दबंग दिल्ली के इस 40 वर्षीय खिलाड़ी के पास काफी अनुभव है।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) की एक लंबे अंतराल के बाद वापसी हो रही है। 8वें सीजन के लिए ऑक्शन पूरा हो चुका है और टीमों ने अपने-अपने पसंदीदा प्लेयर्स के लिए जमकर बोली लगाई। दबंग दिल्ली की टीम ने भी ऑक्शन में कई बेहतरीन प्लेयर्स का चयन किया और इस बार उनकी टीम पहले से ज्यादा मजबूत लग रही है। टीम ने ऑक्शन के दौरान जीवा कुमार, मंजीत छिल्लर और संदीप नरवाल जैसे दिग्गज डिफेंडर्स को अपनी टीम में शामिल किया। ये तीनों ही काफी एक्सपीरियंस्ड डिफेंडर्स हैं।

दबंग दिल्ली के अलावा बाकी टीमों ने अपने-अपने कॉम्बिनेशन के हिसाब से खिलाड़ियों को चुना। कुछ फ्रेंचाइजी को उनके पसंदीदा खिलाड़ी मिले तो किसी को निराशा हाथ लगी। दिल्ली के हेड कोच कृष्ण कुमार हूडा का कहना है कि पिछले सीजन दबंग दिल्ली के डिफेंस में थोड़ी कमजोरियां था और इस ऑक्शन के दौरान उन्होंने ये कमी दूर करने की कोशिश की। यही वजह है कि संदीप नरवाल और जीवा कुमार जैसे बेहतरीन डिफेंडर्स को टीम में शामिल किया गया है। जो रविंदर पहल की कमी पूरा कर सकते हैं।

खेल नाओ से एक्सक्लूसिव बातचीत में उन्होंने कहा, “संदीप नरवाल एक बेहतरीन प्लेयर हैं जो कॉर्नर पर काफी जबरदस्त प्रदर्शन करते हैं। वो इस वक्त काफी फिट भी हैं और हम उनकी फिटनेस पर अभी से काम कर रहे हैं। मुझे पता था कि वो दबंग दिल्ली के लिए काफी अच्छे प्लेयर साबित होंगे और इसी वजह से हमने उन्हें ऑक्शन में खरीदा। रविंदर पहल के गुजरात में जाने के बाद हमने संदीप नरवाल को खरीदने की स्ट्रैटजी बनाई थी जो सफल रही।”

जीवा कुमार पर होंगी सबकी नजरें

दबंग दिल्ली ने इस बार जीवा कुमार को भी 46 लाख की रकम में अपनी टीम में लिया है। उनकी उम्र काफी ज्यादा हो चुकी है लेकिन इसके बावजूद उनका एक्सपीरियंस टीम के काफी काम आ सकता है। कृष्ण कुमार हूडा के मुताबिक जीवा कुमार टीम के लिए तुरुप के इक्के साबित हो सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा, “किसी भी प्लेयर की उम्र नहीं देखनी चाहिए बल्कि उसके परफॉर्मेंस पर ध्यान देना चाहिए। पिछले सीजन उनका प्रदर्शन काफी शानदार रहा था। जीवा कुमार जैसे खिलाड़ी भारत में काफी कम मिलेंगे क्योंकि वो हर पोजिशन पर खेल सकते हैं। जीवा कुमार एक ऐसे प्लेयर हैं जो राइट कवर, लेफ्ट कवर, राइट कॉर्नर और लेफ्ट कॉर्नर हर जगह खेल सकते हैं।”

दबंग दिल्ली के कोच ने ऑक्शन से पहले की अपनी स्ट्रैटजी का भी खुलासा किया और नीलामी के दौरान खरीदे गए प्लेयर्स से वो संतुष्ट नजर आए। उन्होंने बताया कि ऑक्शन में जाने से पहले वो किस तरह की तैयारी करते हैं।

कृष्ण कुमार हूडा ने कहा, “ऑक्शन में जाने से पहले हम अपनी पूरी टीम का एनालिसिस करते हैं। कवर, कॉर्नर, रेडिंग जहां कहीं भी कुछ वीकनेस है उसे नोट करते हैं। इसके अलावा हम अपनी बेंच स्ट्रेंथ को भी देखते हैं। पीकेएल जैसे लंबे टूर्नामेंट में बेंच स्ट्रेंथ काफी जरूरी होता है। कोच और फ्रेंचाइज के बीच डिस्कशन होता है और उसके आधार पर फैसला लिया जाता है।”