इस बार कई दिग्गज खिलाड़ियों के लिए बोली लगने वाली है।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के 8वें सीजन का ऑक्शन 29 से 31 अगस्त तक होगा। दो सालों के बाद लीग की वापसी हो रही है। 500 से ज्यादा प्लेयर्स के लिए सभी टीमें बोली लगाएंगी। ऑक्शन से पहले कई दिग्गज प्लेयरों को रिलीज कर दिया गया है। नौ टीमों ने अपने कप्तानों को ही रिलीज कर दिया है। ऐसे में कई दिग्गज खिलाड़ियों को इस बार ऑक्शन में जाना पड़ेगा।

हम आपको बताते हैं उन टॉप 10 खिलाड़ियों के बारे में जो इस बार ऑक्शन का हिस्सा होंगे:

10. रोहित कुमार

रोहित कुमार ने अपना डेब्यू सीजन 3 में पटना पाइरेट्स के लिए किया था और 109 प्वॉइंट लेकर वो मोस्ट वैल्यूएबल प्लेयर बने थे। पांचवें सीजन में यूपी योद्धा के खिलाफ एक ही मुकाबले में 32 प्वॉइंट लाकर उन्होंने बड़ा कीर्तिमान बनाया था।

सालों से रोहित कुमार ने अपनी लीडरशिप क्वालिटी से सबको काफी प्रभावित किया है। छठे सीजन में अपनी कप्तानी में उन्होंने बेंगलुरू बुल्स को पीकेएल का टाइटल जिताया। हालांकि इस बार उन्हें रिलीज कर दिया गया है और वो ऑक्शन का हिस्सा होंगे।

9. श्रीकांत जाधव

श्रीकांत जाधव ने 2019 के प्रो कबड्डी लीग सीजन में 22 मैचों में 152 प्वॉइंट लिए थे और वो टीम की तरफ से सबसे ज्यादा स्कोर करने वाले रेडर थे। उन्होंने डू और डाई रेड में काफी सफलता हासिल की थी। हालांकि टीम ने उन्हें रिलीज कर दिया है और वो ऑक्शन का हिस्सा होंगे। कई टीमें उन्हें खरीदने की कोशिश करेंगी।

8. रोहित गुलिया

रोहित ने गुजरात के लिए पिछले सीजन दमदार प्रदर्शन किया (क्रेडिट-पीकेएल)

गुजरात फॉर्च्युनजायंट्स के कप्तान रोहित गुलिया ने सातवें सीजन में अपनी टीम की तरफ से सबसे ज्यादा 22 मैचों में 142 प्वॉइंट हासिल किए थे। अपने पीकेएल करियर में वो गुजरात फॉर्च्युनजायंट्स टीम का अहम हिस्सा रहे हैं। हालांकि सीजन 8 की नीलामी से पहले उन्हें रिलीज कर दिया गया है और उनके ऊपर कई टीमों की निगाहें होंगी।

7. बलदेव सिंह

दिग्गज डिफेंडर बलदेव सिंह भी इस बार ऑक्शन पूल का हिस्सा होंगे। सीजन 7 में उन्होंने जबरदस्त प्रदर्शन किया था लेकिन इसके बावजूद बंगाल वॉरियर्स ने उन्हें रिलीज कर दिया है। पिछले सीजन मनिंदर सिंह की अनुपस्थिति में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था और टीम को पहला टाइटल जिताने में अपनी अहम भूमिका निभाई थी।

उन्होंने बंगाल वॉरियर्स के लिए कुल 66 टैकल प्वॉइंट हासिल किए। 8वें सीजन के ऑक्शन में कई टीमें उनके लिए बोली लगाना चाहेंगी।

6. संदीप धुल

संदीप कुमार धुल प्रो कबड्डी लीग में जयपुर पिंक पैंथर्स के सबसे प्रमुख डिफेंडर थे और उन्होंने टीम के लिए शानदार प्रदर्शन भी किया था। हालांकि, टीम ने उन्हें 8वें सीजन के ऑक्शन से पहले रिलीज कर दिया है। संदीप धुल ने 22 मैचों में 73 टैकल प्वॉइंट हासिल किए थे। पीकेएल में कुल मिलाकर उन्होंने दो सीजन में 140 टैकल प्वॉइंट हासिल किए थे। संदीप धुल के इस परफॉर्मेंस को देखते हुए ऑक्शन में उनके लिए महंगी बोली लग सकती है।

5. राहुल चौधरी

राहुल पर सबकी नजरें होंगी (क्रेडिट-पीकेएल)

“शो मैन” के नाम से मशहूर राहुल चौधरी भारतीय कबड्डी का एक जाना-माना नाम हैं। वो लगातार छह सीजन तक तेलुगु टाइटंस का हिस्सा थे और इसके बाद सातवें सीजन में तमिल थलाइवाज का हिस्सा बने। हालांकि उनका परफॉर्मेंस उतना अच्छा नहीं रहा और उन्हें रिलीज कर दिया गया।

राहुल चौधरी काफी अनुभवी खिलाड़ी हैं और किसी भी टीम के लिए काफी शानदार साबित हो सकते हैं। ऐसे में ऑक्शन में उनके ऊपर कई टीमों की निगाहें होंगी।

4. सुरजीत सिंह

प्रो कबड्डी लीग 7 के टॉप परफॉर्मर में से एक सुरजीत सिंह भी इस बार ऑक्शन का हिस्सा होंगे। पुनेरी पलटन के कप्तान ने 21 मैचों में 63 टैकल प्वॉइंट हासिल किए थे। टीम का कोई भी खिलाड़ी 40 से ज्यादा प्वॉइंट हासिल नहीं कर पाया था।

सुरजीत सिंह के पास लीडरशिप स्किल भी है और उनके अनुभव को देखते हुए कई टीमें उनके लिए बोली लगा सकती हैं।

3. दीपक निवास हूडा

जयपुर ने दीपक को रिलीज किया है (क्रेडिट-पीकेएल)

दीपक निवास हूडा तीन सीजन तक जयपुर पिंक पैंथर्स का हिस्सा रहे। उन्होंने टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया और कप्तानी भी की। पीकेएल करियर की शुरूआत उन्होंने तेलुगु टाइटंस से की थी और तीसरे सीजन में पुनेरी पलटन का हिस्सा बने। हालांकि उनका बेस्ट परफॉर्मेंस छठे सीजन में जयपुर पिंक पैंथर्स के लिए आया। उन्होंने 208 प्वॉइंट उस सीजन हासिल किए और सातवें सीजन में भी 158 प्वॉइंट हासिल किए।

हालांकि फ्रेंचाइजी ने उन्हें रिलीज कर दिया है और वो ऑक्शन का हिस्सा होंगे। उनके अनुभव को देखते हुए कई टीमें बिड कर सकती हैं।

2. सिद्धार्थ देसाई

सिद्धार्थ देसाई ने अपने पहले सीजन में तेलुगु टाइटंस के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उन्होंने अपने बेहतरीन परफॉर्मेंस के जरिए कई रिकॉर्ड बनाए थे। प्रो कबड्डी लीग में वो सबसे तेज 50 प्वॉइंट हासिल करने वाले खिलाड़ी बने। उन्होंने केवल चार मैचों में ही ये कारनामा किया। दो सीजन में कुल मिलाकर उन्होंने 441 प्वॉइंट हासिल किए। हालांकि इस बार उन्हें रिलीज कर दिया गया है और उनकी काबिलियत को देखते हुए उनके लिए काफी महंगी बोली लग सकती है।

1. परदीप नरवाल

परदीप नरवाल सीजन 8 के ऑक्शन में सबसे बड़ा चेहरा होंगे। तीसरे सीजन से ही वो जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं। पटना पाइरेट्स को उन्होंने तीन बार पीकेएल का खिताब दिलाया। अपने प्रो कबड्डी लीग करियर में परदीप नरवाल ने कुल मिलाकर 1169 प्वॉइंट हासिल किए हैं। वो टूर्नामेंट में 1000 प्वॉइंट हासिल करने वाले पहले क्रिकेटर हैं। परदीप नरवाल के लिए हर एक टीम बोली लगाना चाहेगी।