यूपी योद्धा ने प्रदीप नरवाल और श्रीकांत जाधव के नेतृत्व में एक मजबूत रेडिंग यूनिट का गठन किया है।

प्रो कबड्डी लीग का आंठवा सीजन 22 दिसंबर 2021 से शुरू होने वाला है। सभी 12 टीमों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए अपनी तैयारी जोरों-शोरों से शुरू कर दी हैं। वे इस सीजन टाइटल अपने नाम करना चाहते हैं।

मजबूत रेडिंग पार्टनरशिप किसी भी समय कबड्डी के मैच को पलट सकती है। यही कारण है कि सभी फ्रेंचाइजी ने युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण अपनी टीम में जोड़ा है। उन्होंने दमदार रेडर्स को अपनी टीम में शामिल किया हैं जो आने वाले सीजन में बड़े महत्वपूर्ण साबित होंगे। आइए जानते हैं टॉप पांच रेडिंग जोड़ी के बारे में जो आगामी प्रो कबड्डी लीग सीजन में तहलका मचा सकती हैं।

5. नवीन कुमार और अजय ठाकुर (दबंग दिल्ली)

दबंग दिल्ली के पास नवीन कुमार और अजय ठाकुर के रूप में युवा और अनुभव का एक दिलचस्प मेल है। नवीन ने लगातार 21 सुपर10 और 301 रेड पॉइंट के साथ सीजन 7 में ‘मोस्ट वैल्यूएबल प्लेयर’ का पुरस्कार जीतकर खुद को एक युवा सनसनी के रूप में स्थापित किया है।

इसी बीच, अजय ठाकुर लीग के इतिहास में 800 अंक तक पहुंचने वाले चौथे खिलाड़ी बनने से बस 10 अंक ही दूर हैं। नवीन को टीम में अनुभवी अजय की मौजूदगी से काफी फायदा हो सकता है, क्योंकि अजय मैच के दौरान मेंटर की भूमिका निभा सकते हैं।

4. सिद्धार्थ देसाई और रोहित कुमार (तेलुगु टाइटंस)

तेलुगु टाइटन्स ने प्रो कबड्डी लीग सीजन 8 की नीलामी में अपने “बाहुबली” सिद्धार्थ देसाई को टीम में बरकरार रखने का फैसला किया। उन्होंने पिछले दो सीजन में जबरदस्त रेडिंग क्षमता दिखाई है, जिसमें प्रति गेम 10.11 रेड पॉइंट के औसत से 435 रेड पॉइंट हासिल किए हैं।

रोहित कुमार का आगमन तेलुगु टाइटन्स के रेडिंग आक्रमण को और बढ़ा देगा। रोहित के आत्मविश्वास से भरे नेतृत्व के साथ सिद्धार्थ की शीर्ष-उड़ान दोनों मिलकर टीम के लिए सही संतुलन बना सकते हैं, जो उन्हें सीजन 8 में अधिक ऊंचाइयों तक ले जाने में कारगर साबित हो सकता है।

3. नितिन तोमर और राहुल चौधरी (पुनेरी पलटन)

नितिन तोमर, “शोमैन” राहुल चौधरी के साथ पुनेरी पलटन के लिए रेडिंग यूनिट का नेतृत्व करने के लिए पलटन सेना में शामिल होंगे। वह टीम के लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी रहे हैं, प्रो कबड्डी लीग सीजन 6 के बाद से वो लगातार दबाव की स्थिति में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

राहुल चौधरी के पास 1,000 से अधिक अंक हैं। पिछले सीजन में तमिल थलाइवाज के साथ औसतन प्रदर्शन के बाद उन्हें वापसी करनी होगी। दोनों रेडर कई वर्षों तक नेशनल लेवल पर उत्तर प्रदेश के लिए एक साथ खेले हैं और सीजन 8 में एक घातक जोड़ी बन सकते हैं।

2. पवन सेहरावत और चंद्रन रणजीत (बेंगलुरु बुल्स)

“हाई-फ्लायर” पवन सेहरावत ने प्रो कबड्डी लीग सीजन 6 में बेंगलुरु बुल्स को उनके पहले खिताब तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और सीजन 7 में अपने शानदार फॉर्म को जारी रखा, जिसमें उन्होंने 346 रेड पॉइंट के साथ बेस्ट रेडर का खिताब भी अपने नाम किया।

तमिलनाडु के चंद्रन रंजीत के नाम पिछले दो सीजन में 271 रेड पॉइंट और पांच सुपर 10 हैं। वह प्रो कबड्डी लीग के सातवें सीजन में नवीन कुमार के लिए एक आदर्श साथी थे। रंजीत यह सुनिश्चित करेंगे कि जब भी पवन को बेंच पर भेजा जाए तो वह जल्दी से जल्दी जीवित हो जाए। यह जोड़ी बेंगलुरू बुल्स के लिए चमत्कार कर सकती है क्योंकि वे सीजन 8 में दूसरे खिताब की तलाश में हैं।

1. परदीप नरवाल और श्रीकांत जाधव (यूपी योद्धा)

“रिकॉर्ड-ब्रेकर” प्रदीप नरवाल ने कबड्डी की दुनिया में तूफान ला दिया है, जिससे पटना पाइरेट्स ने उनके 1,100 से अधिक रेड पॉइंट्स की बदौलत लगातार तीन खिताब जीते हैं। इसके बाद यूपी योद्धा ने प्रो कबड्डी सीजन 8 की नीलामी में परदीप पर 1.65 करोड़ रुपये की भारी रकम खर्च की। उन्होंने प्रो कबड्डी लीग के इतिहास में पटना पाइरेट्स के कुल रेड पॉइंट्स का लगभग 42.44% स्कोर किया है। लीग के सबसे कामयाब रेडर परदीप नरवाल को यूपी योद्धा ने अपनी टीम में शामिल करके एक बेहतरीन कदम उठाया है।

श्रीकांत जाधव पिछले सीजन में 148 रेड पॉइंट्स के साथ यूपी योद्धा के सबसे सफल रेडर थे इसलिए टीम ने उन्हें सीजन 8 के लिए अपने रेडिंग विभाग में वापस लाना सुनिश्चित किया। यह देखना दिलचस्प होगा कि यह जोड़ी नोएडा स्थित फ्रैंचाइजी के लिए कैसी साबित होती है।