दोनों टीमों ने दमदार प्रदर्शन किया।

तीन बार की चैम्पियन पटना प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है। पटना ने पाइरेट्स  शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर में सोमवार को खेले गए लीग के 116वें मैच में तेलुगू टाइटंस को 38-30 से हराकर यह उपलब्धि हासिल की।

पटना ने इस सीजन की 14वीं जीत के साथ अंतिम-4 दौर का टिकट कटाया जबकि टाइटंस को सीजन की 15वीं हार मिली। पटना की जीत के हीरो सचिन तंवर रहे, जिन्होंने कुल 14 अंक जुटाए। इसके अलावा डिफेंस में मोहम्मदरेजा शादलू ने हाई-5 पूरा किया। प्लेआफ की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी टाइटंस के लिए रजनीश ने सुपर-10 लगाया जबकि अंकित बेनीवाल ने सात अंक जुटाए।

बहरहाल, पहला हाफ वैसे तो 21-20 से पटना के हक में रहा लेकिन यह हाफ टाइटंस की वापसी के नाम रहा। पटना ने सातवें मिनट में ही टाइटंस को आलआउट कर 10-3 की लीड बना ली थी लेकिन टाइटंस ने वापसी की राह पकड़ते हुए एक समय स्कोर 7-12 कर दिया था।

सचिन तंवर ने हालांकि दो रेड पर चार अंक लेकर स्कोर 16-8 कर टाइटंस की वापसी पर ब्रेक लगाया लेकिन टाइटंस ने लगातार पांच अंक लेकर स्कोर 12-18 कर दिया। रजनीश लगातार बोनस ले रहे थे और फिर 16वें मिनट में उन्होंने सुपर रेड लेकर न सिर्फ स्कोर 16-18 किया बल्कि अपने 100 रेड अंक भी पूरे किए।

अब पटना ऑलआउट के करीब थे, जिसे अंजाम देकर टाइटंस ने पहली बार इस मैच में लीड हासिल कर ली। सचिन ने हालांकि अगली ही रेड पर स्कोर 20-20 कर दिया। यह हाफ रेडरों ने के नाम रहा। डिफेंस में दोनों टीमों को 3-3 अंक मिले। रेड में पटना ने अपेक्षाकृत बेहतर प्रदर्शन किया।

ब्रेक के बाद सचिन ने इस सीजन का अपना पांचवां सुपर-10 पूरा किया। फिर अंकित बेनीवाल ने गुमान सिंह का शिकार कर स्कोर 22-22 कर दिया। पांच के डिफेंस में सचिन डू ओर डाई रेड पर गए और सुरेंदर को बाहर कर लीड 2 की कर दी। फिर अंकित ने डू ओर डाई रेड पर दो अंक लेकर स्कोर 24-24 कर दिया।

मैच रोमांचक मोड़ पर था। 10 मिनट बचे थे और अब टाइटंस को एक अंक की लीड मिली हुई थी। पटना ने हालांकि गल्ला राजू को लपक स्कोर बराबर कर लिया। रजनीश की रेड के तुरंत बाद शुभम शिंदे ने बेहतरीन परश्यूट के साथ उन्हें ही आउट कर पटना को लीड दिलाई।

पटना ने फिर डू ओर डाई रेड पर आदर्श को आउट कर लीड 2 की कर ली। अब पांच मिनट बचे थे और टाइटंस के लिए सुपर टैकल आन था। सचिन डू ओर डाई रेड पर थे। सी. अरुण ने गलती की और फिर सचिन ने बाकी बचे दो खिलाड़ियों को समेटकर अपनी टीम को 34-28 की लीड दिला दी। आलइन के बाद पटना के डिफेंस ने पहले रजनीश औऱ फिर अंकित को आउट किया। बीते पांच मिनट में पटना को 8 जबकि टाइटंस को 1 अंक मिला। अब टाइटंस का प्रयास हार के अंतर को 7 अंक का रखते हुए एक अंक हासिल करना रह गया था लेकिन वह उसमें भी नाकाम रही और यह मैच आठ अंक के अंतर से हार गई।

दिल्ली की एक और हार

पिछले मैच में गुजरात जाएंट्स के हाथों मिली करीबी हार से उबरते हुए यूपी योद्धा ने जीत की पटरी पर वापसी करते हुए पीकेएल के आठवें सीजन की अंक तालिका में तीसरा स्थान हासिल कर लिया है। यूपी ने शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर में सोमवार को खेले गए 117वें मैच में दबंग दिल्ली को 44-28 के अंतर से हराया।

यूपी को 21 मैचों में नौवीं जीत मिली जबकि दिल्ली को 20 मैचों में छठी हार मिली। यूपी के लिए उसके सबसे बड़े स्टार परदीप नरवाल ने 14 अंक लिए जबकि सुरेंदर गिल ने 6 अंक जुटाए। यूपी के डिफेंस ने भी 12 अंक लिए। हार के बावजूद दिल्ली दूसरे स्थान पर मौजूद हैं लेकिन यूपी ने इस जीत के साथ प्लेऑफ खेलने की अपनी संभावनाओं को काफी मजबूत कर लिया है।

दिल्ली की हार का कारण यह रहा कि नवीन एक्सप्रेस (1) नहीं चले। उनकी गैरमौजूदगी में सब्सीट्यूट मंजीत और विजय मलिक ने अच्छा खेल दिखाते हुए क्रमशः 7 और 8 अंक लिए।

मैच शुरुआत रोचक अंदाज में हुई। दिल्ली का डिफेंस परदीप नहीं चलने दे रहा था और यूपी का डिफेंस बर्थडे ब्वॉय नवीन को रफ्तार नहीं पकड़ने दे रहा था। एक समय 7-7 था। परदीप की अगली रेड हालांकि अहम रही। मंजीत छिल्लर और आशू मलिक को आउट कर उन्होंने स्कोर 9-7 कर दिया।

विजय मलिक ने लगातार दो अंकों के साथ हालांकि स्कोर फिर बराबर कर दिया। जाधव डू ओर डाई रेड पर गए और लपक लिए गए। अब दिल्ली को लीड मिल चुकी थी। फिर यूपी के डिफेंस ने नवीन को दूसरी बार लपक स्कोर बराबर कर दिया।

अब इस हाफ के सबसे बड़े रेड की बारी थी। परदीप बिना टच के लाबी में गए। तीन डिफेंडर उनके पीछे गए। इस पर यूपी को तीन और दिल्ली को एक अंक मिला। स्कोर अब यूपी के पक्ष में 13-11 हो गया था। दिल्ली के लिए सुपर टैकल आन था।

विजय को डू ओर डाई रेड पर लपक यूपी ने लीड 3 की कर ली। फिर यूपी ने दिल्ली को आलआउट कर 18-12 की लीड ले ली।  इसी के साथ पहला हाफ समाप्त हुआ। इस हाफ में दोनों टीमों के डिफेंस को 5-5 अंक मिले लेकिन परदीप ने रेड में यूपी को आगे किया था।

ब्रेक के बाद परदीप ने एक बार फिर मंजीत को छकाया और बैकथ्रस्ट के साथ दो अंक लिए। स्कोर 22-15 हो गया था। नवीन बाहर थे और परदीप लगातार अंक ले रहे थे। अपने सातवें अंक के साथ परदीप ने स्कोर 25-16 कर दिया। दिल्ली के लिए सुपर टैकल आन था।

सब्सीट्यूट के तौर पर आए मंजीत हालांकि लगातार दिल्ली के लिए लगातार अंक ले रहे थे। अगली रेड पर परदीप सेल्फ आउट हुए। स्कोर 18-25 था। नितेश ने हालांकि आशु मलिक को लपक लीड 8 की कर दी। जाधव की अगली रेड पर संदीप सेल्फ आउट हुए और फिर बाकी खिलाड़ियों ने जाधव का शिकार कर सुपर टैकल के 2 अंक दिलाए।

मंजीत ने अगली रेड पर बोनस लिया लेकिन परदीप की अगली रेड पर दिल्ली ने दो अंक गंवा दिए। 10 मिनट बचे था और स्कोर 29-21 से यूपी के पक्ष में था। परदीप ने अगली रेड पर अपने करियर का 67वां सुपर-10 पूरा किया। यूपी ने फिर दिल्ली को दूसरी बार आलआउट कर 33-23 की लीड ले ली।

आलइन के बाद भी यूपी ने दिल्ली को कोई मोहलत नहीं दी और उसे तीसरी बार आलआउट कर फासले को 43-26 करते हुए अपनी जीत सुनिश्चित कर ली। इस जीत से मिले 5 अंकों के साथ उसके 63 अंक हो गए हैं और वह हरियाणा स्टीलर्स को पीछे करते हुए तीसरे स्थान पर पहुंच गई है।