लीग में कई बेहतरीन रेडर्स का बोलबाला रहा है।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) ने अपने आगाज के बाद से ही काफी लोकप्रियता बटोरी है। इस लीग को अब तक आठ सीजन बीत चुके हैं और पूरी दुनिया में कबड्डी का ये सबसे बेहतरीन और पॉपुलर टूर्नामेंट बनकर उभरा है। इस लीग में देश-विदेश के सारे प्लेयर खेलते हैं और उन्हें वर्ल्ड कबड्डी के सामने अपने टैलेंट और हुनर को दिखाने का मौका मिलता है। पीकेएल में काफी सारे बेहतरीन रेडर्स भी खेलते हैं। कबड्डी जगत में केवल भारतीय रेडर्स का ही बोलबाला है और पीकेएल में भी ऐसा ही देखने को मिलता है।

अभी तक के पीकेएल इतिहास में कई बेहतरीन रेडर्स निकलकर सामने आए हैं। पहले सीजन से ही लेकर अभी तक कई खिलाड़ियों ने रेडिंग में नए आयाम स्थापित किए हैं। हम आपको पीकेएल इतिहास के टॉप-5 रेडर्स के बारे में बताते हैं।

5.राहुल चौधरी – 968 रेड प्वॉइंट

राहुल चौधरी ने पीकेएल इतिहास में अब तक लगातार बेहतरीन प्रदर्शन किया है। “शो मैन” के नाम से मशहूर इस खिलाड़ी ने अपने पहले सीजन में ही दमदार खेल दिखाते हुए 151 रेड प्वॉइंट हासिल कर लिए थे। उसके बाद से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और अपनी शानदार रेडिंग के जरिए दर्शकों को लगातार एंटरटेन किया। राहुल चौधरी ने अभी तक कुल मिलाकर 129 मैचों में 968 रेड प्वॉइंट हासिल किए हैं और सबसे ज्यादा प्वॉइंट लाने के मामले में वो पांचवें पायदान पर हैं। पिछले कुछ सीजन राहुल चौधरी के लिए अच्छे नहीं रहे हैं। अगर वो इस दौरान भी अच्छा प्रदर्शन करते तो निश्चित तौर पर उनके प्वॉइंट और भी ज्यादा होते।

4.दीपक हूडा – 973 रेड प्वॉइंट

भारतीय कबड्डी टीम की कप्तानी कर चुके दीपक हूडा काफी एक्सपीरियंस्ड प्लेयर हैं। इस लिस्ट में जितने भी प्लेयरों के नाम हैं उनमें दीपक हूडा एकमात्र ऑलराउंडर हैं। उन्होंने अभी तक कुल मिलाकर 140 मैचों में 973 रेड प्वॉइंट हासिल किए हैं। एक ऑलराउंडर का रेडिंग में इतना जबरदस्त प्रदर्शन करना दीपक हूडा की काबिलियत को दिखाता है। उन्होंने छठे और सातवें सीजन में सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर का खिताब भी जीता था। पीकेएल के तीसरे, चौथे और पांचवें सीजन में पुनेरी पलटन के वो सबसे सफल रेडर रहे थे।

3.पवन सेहरावत – 986 रेड प्वॉइंट

“हाई फ्लायर” पवन सेहरावत ने पिछले कुछ पीकेएल सीजन में अपने जबरदस्त परफॉर्मेंस से सभी दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया। पिछले दो सीजन से वो लगातार 300 से ज्यादा रेड प्वॉइंट हासिल कर रहे हैं। उन्होंने सातवें सीजन में 346 और आठवें सीजन में 304 रेड प्वॉइंट हासिल किए। पीकेएल के छठे सीजन के फाइनल मुकाबले में सबसे ज्यादा 22 प्वॉइंट हासिल करके उन्होंने अपनी टीम को चैंपियन बना दिया था। ओवरऑल उन्होंने अभी तक 104 मैचों में 986 प्वॉइंट हासिल किए हैं और इस मामले में तीसरे नंबर पर हैं।

2.मनिंदर सिंह – 993 प्वॉइंट

पीकेएल इतिहास में सबसे ज्यादा रेड प्वॉइंट हासिल करने के मामले में बंगाल वॉरियर्स के कप्तान मनिंदर सिंह दूसरे पायदान पर हैं। उन्होंने अभी तक 101 मैचों में 993 प्वॉइंट हासिल किए हैं और अगले सीजन 1000 प्वॉइंट्स का आंकड़ा भी हासिल कर सकते हैं। सातवें सीजन में बंगाल वॉरियर्स को चैंपियन बनाने में उनका अहम योगदान था। मनिंदर सिंह की खास बात ये है कि वो काफी लंबे-चौड़े कद के हैं और इसीलिए उन्हें टैकल करने के लिए एक साथ कई डिफेंडर्स को आना पड़ता है और इससे उनके ज्यादा प्वॉइंट लाने के आसार बढ़ जाते हैं।

1.परदीप नरवाल – 1348 प्वॉइंट

प्रो कबड्डी लीग के इतिहास में सबसे ज्यादा रेड प्वॉइंट्स हासिल करने का रिकॉर्ड “डुबकी किंग” के नाम से मशहूर परदीप नरवाल के नाम दर्ज है। वो पीकेएल में 1000, 1100, 1200 और 1300 रेड प्वॉइंट हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी हैं। उनके अलावा पीकेएल इतिहास में किसी भी रेडर के 1000 रेड प्वॉइंट्स नहीं हैं। उन्होंने अभी तक 131 मैचों में 1348 रेड प्वॉइंट हासिल किए हैं। परदीप नरवाल के लिए पीकेएल का 8वां सीजन उतना अच्छा नहीं गया था। अगर वो बीते सीजन भी रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन करते तो उनके प्वॉइंट्स और भी ज्यादा होते।

For more updates, follow Khel Now on TwitterInstagram and Facebook.