युवा रेडर पिछले सीजन लीग के किसी एक संस्करण में ही 300 प्वॉइंट्स हासिल करने वाले तीसरे खिलाड़ी बने थे।

नवीन कुमार ने दो साल पहले ही अपना प्रो-कबड्डी लीग सफर शुरु किया था, लेकिन अदृभुत प्रदर्शन के दम पर वह काफी तेजी के साथ अपना नाम बना चुके हैं। उन्होंने पूरे सीजन लगातार कड़ी मेहनत की और अपने खेल में लगातार सुधार लाते रहे ताकि उनकी टीम को सफलता मिलती रहे। पिछले सीजन परदीप नरवाल और पवन सहरावत के बाद वह एक सीजन में 300 प्वॉइंट्स हासिल करने वाले तीसरे रेडर बने थे और उन्हें ‘मोस्ट वैल्यूएबल प्लेयर’ चुना गया था।

पिछले सीजन खेले 23 में से 22 मैचों में नवीन कुमार ने सुपर टेन लगाया था, लेकिन उनकी टीम को फाइनल में हार झेलनी पड़ी थी। वह एक सीजन में सबसे ज्यादा और लगातार सबसे ज्यादा सुपर टेन लगाने वाले रेडर बने थे। टीम के सबसे युवा मेंबर रहने वाले नवीन ने हर मैच में प्वॉइंट्स हासिल किए और दिल्ली को पहली बार फाइनल में पहुंचाया, लेकिन हार ने उनका दिल तोड़ा।

प्रो-कबड्डी के इंस्टाग्राम चैट पर नवीन कुमार ने कहा, “जब हम फाइनल हारे तो मैं थोड़ा दुखी था। हम सभी काफी दुखी थे, लेकिन हमारे कोच ने हमसे सिर ऊंचा रखने को कहा। हमने पिछले सीजन लगातार अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन अंत में हमें हार झेलनी पड़ी और इससे हमें केवल यह प्रेरणा मिली कि अगले सीजन ट्रॉफी जीतने के लिए हमें और कड़ी मेहनत करनी होगी। इससे मतलब नहीं है कि कितने साल लगेंगे, लेकिन हम बिना खिताब जीते रुकने वाले नहीं हैं।”

नवीन कुमार के पिछले दो वर्षों का सफर हर युवा के लिए प्रेरणा का काम करता है। इतनी कम उम्र में बड़े स्टेज और अनुभवी खिलाड़ियों के साथ कबड्डी खेलकर नवीन ने अपनी क्षमता और कुशलता दिखाई है।

युवा खिलाड़ियों को कबड्डी में सफलता हासिल करने के लिए नवीन कुमार ने कहा, “जब आप युवा होते हैं तो आप जुनूनी होते हैं, शरीर लचीला होता है, स्टैमिना और स्पीड होती है और इसके बाद आपको कठिन मेहनत करनी होती है। जब आप सीनियर्स के साथ खेलते हैं तो इसमें काफी बदलाव होता है। आपको अपनी स्पीड और वजन ट्रेनिंग पर काफी मेहनत करने की जरूरत होती है और बिना ब्रेक के आपको ट्रेनिंग करनी होती है।”

नवीन ने अपने टैलेंट और एफर्ट के साथ प्रो-कबड्डी लीग में काफी सफलता हासिल की है। स्पीड और स्किल के साथ वह लगातार प्वॉइंट्स हासिल करते हैं और यही कारण है कि केवल दो साल में ही उन्होंने कबड्डी के बड़े नामों में अपनी जगह बना ली है।