24 की लीड ले ली, जिसे पार पाना पल्टन के लिए अंत तक सम्भव नहीं हो सका।