पवन सहरावत लगातार दूसरे सीजन 300 के स्कोर को पार करने में रहे सफल।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन 8 कोरोना की तमाम पाबंदियों और मुश्किलों के बावजूद पूरा हो गया है। बेंगलुरु के शेरेटन ग्रैंड व्हाइटहफील्ड होटल व कन्वेंशन सेंटर में खेले गए फाइनल मुकाबले में दबंग दिल्ली ने प्रो कबड्डी लीग की तीन बार की चैंपियन पटना पाइरेट्स को हराकर खिताब अपने नाम किया। लीग की दो सबसे मजबूत टीमों के बीच हुई कांटे की टक्कर में दिल्ली ने मुकाबला 37-36 से अपने नाम किया।

दिल्ली पहले पांच सीजन में एक बार भी प्लेऑफ मे नहीं पहुंच सकी थी, लेकिन उसके बाद लगातार तीन बार प्लेऑफ्स में पहुंचकर 7वें और 8वें सीजन मे फाइनल में जगह बनाई। पिछली बार उसे बंगाल वारियर्स के हाथों हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार बेहद कांटे की टक्कर में पाइरेट्स को हराकर खिताब अपने नाम किया। प्रो कबड्डी लीग सीजन 8 की आयोजक मशाल स्पोर्ट्स थी। 

सीजन 8 की शुरूआत से ही रेडर और डिफेंडर्स के बीच कांटे की टक्कर दिखी। बीते सीजन में एक से एक बेस्ट रेडर्स, और डिफेंडर्स ने डेब्यू किया। मोहम्मदरेजा और मोहित गोयत जैसे कुछ नाम टॉप पर रहे। आइए जानते हैं पिछले सीजन किन रेडर्स ने सबसे दमदार प्रदर्शन किया:

5. सुरेंदर गिल (यूपी योद्धा) 

पटना पाइरेट्स के खिलाफ हार के बाद यूपी योद्धा का सफर बीते सीजन समाप्त हो गया। यूपी योद्धा के अनुभवी रेडर सुरेंदर गिल ने टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया। गिल ने सीजन 8 में खेले गए 23 मुकाबले में 189 रेड प्वाइंट्स हासिल किए। सुरेंदर गिल बीते सीजन के टॉप डिफेंडर्स की लिस्ट में पांचवे स्थान पर हैं। गिल का रेड स्टाइक रेट 53% और टैकल रेट 39% रहा। 

4. नवीन कुमार (दबंग दिल्ली) 

स्टार रेडर नवीन कुमार प्रो कबड्डी लीग में एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके खाते में लगातार 28 सुपर-10 अर्जित करने का खिताब है। भले ही नवीन कुमार सीजन 8 में टॉप रेडर्स की लिस्ट में चौथे स्थान पर रहे लेकिन इनका शुमार लीग के सबसे बेहतरीन रेडर्स में होता हैं। दिल्ली के इस रेडर ने बीते सीजन कुल 17 मुकाबले खेले और 207 रेड प्वाइंट्स हासिल किए जिसमें उनका रेड स्ट्राइक रेट 61% वहीं टैकल रेट 38% रहा।

3. मनिंदर सिंह (बंगाल वारियर्स) 

बंगाल वारियर्स के सबसे उम्दा और भरोसेमंद रेडर हैं कप्तान मनिंदर सिंह। मनिंदर ने बीते सीजन भी अपना शानदार फॉर्म बरकरार रखा। उनकी टीम प्लेऑफ्स में तो नहीं पहुंच सकी लेकिन वो 22 मैचों में 262 रेड प्वाइंट्स हासिल करने में सफल रहे। उन्होंने सीजन 8 में ग्रीन स्लीव्स भी हासिल किया और टीम को कई मुकाबलों में जीत दिलाई। बंगाल के इस रेडर का रेड स्ट्राइक रेट 65% रहा जबकि टैकल रेट 18% रहा। 

2. अर्जुन देशवाल (जयपुर पिंक पैथंर्स)

अर्जुन देशवाल की शानदार प्रदर्शन के बावजूद जयपुर पिंक पैथंर्स प्लेऑफ्स में जगह बनाने से चूक गई। हालांकि, युवा रेडर अर्जुन देशवाल ने सबको अपने दमदार प्रदर्शन से प्रभावित किया। टीम के कोच ने अर्जुन देशवाल और दीपक हुड्डा में से अर्जुन को टीम का मुख्य रेडर बनाया और वो उनके विश्वास पर खड़े उतरे। अर्जुन ने बीते सीजन खेले गए 22 मुकाबलों में 267 रेड प्वाइंट्स हासिल किए हैं। सीजन 8 में टॉप रेडर्स की लिस्ट में वो दूसरे स्थान पर थे। 

1.  पवन सेहरावत (बेंगलुरु बुल्स) 

प्रो कबड्डी लीग सीजन 8 की शुरुआत धमाकेदार अंदाज में करने वाले बेंगलुरू बुल्स के कप्तान पवन सेहरावत बीते सीजन 300 रेड प्वाइंट्स हासिल करने वाले एकमात्र खिलाड़ी बने। पवन सेहरावत लगातार दूसरे सीजन 300 के आंकड़े को पार करने में सफल रहे। तीसरे सीजन भी वह लीग के टॉप स्कोरर रहे थे। उन्होंने बीते सीजन 24 मुकाबले खेले, जिसमें उन्होंने 304 रेड प्वाइंट्स हासिल किए। 

पवन सेहरावत की टीम को सेमीफाइनल में दबंग दिल्ली के खिलाफ 35-40 से हार झेलनी पड़ी। टीम को उनसे आने वाले सीजन में भी बेहरतीन प्रदर्शन की उम्मीद होगी।