इस मैच में मुख्य मुकाबला थलाइवाज के कप्तान पवन सहरावत और गुजरात के कोच राम मेहर सिंह के बीच होगी।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन की 9 की शुरुआत हो चुकी है। शुरुआत के तीन दिन ट्रिपल हेडर मैच खेले जाएंगे उसके बाद दो-दो, तीन-तीन करके मैचों का शेड्यूल निर्धारित हुआ है। दूसरे दिन पहला मुकाबला पटना पाइरेट्स बनाम पुनेरी पलटन, दूसरा मुकाबला गुजरात जाएंट्स बनाम तमिल थलाइवाज, और तीसरा मुकाबला बंगाल वारियर्स और हरियाणा स्टीलर्स के बीच खेला जाएगा। टूर्नामेंट के पहले 41 मैच (7 से 26 अक्टूबर) बैंगलोर के श्री कंटीरवा इंडोर स्टेडियम में खेले जाएंगे और बाद के बचे हुए मुकाबले पुणे एवं हैदराबाद में होंगे। दूसरे दिन जिस मैच पर सबकी निगाहें होंगी वो है स्टार रेडर और हाई फ्लायर के नाम से मशहूर पवन सहरावत के नेतृत्व वाली तमिल थलाइवाज और कोच राम मेहर सिंह की गुजरात जाएंट्स।

आईए जानते हैं गुजरात जाएंट्स और तमिल तलाईवाज के बीच खेले जाने वाले मुकाबले के बारे में।

मैच प्रीव्यू

पांचवें सीजन में बतौर टीम डेब्यू करने वाली गुजरात जाएंट्स का प्रदर्शन अभी तक अच्छा रहा है। टीम ने अपने पहले ही सीजन में फाइनल में पहुंच कर सबको चौंका दिया था। वो सीजन 5 और सीजन 6 में रनर-अप टीम रही जबकि सीजन 7 और 8 में क्रमश:  आठवें और चौथे स्थान पर रही। फ्रैंचाइजी ने टीम के प्रदर्शन को टाइटल में तब्दील करने के लिए पटना के कोच रहे राम मेहर सिंह को टीम की कोचिंग की जिम्मेदारी सौंपी है।

वहीं तमिल थलाइवाज का प्रदर्शन आशा के अनुरूप नहीं रहा है और टीम लगातार निचले स्थान पर रहने वाली टीमों में शुमार रही है। अपने प्रदर्शन से आहत मैनेजमेंट ने टीम में जान फूंकने के लिए स्टार रेडर पवन सेहरावत के लिए अपना खजाना खोलकर उन्हें पीकेएल इतिहास में अबतक के सबसे महंगे खिलाड़ी के रूप में 2.26 करोड़ रूपए में खरीदा।

थलाइवाज की टीम ने सीजन 5 में गुजरात जाएंट्स के साथ ही डेब्यू किया था लेकिन सीजन 5 और 6 में जोन बी में छठवें स्थान पर रही जबकि सीजन 7 और 8 में क्रमश: 12वें (आखिरी) और 11वें स्थान पर रही।  

स्क्वाड

तमिल थलाइवाज

थलाइवाज की टीम की ताकत और कमजोरी पवन सहरावत के इर्द-गिर्द ही घूम रही है। पवन पीकेएल के न सिर्फ सबसे सफल रेडर हैं बल्कि उनमें टीम को अपने बलबूते पर जिताने की क्षमता है। हालंकि टीम की कमजोरी भी पवन ही हैं। टीम के रेडिंग विंग की जिम्मेदारी उन्हीं के उपर है ऐसे में उनके चोटिल होने की संभावना ज्यादा है। चोट की वजह से और मैट से बाहर होने के दौरान उन्हें सपोर्ट करने के लिए  डिफेंस में सागर राठी के अलावा और कोई बड़ा, अनुभवी, और दमदार खिलाड़ी नहीं है। लगता है टीम पवन को टीम में लेने की धुन में टीम को तैयार करना, बैलेंस बनाना भूल गई है।

वैसे टीम ने ऑक्शन में कुल 18 खिलाड़ियों को खरीदा वहीं सबसे ज्यादा 8 खिलाड़ियों को रिटेन किया था। वहीं डिफेंस और ऑलरांउडर्स में कोई बड़ा नाम नही है। कुल मिलाकर टीम का रेडिंग विग चलेगा तो टीम के जीतने की संभावना ज्यादा है। हालांकि पीकेएल में डेब्यूडंट्स ने अपने प्रदर्शन से अब तक सबको चौंकाया है इसलिए नए खिलाड़ियों को दरकिनार करना, कम आंकना विपक्षी टीम के लिए बड़ी भूल साबित हो सकती है।

फुल स्क्वाड

साहिल, सागर, नरेंदर, मोहित, एम अभिषेक, जतिन, हिमांशु, हिमांशु, आशीष, अजिंक्य पवार, पवन कुमार सहरावत (कप्तान), विश्वनाथ, थानूशन लक्ष्मामोहन, मोहम्मद आरिफ रब्बानी, के अभिमन्यू, अर्पित सरोहा. हिमांशु और अंकित।

संभावित स्टार्टिंग सेवन

पवन सहरावत,  अजिंक्य अशोक पवार, जतिन, सागर, मोहित, अंकित, और विश्वनाथ वी।

स्क्वाड

गुजरात जाएंट्स

जाएंट्स की टीम टूर्नामेंट के आखिरी तक पहुंचने के बावजूद टाइटल नहीं जीत पाई है। टीम दो बार फाइनल में पहुंची लेकिन उसे पटना और बेंगलुरू से हार का समना करना पड़ा। वहीं अन्य दो सीजनों में टीम 8वें और चौथे स्थान पर रही। टीम ने इसी को देखते हुए पटना के साथ रहे वीनिंग कोच राम मेहर सिंह के हाथ में टीम की कमान सौंपी है। टीम के उपर उनका पूरा नियंत्रण है। टीम के रेडिंग का जिम्मा पवन के साथ बतौर डिप्टी खेल चुके चंद्रन रंजीत के कंधों पर होगी। वहीं राकेश कुमार और परदीप बतौर सपोर्ट रेडर खेलेंगे। रेडिंग की तुलना में टीम का डिफेंस ज्यादा मजबूत नजर आ रहा है। टीम के पास बलदेव सिंह, रिंकु नरवाल, और संदीप कंडोला के रूप में तीन मजबूत डिफेंडर्स हैं।

फुल स्क्वाड

राकेश, परतीक दहिया, गौरव छिकारा, रोहन सिंह, सोहित, यंग चैंग को, विनोद कुमार, उज्जवल सिंह, सौरव गुलिया, शंकर, सविन, संदीप कंडोला, रिंकू नरवाल, पूर्णा सिंह, परदीप कुमार, मनुज, महेंद्र गणेश राजपूत, कपिल, डॉन्ग जियोन ली, चंद्रन रंजीत (कप्तान), बलदेव सिंह और अकरम शेख।

संभावित स्टार्टिंग सेवन

चंद्रन रंजीत (कप्तान), बलदेव सिंह, राकेश कुमार, संदीप कंडोला, रिंकू नरवाल, परदीप, अकरम शेख और रोहन सिंह।

इन खिलाड़ियों पर रहेगी निगाहें

तमिल थलाइवाज की बात करें तो सबकी निगाहें हाई फ्लायर पवन सहरावत और राकेश कुमार पर होंगी। पवन भी टीम के विश्वास पर खड़ा उतरने की पूरी कोशिश करेंगे। वहीं गुजरात जाएंट्स को अपने कप्तान चंद्रन रंजीत से काफी उम्मीदे होंगी।

दोनों टीमों के बीच हेड टू हेड आंकड़े

तमिल थलाइवाज और गुजरात जाएंट्स की पीकेएल में अब 6 मैचों में भिड़ंत हुई है जिसमें 4 मैचों में गुजरात ने जीत हासिल की है और 2 मैचों में थलाइवाज को जीत नसीब हुई है। लेकिन गुजरात के लिए इस सीजन तमिल थलाइवाज को हराना आसान नहीं होगा।

सफलता का मंत्र

थलाइवाज को अगर मैच जीतना है तो पवन सहरावत को अपनी जादुई प्रदर्शन को दोहराना होगा वहीं गुजरात की सारी उम्मीदें कोच मेहर सिंह की करिश्माई कोचिंग और स्ट्रैटेजी पर होगी।

फैंटेसी टीम

रेडिंग – पवन सहरावत (तमिल थलाइवाज) और चंद्रन रंजीत (गुजरात जाएंट्स)

डिफेंस – सागर (तमिल थलाइवाज) और रिंकू नरवाल (गुजरात जाएंट्स)

क्या आप जानते हैं ?

गुजरात जाएंट्स के कोच राम मेहर सिंह को पीकेएल का सबसे सफल कोच माना जाता है उनकी ही कोचिंग में पटना चैंपियन टीम बनी थी। वहीं पवन सहरावत अबतक के पीकेएल इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी हैं।

मैच का प्रसारण

तमिल थलाइवाज और गुजरात जाएंट्स के बीच मैच का लाइव प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर किया जाएगा और इसे डिज्नी हॉटस्टार पर रात 8:30 बजे (IST) शुक्रवार, 07 अक्टूबर, 2022 से लाइव देखा जा सकेगा।

For more updates, follow Khel Now Kabaddi on FacebookTwitterInstagram and join our community on Telegram.