दर्शकों को लीग के 11वें दिन कई दमदार मुकाबले देखने को मिले।

यू मुम्बा और यूपी योद्धा के बीच शनिवार को खेला गया नए साल का पहला मुकाबला 28-28 की बराबरी पर समाप्त हुआ। यह प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन का पांचवां औऱ इन दोनों टीमों का दूसरा टाई मुकाबला है।

दोनों टीमों का यह पीकेएल 8 में पांचवां मुकाबला था। दो जीत, एक हार और दो टाई के साथ मुम्बई ने 17 अंक अपने खाते में डाले हैं और वह तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंच गई है जबकि यूपी की टीम के खाते में एक जीत, दो हार और को टाई है। यह टीम पीकेएल 8 में पांचवें स्थान पर है।

लम्बे समय बाद यह एक एसा मैच था, जिसमें एक भी सुपर 10 नहीं हुआ लेकिन यूपी के सुमित सांगवान (6 अंक) के तौर पर एक डिफेंडर ने हाई-5 पूरा किया। मुम्बई के लिए वी. अजीत कुमार ने सबसे अधिक 9 रेड अंक लिए। यह मैच यूपी के सुपरस्टार परदीप नरवाल के सब्सीट्यूशन के लिए भी याद रखा जाएगा, जो पांच मैचों में 38 अंक हासिल करने के लिए 25 बार आउट हो चुके हैं।

साल के पहले मुकाबले का पहला हाफ पूरी तरह डिफेंडरों के नाम रहा। 29 अंकों में से 15 अंक डिफेंडरों ने हासिल किए। मुम्बई की ओर से रिंकू और यूपी की ओर से सुमित ने चार-चार अंक हासिल किए। रेडरों में वी. अजीत कुमार ने सुपर रेड के साथ पांच अंक लेते हुए अहम मुकाम पर मुम्बई को आलआउट से बचाया वहीं सुपर स्टार परदीप नरवाल दो बार सुपर टैकल के दौरान आउट हुए।

रिंकू ने साल की पहली रेड पर ही परदीप को लपक लिया। शुरुआती पलों में यूपी ने 6-3 की लीड ले रखी थी लेकिन मुम्बा ने हालांकि सुपर टैकल पर दो अंक लेकर स्कोर 5-6 कर दिया। फिर मुम्बा के डिफेंस ने परदीप के खिलाफ सुपर टैकल कर स्कोर 7-7 कर दिया।

परदीप ने यूपी को 12-11 की लीड दिला दी थी। मुम्बई आलआउट की कगार पर थे लेकिन अजीत ने सुपर रेड के साथ इसे टाल दिया। अब मुम्बई 14-12 से आगे थे। पहले हाफ की समाप्ति तक स्कोर 16-13 से मुम्बई के पक्ष में था। ब्रेक के बाद सुरेंदर ने एक अंक लिया लेकिन फजल की टीम ने अगली रेड पर सुरेंदर को सुपर टैकल कर लीड चार की कर दी। अगली रेड पर अजीत लपके गए और परदीप रिवाइव हुए। यूपी ने पहली बार मुम्बई को आलआउट कर 19-19 की लीड ले ली।

परदीप रिवाइव हुए लेकिन अगले ही पल वह पीकेएल के इस सीजन में पहली बार सब्सीट्यूट कर दिए गए। हालांकि, इस बड़ी खबर के बीच सुरेंदर गिल ने सुपर रेड के साथ यूपी को 24-21 से आगे कर दिया। मुम्बई ने लगातार तीन अंकों के साथ बराबरी की और फिर अजीत के दो अंकों के साथ 26-24 की लीड ले ली। यूपी ने दो अंक लेकर हालांकि स्कोर 26-26 कर दिया। अजीत डू ओर डाई पर थे लेकिन सुरेंदर ने उन्हें लपक लिया। फजल ने डू ओर डाई पर सुरेंदर को लपक कर स्कोर फिर बराबर कर दिया।

अभिषेक ने रनिंग हैंड टच पर राइट कार्नर को बाहर कर मुम्बई को पीकेएल के इस मैच में 1 अंक से आगे कर दिया। अंकित ने फजल को आउट कर स्कोर 28-28 कर दिया। अभिषेक मुम्बई के लिए अंतिम रेड पर थे। वह बोनस ले नहीं सकते थे और खाली हाथ गए। अंकित अब यूपी के लिए अंतिम रेड पर थे। बोनस वह भी नहीं ले सकते थे। वह अंक भी नहीं ले सके और इस तरह यह पीकेएल मुकाबला टाई रहा।

बुल्स ने टाइटंस की जीत का इंतजार बढ़ाया

कप्तान रोहित कुमार ने स्टार रेडर सिद्धार्थ देसाई की गैरमौजूदगी में कबड्डी के मैट पर शतरंज जैसी बिसात बिछाते हुए बेंगलुरू बुल्स के सुपरस्टार पवन सेहरावत को तो रोकने में सफलता हासिल की लेकिन वह अपनी टीम को अंततः जीत नहीं दिला सके। मैच की अंतिम रेड पर खुद रोहित थे और टाइटंस एक अंक की लीड पर थे लेकिन पवन ने उन्हें टैकल कर स्कोर बराबर कर दिया।

पवन रेडिंग में तो सात अंक हासिल कर सके और पूरे मैच में लगभग 24 मिनट मैट से बाहर रहे लेकिन उनका एक टैकल प्वाइंट टाइटंस पर भारी पड़ गया, जो पीकेएल के  आठवें सीजन में अब भी जीत का इंतजार कर रही है। बुल्स ने लगातार तीन जीत के बाद सीजन का अपना पहला टाई खेला है। वह 18 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच गई है जबकि सीजन की दूसरी टाई के साथ टाइटंस 10वें स्थान पर हैं।

मैच के पांचवें मिनट तक टाइटंस को 4-2 की लीड मिली हुई थी। यह अलग बात है कि उसके स्टार रेडर सिद्धार्थ देसाई इस मैच में नहीं थे। पवन डू ओर डाई रेड पर थे। उनके पूर्व कप्तान रोहित कुमार ने उन्हें डैश कर दूसरी बार आउट किया। बुल्स के डिफेंस ने वापसी की और अंकित बेनीवाल को डू ओर डाई रेड पर आउट कर स्कोर 4-4 कर दिया। टाइटंस ने चंद्रन रंजीत को आउट कर स्कोर 5-4 कर दिया। 10 मिनट के बाद स्कोर 6-5 से टाइटंस के पक्ष में था।

बीते पीकेएल मैच के हीरो रहे जीबी मोरे सब्सीटयूट होकर मैट पर थे। मोरे और महेंदर ने कप्तान रोहित कुमार के खिलाफ सुपर टैकल कर दो अंकों की लीड दिला दी। एक सफल रणनीतिकार रोहित पहली बार आउट हुए। इसी स्कोर पर पहला हाफ समाप्त हुआ। हालांकि बुल्स पर अब भी आलआउट का खतरा था। पवन अब भी बाहर हैं। इस हाफ में वह सिर्फ 4 मिनट 41 सेकेंड मैट पर रहे।

बेनीवाल ने एक अंक लिया और फिर मोरे ने रोहित को टो टच पवन को रिवाइव किया। बेनीवाल ने दो अंक लेते हुए स्कोर 15-15 कर दिया। पवन अकेले खिलाड़ी बचे थे लेकिन वह लपके गए। बुल्स आलआउट हुए। टाइटंस 2 अंक की लीड पर थे। इस बीच बुल्स ने दो अंक लेकर 18-18 की बराबरी की।

डू ओर डाई रेड पर संदीप कंडोला लपके गए। पवन अब अंदर थे। रोहित ने पवन के खिलाफ एंकल होल्ड किया लेकिन पवन दो अंक लेकर आंधी की तरह निकल गए। अब बुल्स 22-21 से आगे थे। टाइटंस के डिफेंस ने पवन को चौथी बार रेड में आउट कर स्कोर बराबर कर दिया। इस बीच, डू ओर डाई रेड पर आए बेनीवाल ने अपने करियर का पहला सुपर-10 पूरा किया।

टाइटंस के डिफेंस ने कप्तान की वापसी कराई। बेनीवाल डू ओर डाई रेड पर पकड़े गए। स्कोर 24-24 से बराबर था। पवन ने वापस आते ही बोनस लिया। अब बुल्स लीड पर थे। आदर्श ने हालांकि सुपर रेड के साथ टाइटंस को 2 अंक से आगे कर दियाष पवन फिर बाहर थे। बुल्स आलआउट की कगार पर थे। रंजीत बोनस लेकर गए और फिर बेनीवाल के खिलाफ सुपर टैकल कर 28-27 की लीड ले ली।

बेनीवाल डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन वह लपके हुए। स्कोर 32-34 था। पवन ने बुल्स की आखिरी रेड एक अंक लिया। टाइटंस को एक अंक की लीड थी। रोहित मैच की आखिरी रेड पर थे। पवन लपके और उन्हें टैकल कर पीकेएल के इस मैच का स्कोर 34-34 कर दिया।

थलाईवाज ने दिल्ली को बराबरी पर रोका

टेबल टॉपर दबंग दिल्ली और तमिल थलाइवाज के बीच पीकेएल सीजन 8 के 11वें दिन का तीसरा मुकाबला भी टाई रहा। दोनों टीमों ने शुरू से ही एक-दूसरे का दमदार मुकाबला किया और अंत में मैच 30-30 से बराबरी पर खत्म हुआ।

मुकाबले में हाफ टाइम तक दिल्ली ने दो अंकों की बढ़त बनाई थी लेकिन बाद में थलाइवाज ने वापसी की और अंत में स्कोर बराबर कर दिया। इस मैच में भी नवीन “एक्सप्रेस” पूरी रफ्तार से दौड़ी और कुल 15 पॉइंट अपने नाम किया। पीकेएल सीजन 8 में नवीन कुमार का यह पांचवां सुपर-10 था।

वह लगातार दमदार प्रदर्शन कर रहे हैं और हर टीम के डिफेंडर्स के लिए मुश्किल का सबब बनते जा रहे हैं। दूसरी ओर तमिल थलाइवाज के लिए इस मैच में रेडर्स और डिफेंडर्स दोनों ने शानदार प्रदर्शन किया। मंजीत ने मैच में अपना सुपर-10 पूरा किया जबकि सागर ने छह अंक अर्जित किए।

इस ड्रॉ के बाद पीकेएल प्वॉइंट्स टेबल में टॉप पर मौजूद दबंग दिल्ली के 21 अंक हो गए हैं। तमिल थलाइवाज 14 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर काबिज है।