दोनों टीमों ने दमदार खेल दिखाते हुए जीत दर्ज की।

पुनरी पल्टन ने अपने आलराउंड प्रदर्शन की बदौलत शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर जारी वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 43वें मुकाबले में रविवार को मौजूदा चैम्पियन बंगाल वॉरियर्स को 39-27 के अंतर से हरा दिया।

 दोनों टीमों का यह आठवां मैच था। बंगाल की यह पांचवीं हार है। पल्टन की यह तीसरी जीत है और अब यह टीम 12 टीमों की अंक तालिका में नौवें वें स्थान पर पहुंच गई है। बंगाल 12 टीमों की तालिका में आठवें स्थान पर ही कायम हैं।

पल्टन के लिए असलम इनामदार ने कुल 17 अंक जुटाए जबकि मनिंदर ने बंगाल के लिए -13 अंक लिए लेकिन बंगाल को अपने डिफेंडर्स के कारण हार को मजबूर होना पड़ा, जो इस मैच में सिर्फ दो अंक ले सकी और वह भी पहले हाफ में आया। पल्टन ने दूसरी ओर 13 टैकल प्वाइंट लेकर अपनी टीम की जीत में योगदान दिया।

पहला हाफ पूरी तरह पुनेरी पल्टन के नाम रहा। उसने दो सुपर टैकल कर ना सिर्फ अपना ऑलआउट टाला बल्कि एक बार बंगाल को आलआउट भी किया। रेड में तो दोनों टीमें लगभग बराबरी पर रहीं लेकिन डिफेंस में बंगाल ने निराश किया। बंगाल के डिफेंडरों ने पहले हाफ में 9 के मुकाबले सिर्फ दो अंक लिए।

मैच की शुरुआत में मनिंदर ने सुपर रेड के साथ बंगाल को 5-2 से आगे कर दिया था। पल्टन ऑल आउट की कगार पर थे। मैट पर सिर्फ विशाल भारद्वाज और नितिन तोमर थे। इन दोनों ने मोहम्मद नबीबक्श को सुपर टैकल कर स्कोर 5-5 कर दिया। फिर पल्टन ने अगली रेड पर मनिंदर को सुपर टैकल कर 7-5 की लीड ले ली।

बंगाल ने हालांकि इसके बाद एक सुपर टैकल कर स्कोर 7-9 कर दिया पल्टन का डिफेंस शानदार खेल रहा था। साथ ही उसके रेडर भी बेहतरीन फार्म में नजर आ रहे थे। यही कारण था कि पल्टन ने अपने जोश और आत्मविश्वास के दम पर बंगाल को ऑल आउट कर 15-8 की लीड ले ली।

ऑल आउट करने के बाद भी पल्टन नहीं रुके। उनकी लीड 19-8 की हो गई थी। असलम लगातार अंक ले रहे थे। जल्द ही बंगाल ने दो अंक लेकर स्कोर 10-20 कर दिया। बंगाल के लिए सुपर टैकल आन था। पहले हाफ के अंत में स्कोर 20-11 से पल्टन के नाम रहा।

ब्रेक के बाद पल्टन ने बंगाल को दूसरी बार आलआउट किया और 25-13 की लीड ले ली। असलम ने दो लगातार अंक लिए जबकि मनिंदर ने मल्टी प्वाइंट रेड के साथ अपने करियर का 39वां सुपर-10 पूरा करते हुए स्कोर 17-27 कर दिया। इसी बीच असलम ने भी अपना पहला सुपर-10 पूरा किया।

पल्टन अपनी लीड नहीं गंवाना चाह रहे थे। वे डू ओर डाई पर खेलना चाह रहे थे। बंगाल की अगली डू ओर डाई रेड पर आकाश पिकलमुंडे ने दो अंक लिए और स्कोर 19-28 कर दिया। अब असलम डू ओर डाई रेड पर थे। वह अंक लेकर गए। 10 मिनट बाकी थे और पल्टन को 11 अंक की लीड मिली हुई थी।

12वें मिनट में बंगाल के दो खिलाड़ी एक साथ रेड पर चले गए। पल्टन को एक टेक्निकल प्वाइंट मिला। हालांकि मनिंदर ने अगली रेड पर एक अंक लेकर स्कोर 20-31 कर दिया लेकिन असलम ने डू ओर डाई रेड पर दो अंक लेकर स्कोर 33-20 कर दिया।

मनिंदर की अगली रेड ने बंगाल को दो अंक दिलाए। पल्टन के लिए सुपर टैकल आन था। नबीबक्श रेड पर थे औऱ नितिन ने सुपर टैकल कर स्कोर 35-22 कर दिया। यह इस मैच में पल्टन का तीसरा सुपर टैकल है। पल्टन ने उसे बचाया और फिर असलम ने अपनी डू ओर डाई रेड पर दो अंक लेकर ऑलआउट टाल दिया।

मनिंदर अहम मुकाम पर लपके गए लेकिन असलम ने डू ओर डाई पर अंक लेकर स्कोर 39-23 कर दिया। इसके बाद बंगाल ने चार अंक और लिए लेकिन वह जीत से काफी दूर रह गए। इस तरह पल्टन ने पीकेएल इतिहास में सातवीं बार बंगाल को हराया।

अपने डिफेंस के छह सुपर टैकल्स के दम पर यूपी योद्धा ने शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर जारी वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 44वें मुकाबले में रविवार को बेंगलुरू बुल्स को 42-27 से हरा दिया। यह इस सीजन में यूपी की आठ मैचों में दूसरी जीत है। बुल्स की यह इतने ही मैचों में दूसरी हार है।

यूपी के लिए उसके सुपरस्टार योद्धा परदीप नरवाल नहीं चले लेकिन उसे इससे कोई फर्क नहीं पड़ा क्योंकि उनकी गैरमौजूदगी में श्रीकांत जाधव (15 अंक) ने रेडिंग की कमान संभाली और रिकॉर्ड 22 अंक लेने वाले डिफेंडरों के साथ मिलकर अपनी टीम को पांच मैचों के बाद जीत की पटरी पर लेकर आए।

दूसरे हाफ की तरह पहला हाफ भी पूरी तरह यूपी के डिफेंस के नाम रहा था। एक समय यूपी की टीम चार अंकों से पिछड़ रही थी लेकिन 11 अंक लेकर डिफेंस ने पहले हाफ की समाप्ति तक 19-14 की लीड दिला दी। यह तीन सुपर टैकल से सम्भव हो सका। पीकेएल के इतिहास में इससे पहले किसी भी टीम ने इतने टैकल प्वाइंट्स नहीं लिए थे।

रेड में यूपी की टीम बेशक बुल्स से पीछे रही लेकिन अपने डिफेंस की बदौलत उसने न सिर्फ दो मौकों पर खुद को ऑलआउट से बचाया बल्कि शुरुआती 20 मिनट बीतते-बीतते बुल्स को ऑल आउट की कगार पर धकेल दिया।

बहरहाल, शुरुआती 9 मिनट का मुकाबला 6-6 की बराबरी पर था। बुल्स हालांकि इसके बाद टॉप गियर पर आए और 11-7 की लीड ले ली। इसके बाद जाधव और सुरेंदर गिल ने पवन सेहरावत को सुपर टैकल कर स्कोर 10-12 कर दिया।

बुल्स के पास एक बार फिर यूपी को ऑल आउट करने का मौका था लेकिन सब्सीट्यूट होकर आए गुरदीप ने पवन के खिलाफ सुपर टैकल कर स्कोर 12-13 कर दिया। गिल अगली रेड पर बोनस लेकर आए लेकिन सुपर टैकल अभी आन था। यूपी ने तीसरे सुपर टैकल को अंजाम देते हुए 15-13 की लीड हासिल कर ली। इस बार यूपी ने रंजीत को लपका। हाफ टाइम तक बुल्स के पाले में सिर्फ मोहित सेहरावत ही बचे थे।

ब्रेक के बाद यूपी ने परदीप को सब्सीट्यूट कर दिया। फिर बुल्स को ऑल आउट कर अपनी लीड 22-14 की कर ली। फिर यूपी के डिफेंस ने पवन को पांचवीं बार आउट किया। फिर श्रीकांत जाधव ने स्कोर 25-14 कर दिया।

बुल्स ने हालांकि इसके बाद रेडिंग में दो और डिफेंस में एक अंक लिया। पवन रिवाइव हो चुके थे। वह चल नहीं रहे थे लेकिन भरत लगातार अंक बटोर रहे थे। बड़ी देर बाद पवन को बोनस पर एक अंक मिला। फिर जीबी मोरे ने जाधव को टैकल कर स्कोर 19-27 कर दिया।

पवन हालांकि अगली रेड पर मैच में छठी बार लपके गए। अब 9 मिनट का खेल बचा था और यूपी को नौ अंकों की लीड मिली हुई थी। पवन नहीं चले तो क्या हुआ, भरत ने सुपर रेड के साथ स्कोर 23-29 किया और पवन को भी रिवाइव कराया। यूपी के लिए सुपर टैकल आन था। इस बार कप्तान नितेश ने भरत को लपक लिया।

पवन ने अपनी अगली रेड पर नितेश को बाहर किया। यूपी के लिए सुपर टैकल आन था। जाधव ने डू ओर डाई रेड पर बोनस लेकर सुपर-10 पूरा किया। यूपी की टीम ने पवन को लपक कर मैच के पांचवें सुपर टैकल को अंजाम दिया और 35-24 की लीड ले ली।

भरत ने इसके बाद अपना पहला सुपर-10 पूरा किया लेकिन यूपी की टीम ने छठे सुपर टैकल के साथ 37-25 की लीड लेकर मैच लगभग अपने नाम कर लिया। इस मैच में अगर यूपी के दिग्गज परदीप नहीं चले तो बुल्स को हाई फ्लायर पवन 17 रेड्स के बाद सिर्फ पांच प्वाइंट्स ले सके।

For more updates, follow Khel Now Kabaddi on FacebookTwitterInstagram and join our community on Telegram.